इलाज के अभाव में जिला में गरीबों को नहीं रहेगी कोई असुविधा : डीसी जितेन्द्र यादव                            

0
503
Spread the love
Spread the love

फरीदाबाद, 29 मई 2022 : उपायुक्त जितेन्द्र यादव ने कहा कि सरकार स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष को आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मना रही है। आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला में आयुष्मान भारत के तहत गरीबों का इलाज के लिए निशुल्क में किया जा रहा है।

डीसी जितेन्द्र यादव ने कहा कि देश में गरीब परिवारों को इलाज के अभाव में कोई कमी नहीं छोड़ी जा रही है। इसके लिए अंत्योदय योजना के तहत आयुष्मान भारत योजना से गरीब परिवारों का ₹5 लाख तक की धनराशि का सालाना खर्च सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। सरकार देश में 75 वें आजादी के अमृत महोत्सव में अंत्योदय योजना के तहत अंत्योदय व्यक्तित्व लाभ पहुंचाने के लिए प्रयासरत है। आयुष्मान कार्ड, खाद्य सुरक्षा, मातृत्व एवं शिशु पोषाहार की जानकारी के साथ चिकित्सा विशेषज्ञों की सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। सरकार चिकित्सा शिक्षा को भी सस्ता करने का रास्ता निकाल रही है। ताकि गरीब से गरीब व्यक्ति का बच्चा भी डॉक्टर बन सके। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा एक लाख 80 हजार से कम आय वाले प्रत्येक व्यक्ति का आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है, ताकि गरीब वर्ग को मुफ्त चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा सकें। इसलिए जिस व्यक्ति की जिला फरीदाबाद में सालाना आय एक लाख 80 हजार से कम है, वे अपना आयुष्मान कार्ड जरूर बनवाएं।

जिला में सरकार द्वारा गरीबी रेखा से नीचे व्यक्ति की न्यूनतम आय को ₹180000 करने का फैसला किया है। जिसका सर्वे जिला में किया जा रहा है। सर्वे के उपरांत जिला की लगभग 40 प्रतिशत आबादी आयुष्मान भारत के तहत निशुल्क में इलाज करवा पाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गरीब लोगों के लिए आयुष्मान भारत  स्कीम के तहत योजना बनाकर उसे क्रियान्वित किया है।

उपायुक्त जितेन्द्र यादव ने कहा कि डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है। इसलिए अस्पताल में आने वाले प्रत्येक मरीज का अपने परिवार के सदस्य की भांति इलाज करना चाहिए। उन्होंने कहा कि नागरिकों को हेल्थ मेलों का लाभ उठाना चाहिए। सरकारी अस्पतालों में अच्छा व मुफ्त इलाज किया जाता है तथा दवाइयां भी नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाती हैं।

एसएमओ  डॉ राजेश श्योकंद ने बताया कि आयुष्मान भारत के तहत इलाज का लाभ लेने वाले किडनी, हार्ट्स तथा कैंसर के रोगियों का जिनका इलाज हो सकता है।

उन्होंने बताया कि सरकार का यह बेहतर कदम है। गरीब परिवारों को स्वास्थ्य लाभ निशुल्क दिया जा रहा है। आयुष्मान भारत के तहत फरीदाबाद में 187839 परिवारों के हेल्थ कार्ड बनाए गए हैं और यह हेल्थ कार्ड अब तक ₹120000 सालाना आय वाले परिवारों के बनाए गए हैं। इनमें से 9212 लोगों को आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य विभाग जिला में लाभ भी प्रदान किया गया है। जिसे गरीब परिवार के लोग किडनी, हार्ट स्टंट और कैंसर जैसी लाइलाज बीमारियों का इलाज निशुल्क में करवा रहे हैं। गरीब परिवारों को रुपए की कमी से इलाज का के अभाव से नहीं रहने दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सरकार यह वर्ष आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मना रही है। सरकार गरीबों के कल्याण के लिए समर्पित योजनाएं क्रियान्वित कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here