हरियाणा टूरिज्म कर्मचारी संघ ने किया धरना प्रदर्शन

0
442

Faridabad News, 02 Nov 2021: हरियाणा टूरिज्म कर्मचारी संघ संबंधित सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आवाहन् पर घोषित आंदोलन के तहत मैगपाई पर्यटक स्थल फरीदाबाद में जोनल धरना यूनिट प्रधान सुभाष तँवर की अध्यक्षता में दिया गया। धरने का संचालन राज्य कमेटी के प्रैस सचिव ने किया। धरने में कर्मचारियों ने अपनी माँगो को लेकर पर्यटन प्रशाशन व सरकार के उदासीन रवैया के प्रति जोरदार नारे लगाकर गहरी नाराजगी प्रकट की। धरने में मैगपाई, गोल्फ क्लब, बडखल झील, होटल राजहंस, सनबर्ड मोटेल, हेर्मिटेज हटस्, नाहर सिंह महल, बल्लभगढ़ व डबचिक होडल पर्यटन केंद्रों के कर्मचारी व पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया ।धरने में हरियाणा टूरिज्म कर्मचारी संघ के चेयरमैन मित्रपाल राणा, राज्य प्रधान सुरेश कुमार नोहरा, महासचिव सुभाष देशवाल, वरिष्ठ उपप्रधान युद्धवीर खत्री, उपप्रधान दिगंबर डागर, देवेंद्र नंबरदार, ने विशेष रूप से शिरकत की। जिन्होंने अपनी – अपनी बात रखते हुए कहा कि सरकार व टूरिज्म प्रसाशन मिलकर हरियाणा टूरिज्म के बेस कीमती पर्यटन केंद्रों को पी. पी. पी. की नीति के तहत पूंजीपतियों के हवाले करना चाहते हैं,जिसे हरियाणा टूरिज्म का कर्मचारी बिल्कुल भी बरदास्त नहीं करेगा। उन्होंने बताया कि 11 अगस्त 2021 को टूरिज्म प्रशासन ने संघ के प्रतिनिधि मंडल को बुलाकर द्विपक्षीय वार्ता की थी। जिसमें वेतन के सेंट्रलाइजेशन, कैशलेस मेडिकल सुविधा, सभी कैडर के कर्मचारियों की पदोन्नति, सातवें वेतन आयोग के अनुसार मकान किराया भत्ता, पर्यटन केंद्रों का निजी करण ना हो, कर्मचारियों के लंबित पड़े मेडिकल बिल, व रिटायर्ड कर्मचारियों की देनदारियों पर सौहार्दपूर्ण चर्चा की थी। जिसमें ज्यादातर बातों को सही मानते हुए जल्द से जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया था। लेकिन आज तक भी इन माँग व मुद्दों पर पर्यटन प्रशासन की ओर से कोई कार्यवाही करने की बजाय स्टाफ के खाने के पैसे बढ़ाकर आर्थिक हमला बोला है। अपनी बात रखते हुए इन नेताओं ने कहा की टूरिज्म का कर्मचारी अपनी मांगों की लगातार अनदेखी से बहुत आक्रोशित है। लगातार हमें लड़कर के वेतन लेना पड़ता है, जबकि मुख्यालय को हर महीने 1 तारीख को वेतन जारी हो जाता है। निगम में फील्ड के कर्मचारियों के साथ लगातार छलावा हो रहा है, एक हांडी में दो पेट बना रखे हैं।टूरिज्म प्रशासन ने खाने के रेट बढ़ाने के जो तुगलकी फरमान जारी किये हैं इसकी संघ घोर निंदा करता है और मॉंग करता है कि इस बढ़ोतरी को तुरंत वापिस लिया जाये।

इसके साथ – साथ एक उच्च स्तरीय कमेटी बनाई जाये, जिसमें हरियाणा टूरिज्म कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों को शामिल करके स्टाफ के खाने की सुविधाओं का मुआयना करके अपग्रेड किया जाये। इसके अलावा और जितनी भी मांगे हैं उनका समाधान नहीं होने तक कर्मचारी अपना आंदोलन जारी रखेंगे और सर्व कर्मचारी संघ के जो भी आंदोलन होंगे उनमें भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। इसलिए हम सरकार व टूरिज्म प्रशासन से अपील करते हैं कि समय रहते कर्मचारियों की ज्वलंत मांगों का समाधान करवाएं अन्यथा मजबूरी में आंदोलन को और तेज किया जाएगा। जिसके तहत 11 नवंबर 2021 को पंचकुला में आखिरी जोनल धरने में आगामी आंदोलन की रूपरेखा तय की जायेगी। जिसकी जिम्मेवारी भी टूरिज्म प्रशासन की होगी। सर्व कर्मचारी संघ व अखिल भारतीय सरकारी कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष श्री सुभाष लांबा ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा टूरिज्म के आंदोलन का पुरजोर समर्थन करता है। 8 नवम्बर 2021 को सरकार के साथ बातचीत होनी है, उसमें टूरिज्म कर्मचारियों की माँगो को उठाया जायेगा। और अगर समय रहते सरकार ओर पर्यटन प्रशासन ने कर्मचारियों की माँगो का समाधान नहीं किया तो सर्व कर्मचारी संघ इस आंदोलन की गंभीरता को समझते हुए इसमें संघ की भूमिका निश्चित तौर पर सुनिश्चित करेगा। इसके अलावा सीटू के जिला प्रधान वीरेंद्र डंगवाल, किशान सभा के नेता नवल सिंह नर्वत,अशोक चोपड़ा, राज्य कमेटी के नेता लच्छी राम, वीरेंद्र शर्मा,मुरारी लाल, सुभाष बिधूड़ी, मामराज चौहान, यूनिट प्रधान मनोज कुमार, राजेश यादव, महाबीर सिंह, बिजेंद्र सिंह, रतिपाल, सुरेंद्र चाँदना, कल्लुराम, सतबीर सिंह आदि ने भी संबोधित किया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here