एमजी ने भारत के पहले पर्सनल एआई असिस्टेंट और ऑटोनोमस लेवल-2 टेक्नोलॉजी के साथ सेग्मेंट में अपनी तरह की पहली एसयूवी- एस्टर पेश की

0
87

New Delhi News, 18 Aug 2021: एमजी  मोटर इंडिया ने आज इंडस्ट्री की पहले पर्सनल एआई असिस्टेंट और सेग्मेंट में पहली बार ऑटोनोमस लेवल-2 टेक्नोलॉजी को पेश किया जो उसकी आगामी मिड-साइज एसयूवी- एस्टर का मुख्य फीचर होगी। एमजी का लक्ष्य संभावनाओं और सेवाओं के कार-एज-अ-प्लेटफॉर्म (CAAP) कंसेप्ट को विकसित करना और ऑटो-टेक पर फोकस बढ़ाना है।

एमजी ग्राहकों की ‘ऑन-डिमांड इन-कार’ जरूरतों को सपोर्ट करने के लिए सर्विसेस और सब्सक्रिप्शन के विकास और एप्लिकेशन को इनेबल करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) जैसी नई टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा है। एस्टर कंपनी के ग्लोबल पोर्टफोलियो में पहली कार होगी जिसमें पर्सनल एआई असिस्टेंट मिलेगा।

पर्सनल एआई असिस्टेंट को अमेरिकी फर्म ‘स्टार डिज़ाइन’ ने डिज़ाइन किया है। यह इंसानों जैसी भावनाओं और आवाजों को दर्शाता है और विकिपीडिया के माध्यम से हर विषय पर विस्तृत जानकारी दे सकता है। यह कार में बैठे लोगों को एंगेज करेगा और यह आई-स्मार्ट हब से संचालित है। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिस पर CAAP की पार्टनरशिप, सर्विसेस और सब्स्क्रिप्शन मौजूद रहेंगे। यह ग्राहकों को अपनी सेवाओं के सेट को पर्सनलाइज करने की अनुमति देगा।

भारत के पहले पर्सनल एआई असिस्टेंट और सेग्मेंट में पहली ऑटोनॉमस लेवल 2 कार एस्टर को लेकर एमजी मोटर इंडिया के प्रेसिडेंट और एमडी श्री राजीव चाबा ने कहा, “एक ऑटो-टेक ब्रांड के रूप में हमने हमेशा सफल तकनीक पेश की है और अब, हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ आगे बढ़ रहे हैं। एस्टर इसी दिशा में हमारा अगला कदम है और इंडस्ट्री में पहली बार और बेस्ट-इन-क्लास फीचर्स के साथ बदलाव लाने को बढ़ावा देता है जिसे अब तक ग्राहक केवल प्रीमियम/लक्जरी सेग्मेंट में प्राप्त करते हैं। प्रोडक्शन के केंद्र में इनोवेशन और सॉफ्टवेयर को रखने की दिशा में कड़ी मेहनत से हम अपने वाहनों को एआई का लाभ उठाकर स्मार्ट और सेफ ड्राइविंग अनुभव प्रदान करना जारी रखेंगे।”

ऑटोनॉमस लेवल 2 एमजी एस्टर मिड-रेंज रडार और एक मल्टीपर्पज कैमरे से संचालित है जो एडवांस ड्राइवर-असिस्टेड सिस्टम (एडीएएस) की एक रेंज को महसूस कर सकता है। इनमें एडॉप्टिव क्रूज कंट्रोल, फॉरवर्ड कोलिजन वार्निंग, ऑटोमैटिक इमरजेंसी ब्रेकिंग, लेन कीपिंग असिस्ट, लेन डिपार्चर वार्निंग, लेन डिपार्चर प्रिवेंशन, इंटेलिजेंट हेडलैम्प कंट्रोल (IHC), रियर ड्राइव असिस्ट (RDA) और स्पीड असिस्ट सिस्टम शामिल हैं। ये फंक्शन ड्राइविंग सेफ्टी और कंफर्ट में काफी सुधार ला सकते है। इन्हें भारतीय ट्रैफिक की जरूरतों को ध्यान में रखकर अनुकूलित किया गया है।

एस्टर नाम रेथियॉन सेंटिनल से लिया गया है, जो एक हवाई युद्धक्षेत्र और ग्राउंड सर्विलांस एयरक्राफ्ट है, जो पूर्व में रॉयल एयर फोर्स (आरएएफ), यूके द्वारा संचालित था। एमजी एस्टर दुनिया भर में एमजी की ओर से बेचे जाने वाले लोकप्रिय जेडएस प्लेटफॉर्म को यूके, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, मध्य पूर्व, नॉर्वे, नीदरलैंड और एशिया के अन्य देशों में भी शेयर करता है।

हाल ही में एमजी ने भारत में पहली बार अनंत संभावनाओं के साथ CAAP का प्रदर्शन किया है। कई इन-कार सर्विसेस का एक इकोसिस्टम का विकास सब्स्क्रिप्शन और कई सर्विसेस को होस्ट करता है, जिसमें मैपमाईइंडिया के साथ मैपिंग और नेविगेशन, जियो कनेक्टिविटी, कोइनअर्थ की ओर से अपनी तरह का पहला ब्लॉकचैन-प्रोटेक्टेड वाहन डिजिटल पासपोर्ट और बहुत कुछ शामिल है। एमजी कार मालिकों को भी जियोसावन ऐप पर म्युजिक की सुविधा मिलेगी। साथ ही कार में एक हेड यूनिट (पार्क+ द्वारा संचालित – चुनिंदा शहरों में शुरुआत में उपलब्धता) के माध्यम से पार्किंग स्लॉट को आरक्षित करने की इंडस्ट्री-फर्स्ट फीचर भी मिलेगा। CAAP विभिन्न संभावनाएं पैदा करेगा जो समय के साथ विकसित होगी, एक सुरक्षित और स्मार्ट ड्राइविंग अनुभव का निर्माण करेगी।

एमजी एस्टर डिजाइन टीजर

एस्टर को बिल्कुल ही नई बोल्ड सेलेस्टियल ग्रिल मिलती है जो कॉस्मिक लाइनों और रूपों से प्रेरित है। यह कार के फ्रंट को डायनामिक बनाती है। रेडियल पैटर्न सामने से कार की डिजाइन पर केंद्रित है। टंगस्टन स्टील इलेक्ट्रोप्लेटेड कंटेंट सूर्य की तरह एक अलग रूप बनाता है। लाइट और डार्क का कंट्रास्ट आगे प्रत्येक फ्लैशिंग सेल के थ्री-डाइमेंशनल इफेक्ट को सामने लाता है।

ब्रिटिश ऑटोमेकर ने एस्टर के यूनिक ‘डुअल टोन संगरिया रेड’ इंटीरियर को भी पेश किया है, जो तीन आंतरिक विषयों में से एक है, जो अत्याधुनिक क्राफ्टमैनशिप को पेश करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here