कोविड-19 महामारी से प्रभावित लोगों की मदद के लिए 3.50 करोड़ रुपये से अधिक का योगदान देकर, वाघ बकरी टी ग्रुप ने फ्रंटलाइन वारियर्स के साथ “रिश्ते मज़बूत किए”

0
505

New Delhi News, 02 June 2020 : वाघ बकरी ग्रुप अपने देश के फ्रंटलाइन वारियर्स, यानी इस महामारी का आगे बढ़कर सामना कर रहे योद्धाओं को सलाम करता है। कंपनी ने अग्रिम पंक्ति के सभी योद्धाओं के प्रति आभार प्रकट किया है, जो हमें सुरक्षित और स्वस्थ रखने के लिए दिन-रात कड़ी मेहनत कर रहे हैं। वाघ बकरी टी ग्रुप ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री सहायता कोष में 3.50 करोड़ रुपये से अधिक का योगदान दिया है, साथ ही जमीनी स्तर पर लोगों की सहायता में जुटे विभिन्न संस्थानों, आश्रय गृहों, दैनिक वेतन पर काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों और पुलिसकर्मियों को चाय पिलाकर उनकी सेवा कर रहा है।

वाघ बकरी ग्रुप ने पीएम केयर्स फंड में 2 करोड़ रुपये से अधिक का योगदान दिया है। इसके अलावा, समूह के निदेशक मंडल के साथ-साथ कर्मचारियों द्वारा ‘स्वेच्छा से’ अपने एक दिन के वेतन का अनुदान किया गया और इस तरह उन्होंने 13 लाख रुपये का योगदान दिया। समूह की ओर से वर्तमान स्वास्थ्य संकट से लड़ने और उससे उबरने के लिए, महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक, गुजरात के मुख्यमंत्री कोष में 1 करोड़ रुपये से अधिक का योगदान दिया है।

इस अवसर पर, श्री रशेष देसाई, प्रबंध निदेशक, ने कहा, “कोविड-19 के खिलाफ लड़ रहे सभी योद्धाओं के प्रति मैं तहे दिल से आभार प्रकट करता हूँ। मैं अपने सभी कर्मचारियों का भी शुक्र गुज़ार हूँ, जिन्होंने अपनी इच्छा से एक दिन के वेतन का अनुदान दिया और उन सभी ने एकजुट होकर 13 लाख रुपये का योगदान दिया। इस तरह उन्होंने “वाघ बकरी रिश्ते बनाए” के सच्चे अर्थ को इतिहास में सुनहरे अक्षरों से लिख दिया।

वाघ बकरी टी ग्रुप की ओर से अहमदाबाद, जामनगर एवं भुज के छावनी क्षेत्रों में भारतीय सेना द्वारा तैयार किए गए 550 बेड के कोविड अस्पताल को भी सहायता उपलब्ध कराई जा रही है, और इसके लिए समूह ने 30 लाख रुपये के पीपीई मास्क, दस्ताने, डिस्पोजेबल फेस मास्क और पूरे शरीर की सुरक्षा के लिए किट अनुदान स्वरूप उपलब्ध कराए हैं। चूंकि इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ग्रीन टी और आइस टी के सेवन की सलाह दी जाती है, इसलिए यह समूह गुजरात में प्रतिदिन 200 से अधिक ट्रैफिक चौकियों पर काम करने वाले 2,000 से अधिक पुलिसकर्मियों तथा स्वास्थ्यकर्मियों को ग्रीन टी वितरित कर रहा है, ताकि उनकी इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद की जा सके। वाघ बकरी की टीम की ओर से पूरे गुजरात में ग्रीन टी का वितरण किया जा रहा है, और अब तक 50,000 से अधिक चाय के पैक वितरित किए जा चुके हैं।

वाघ बकरी टी ग्रुप के प्रबंध निदेशक, श्री रशेष देसाई ने कहा, “अपने देश में अचानक आई इस महामारी ने मुझे पूरी तरह झकझोर कर रख दिया है। अतीत में देश पर आने वाली आपदा या संकट की परिस्थितियों में, वाघ बकरी टी ग्रुप देश के नागरिकों एवं अपने ग्राहकों के साथ कंधे-से-कंधा मिलाकर चलने में हमेशा से सबसे आगे रहा है। इसलिए, इस मुश्किल दौर में अपने देश की मदद करने के लिए, तथा मानव जीवन और स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए हमने सामाजिक जिम्मेदारियों के प्रति अपने संकल्प को और मज़बूत किया है।”

आर्थिक योगदान के अलावा, समूह ऐसे सभी संस्थानों एवं समूहों का तहे दिल से समर्थन कर रहा है, जो समाज के कमजोर वर्गों की सेवा के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। समूह ने ब्लाइंड पीपुल्स एसोसिएशन (BPA), अहमदाबाद; विश्व उमैया फाउंडेशन, अहमदाबाद; पंजाब नेशनल बैंक (ट्रांस यमुना शाखा, दिल्ली); अक्षय पात्रा (मथुरा, यूपी), मथुरा शाखा; और श्री गुरुनानक स्पोर्ट्स एजुकेशन सोसाइटी, भटिंडा (पंजाब) सहित कई अन्य संस्थानों द्वारा वितरित किए जा रहे हजारों भोजन एवं राशन किट में चाय उपलब्ध कराते हुए अपना योगदान दिया है।

वाघ बकरी टी ग्रुप की ओर से अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) की मदद भी की जा रही है, और इसके लिए अहमदाबाद शहर में लगभग 30 विभिन्न आश्रय घरों में रहने वाले लगभग 3000 लोगों को चाय उपलब्ध कराया जा रहा है।

100 वर्षों की विरासत को संजोने वाले एक जिम्मेदार कॉर्पोरेट नागरिक के तौर पर, वाघ बकरी टी ग्रुप को प्रधानमंत्री के “पारिवारिक विरासत पुरस्कार” (2017) जीतने का गौरव प्राप्त है, तथा संकट की इस घड़ी में वाघ बकरी समूह अपने देश के साथ खड़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here