जे.सी. बोस विश्वविद्यालय एक बार फिर बना राज्य का सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग संस्थान

0
771

Faridabad News, 09 April 2019 : जे.सी. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ-2019) द्वारा जारी रैकिंग में एक बार फिर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई है। विश्वविद्यालय राज्य सरकार द्वारा संचालित ऐसा पहला इंजीरियरिंग संस्थान है, जो देश के शीर्ष 150 इंजीनियरिंग संस्थानों में शामिल हुआ है।

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा जारी की गई एनआईआरएफ-2019 रैंकिंग, जिसकी घोषणा एक दिन पूर्व राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद द्वारा की गई थी, में इस वर्ष चार हजार से ज्यादा शिक्षण संस्थानों ने हिस्सा लिया था। विश्वविद्यालय को इंजीनियरिंग श्रेणी में 144वां रैंक हासिल हुआ है जोकि हरियाणा का एकमात्र राजकीय शिक्षण संस्थान है। रैंकिंग में केन्द्र सरकार द्वारा संचालित एनआईटी, कुरूक्षेत्र तथा निफ्टम, सोनीपत भी शीर्ष 150 शिक्षण संस्थानों में जगह बनाने में सफल रहे। रैंकिंग प्रक्रिया में हरियाणा से 25 शिक्षण संस्थानों ने हिस्सा लिया था। विश्वविद्यालय को विगत तीन वर्षों की अवधि के दौरान दौरान प्रगति रिपोर्ट के स्तरीय मापदंड के आधार रैंकिंग में जगह मिली है।

एनआईआरएफ-2019 रैंकिंग हासिल करने पर प्रसन्नता जताते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने सभी संकाय सदस्यों, अधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई दी है तथा कहा कि विश्वविद्यालय शिक्षा की गुणवत्ता व अनुसंधान को लेकर निरंतर कार्य कर रहा है, जिसके परिणामस्वरूप आगामी वर्षों में विश्वविद्यालय बेहतर परिणाम लाने में सफल होगा।

उल्लेखनीय है कि देश में विभिन्न विश्वविद्यालयों व उच्च शिक्षा के संस्थानों को रैकिंग देने के लिए राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क की शुरूआत की गई है, जिसमें अकादमिक, तकनीकी व अनुसंधान संस्थानों को विभिन्न मानदंडों के आधार पर परखा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here