शहर में कूड़े का उठान न किए जाने पर निगमायुक्त सोनल गोयल ने इकोग्रीन कंपनी के अधिकारियों को लगाई फटकार

0
111

Faridabad News, 10 Oct 2019 : बार-बार हिदायतें देने के बावजूद शहर में कूड़े का उठान न किए जाने पर फरीदाबाद नगर निगम की आयुक्त सोनल गोयल ने इकोग्रीन कंपनी के अधिकारियों को आज जमकर फटकार लगाई। सेक्टर-15 स्थित जिमखाना क्लब में शहर की बिगड़ी हुई सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए निरंतर किए जा रहे कार्यों की एक समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए निग्मायुक्त ने इकोग्रीन कंपनी को साफ कर दिया कि कंपनी की आंतरिक समस्याएं क्या है और इनका किस प्रकार से निराकरण किया जाना है-इनसे नगर निगम का कोई लेना-देना नहीं है। शहरवासी कूड़ा उठान न होने के कारण बुरी तरह से त्रस्त है और कंपनी को अपनी कार्यशैली में सुधार कर प्रतिदिन दो बार खत्तों से कूड़े को उठाना ही होगा। उन्होंने मीटिंग में उपस्थित निगम के सफाई विभाग के अधिकारियों व सुपरवाईजनों की भी जमकर खिंचाई करते हुए कहा कि उनकी उदासीनता व लापरवाही के करण न केवल शहर में सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं हो पा रहा है बल्कि बिगड़ी हुई सफाई व्यवस्था के कारण फरीदाबाद शहर की छवि भी खराब हो रही है।

सोनल गोयल ने इकोग्रीन कंपनी के अधिकारियों की खिंचाई करते हुए कहा कि शहरवासियों को यह फिलिंग ही नहीं आ रही है कि कोई बहुराष्ट्रीय सफाई कंपनी इस शहर में काम कर रही है। उन्होंने अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि इस कंपनी को स्थापित होने के लिए काफी समय देने के बावजूद अपनी कमियों के कारण यह कंपनी शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है। उन्होंने बैठक में उपस्थित सभी संयुक्त आयुक्तों व सफाई विभाग के अधिकारियों को इकोग्रीन कंपनी की कार्यप्रणाली व निगम कर्मचारियों द्वारा की जा रही सफाई व्यवस्था की सप्ताह में एक बार आवश्यक तौर से समीक्षा करने के आदेश दिए। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि इकोग्रीन कंपनी इच्छाशक्ति के अभाव में एग्रीमेंट के समय किए गए वायदों को पूरा करने में बुरी तरह से विफल रही है। उन्होंने कंपनी के अधिकारियों को यह कड़े निर्देश दिए कि वे प्रोफेशनल तरीके से काम करके शहर की सफाई व्यवस्था को तुरंत ठीक करे, अन्यथा निगम प्रशासन को उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने को मजबूर होना पड़ेगा। निग्मायुक्त ने अत्यधिक कड़े अंदाज में यह भी स्पष्ट किया कि सफाई व्यवस्था को कायम करने के लिए बाधा बनने वाले लोगों को वह बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेंगी। उन्होंने बैठक में उपस्थित निगम के सफाई सुपरवाइजरों की कार्यप्रणाली पर गहरा असंतोष प्रकट करते हुए कहा कि उनके द्वारा समुचित सुपरविजन न किए जाने के कारण सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं हो पा रहा है। उन्होंने संयुक्त आयुक्त के स्तर पर दो दिन के अंदर-अंदर निगम क्षेत्र के सभी खत्तों को चिन्हित कर प्रत्येक वार्ड में बेहतर सफाई व्यवस्था कायम करने की कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। निग्मायुक्त इस बैठक के प्रति इतनी अधिक गंभीर दिखाई दी कि उन्होंने प्रत्येक वार्ड के निगम व इको ग्रीन के सफाई सुपरवाईजरों से एक-एक कर उनके कार्यों की समीक्षा की।

बैठक में निग्मायुक्त के इलावा अतिरिक्त आयुक्त विक्रम, संयुक्त आयुक्त प्रशांत अटकाॅन, गगनदीप सिंह, मुख्य अभियंता डी.आर. भास्कर व रमेश मदान, अधीक्षण अभियंता बीरेन्द्र कर्दम, स्वास्थ्य अधिकारी डा. उदयभान शर्मा, कार्यकारी अभियंता दीपक किंगर, श्याम सिंह और निगम के सभी सफाई निरीक्षक, सुपरवाईजर व इको ग्रीन कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रवि त्रिवेद्वी, उपमहाप्रबंधक तरूण खटाना, मैनेजर मनीष अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here