सुस्त बाजार में भी एआई, बैंकिंग, एफएमसीजी, तेल एवं गैस क्षेत्र में नौकरियों की मांग में बढ़ोतरी दर्ज की गई : नौकरी जॉबस्पीक

0
87
Spread the love
Spread the love

भारत, 18 जून 2024: भारत में व्हाइट कॉलर हायरिंग के जाने-माने इंडीकेटर नौकरी जॉबस्पीक इंडेक्स में अप्रैल 2024 की तुलना में मई में 6% की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, इसमें पिछले साल मई की तुलना (सालाना आधार पर) में फ्लैट ग्रोथ देखने को मिली है। मई 2023 की तुलना में 2% की मामूली गिरावट के साथ यह इंडेक्स 2799 पर आ गया है। अधिकांश क्षेत्रों में नौकरियों की संख्या में मिड-सिंगल डिजिट की वृद्धि दर्ज की गई है। हालांकि, आइटी (0% YoY), बीपीओ (-3%) और शिक्षा (-5%) ने इस इंडेक्स पर दबाव बनाया है। तेल व गैस (14%), बैंकिंग (12%) और एफएमसीजी (17%) जैसे प्रमुख क्षेत्रों में मध्यम स्तर की ग्रोथ देखने को मिली है जबकि हेल्थ केयर और ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में नौकरियों की संख्या में 8% तक की मजबूत ग्रोथ देखने को मिली है। छोटे शहरों ने बड़े महानगरों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन करना जारी रखा है। इसके अलावा सीनियर प्रोफेशनल्स की मांग में मजबूती देखने को मिली है जिसके चलते अनुभवी उम्मीदवारों के लिए नौकरियों की संख्या में सालाना आधार पर अच्छी ग्रोथ देखने को मिली है।

हेल्थकेयर

हेल्थकेयर सेक्‍टर में रोजगार दर में सालाना आधार पर 8% की बढ़त देखने को मिली है। इस सेक्टर की नौकरियों में बढ़ेतरी का सबसे ज्यादा श्रेय बैंगलोर और हैदराबाद जैसे मेट्रो शहरों को जाता है। फ्रंटलाइन हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स से लेकर शोधकर्ताओं, प्रशासकों और टेक्नोलॉजी के जानकारों तक, हेल्थकेयर इकोसिस्टम के विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिभा की मांग में बढ़त हुई है।

तेल और गैस

ग्लोबल एनर्जी मार्केट में उतार-चढ़ाव और रेग्युलेटरी स्थितियों में कड़ाई के बावजूद, तेल-गैस तथा बिजली सेक्टर में नौकरियों की संख्या में सालाना आधार पर 14% की बढ़ोतरी हुई है। इस सेक्टर में 13 से 16 वर्ष के अनुभव वाले प्रोफशनलों की मांग में सबसे ज्यादा बढ़त हुई है। हालांकि सभी अनुभव स्तरों की मांग में उछाल आया है। यह ग्रोथ बुनियादी ढांचे के विकास, रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट्स और एक्‍स्‍प्‍लोरेशन गतिविधियों में चल रहे निवेश से प्रेरित है।

एफएमसीजी

एफएमसीजी सेक्टर में रोजगार दर में सालाना आधार पर 17% की ग्रोथ देखने को मिली है। उपभोक्ताओं की वरीयताओं में बदलाव, शहरीकरण और ई-कॉमर्स विस्तार जैसे कारकों के चलते मजबूती और ग्रोथ जारी है। इस सेक्टर में रोजगार दर में मुंबई और कोलकाता में क्रमशः 38% और 25% की बढ़त हुई है। इनोवेशन, वितरण दक्षता और बाजार में पहुंच पर ध्यान केंद्रित करते हुए, एफएमसीजी कंपनियां बिक्री, मार्केटिंग, आपूर्ति श्रृंखला और उत्पाद विकास जैसे कार्यों में सक्रिय रूप से प्रतिभाओं को नियुक्त कर रही हैं।

एआइ-एमएल में जुड़ी नौकरियों में निरंतर वृद्धि जारी

एआइ-एमएल (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग) टैलेंट की मांग में निरंतर ग्रोथ देखने को मिल रही है। एआइ-एमएल में नौकरियों की दर में साल-दर-साल 37 फीसदी की मजबूत बढ़त हुई है। ये परिचालन दक्षता, इनोवेशन डिलिवरी और प्रतिस्पर्धात्मकता को बढ़ावा देने के लिए एआइ तकनीक में विशेषज्ञता और प्रतिभा के विकास की ओर इंडस्ट्री के फोकस के मुताबिक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here