बल्लभगढ़ बनेगा मॉडल शिक्षा का हब : कैबिनेट मंत्री मूलचन्द शर्मा

0
500
Spread the love
Spread the love

बल्लभगढ़, 16 अप्रैल 2022। हरियाणा के परिवहन, खनन एवं कौशल विकास विभाग के कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते बताया कि कहा कि हरियाणा सरकार प्रदेश में बच्चों को निजी स्कूलों की तर्ज पर बनाए जा रहे सरकारी स्कूलों में बेहतरीन शिक्षा उपलब्ध करवा रही है। इसी कड़ी में बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र में भी सरकारी मॉडल स्कूलों का हब बनने जा रहा है। उन्होंने कहा कि जब तक देश का भविष्य बेटा और बेटियां नही पढेंगे तब तक देश तरक्की नही कर सकता। इसलिए उनका ध्यान जनता को मूलभूत सुविधाओं के साथ साथ शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने पर रहता है। बल्लभगढ़ के बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाना मेरा परम् कर्तव्य भी है।

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि बल्लभगढ़ में सरकारी स्कूलों की कायाकल्प को लेकर ऐतिहासिक विकास कार्य चले हुए हैं। यहाँ के सरकारी स्कूलों की आधुनिक तकनीकी इमारत प्राइवेट स्कूलों की इमारतों को भी पीछे छोड़ रही हैं। वही सरकारी स्कूलों में अध्यापकों ने बेहतर परिणाम देकर बच्चों के भविष्य को उज्जवल किया है।

प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा के शिक्षा के क्षेत्र में किए गए प्रयासों से बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के अधिकतर स्कूलों की कायाकल्प हो चुकी है। प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करीब 17 करोड़ रुपये की धनराशि की लागत से चार स्कूलों की नई इमारत बनाने को हरी झंडी देते हुए बजट मंजूर किया है।

प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सेक्टर -22 में करीब 64 नए कमरों के लिए 768 लाख रुपए मंजूर किए हैं। इसके अलावा गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल ऊंचा गांव की नई बिल्डिंग 60 कमरे करीब 720 लाख रुपये की धनराशि की लागत से बनकर तैयार होंगे । जबकि गवर्नमेंट प्राइमरी स्कूल सेक्टर- 23 में 10 नए कमरे 120 लाख रुपए की धनराशि की लागत से बनाए जाएंगे। वही गवर्नमेंट प्राइमरी स्कूल रन्हेरा खेड़ा में भी 67 लाख की लागत से नए कमरों का भव्य निर्माण करवाया जाएगा। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया कि बल्लभगढ़ की तिरखा कॉलोनी और जनता कॉलोनी के लिए नए स्कूलों के निर्माण के लिए सरकार के पास प्रस्ताव भेज दिया है। जिनकी मंजूरी भी जल्द मिल जाएगी। परिवहन मंत्री पंडित मूलचंद शर्मा ने आगे बताया कि बल्लभगढ़ के तिगांव रोड नजदीक राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के लिए 802 लाख रुपए की लागत से नई आधुनिक तकनीक की इमारत का विकास कार्य तेज गति से चला हुआ है। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि बल्लभगढ़ के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है। जब यहां सरकारी स्कूलों के भव्य भवनों का निर्माण हो रहा है।

उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का धन्यवाद जताया और कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की कृपा से ही आज बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सरकारी मॉडल स्कूलों का हब बनने जा रहा है। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी सरकार बल्लभगढ़ ने अंग्रेजों के समय के राजकीय बॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल (अंबेडकर चौक) का आधुनिक इमारत का भव्य निर्माण करवा चुकी है। यही नहीं बल्लभगढ़ के अग्रसेन चौक स्थित सब्जी मंडी के प्राइमरी स्कूल के अलावा सेक्टर- 62 स्कूल की इमारत, स्लम एरिया की ऑटो पिन व राजीव कॉलोनी में भी स्कूलों की नई इमारतें बन चुकी है। जिनमें आज बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे है। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र ही नहीं बल्कि आसपास के इलाके के लोग भी अपने बच्चों को बल्लभगढ़ में पहली से लेकर उच्चतर शिक्षा सरकारी संस्थानों से करवा सकेंगे। उनका कहना है कि बल्लभगढ़ में सुषमा स्वराज गर्ल्स महाविद्यालय भी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की देन है। सेक्टर -2 में महिला कॉलेज की नई इमारत का विकास कार्य भी अंतिम चरण में है जो कि 15 मई तक पूरा हो जाएगा। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र में शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए वे हमेशा प्रयासरत रहे हैं और केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयासों से ही यह सब सफल हो पाया है। परिवहन मंत्री श्री शर्मा ने बताया कि आने वाले समय में बल्लभगढ़ का वीटा प्लांट हटने के बाद यहाँ एक लड़का लड़कियों का कॉमन स्कूल, एक इंडोर स्टेडियम के साथ साथ शहर की लाखों की संख्या में आबादी को देखते हुए एक अस्पताल का निर्माण करवाने की मांग प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल के समक्ष रखेगे। उन्हें उम्मीद है आने वाले समय में बल्लभगढ़ के बच्चे सरकारी स्कूलों से शिक्षा पाकर बल्लभगढ़ का नाम देश दुनिया मे ऊंचा करेंगे। उन्होंने कहा कि आज सरकारी बेहतर शिक्षा के बल पर बच्चे पढ़ कर योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरियों और बड़ी बड़ी निजी कंपनियों में नौकरी पा रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here