प्रदेश में बेहतर खेल नीति की बदौलत से ही ओलंपिक खेलों में हरियाणा के खिलाड़ी ला रहे हैं पदक : कृष्ण पाल गुर्जर

0
120

Faridabad News, 27 Aug 2021 : भारत सरकार के केंद्रीय भारी उद्योग एवं ऊर्जा विभाग के राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि खेल को हमेशा खेल की भावना से खेलना चाहिए। खेल में हार जीत होती है, परंतु हारने के वाले खिलाड़ी को जीतने वाले खिलाड़ी से प्रेरणा लेनी चाहिए और वह प्रेरणा लेकर आगामी खेलों में उससे बेहतर प्रदर्शन करके अवश्य जीतेगा।

  केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने यह बात आज शुक्रवार को स्थानीय खेल परिसर सेक्टर- 12 में खेलो इंडिया के तहत राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता के शुभारंभ अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कही। केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि सफलता के लिए दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत जरूरी होती है। दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत से ही सफलता मिलती है। चाहे वह खिलाड़ी हो, चाहे बड़ा नेता हो या अन्य किसी भी क्षेत्र में कार्य करने वाला युवा हो उसे दृढ संकल्प के साथ मेहनत करनी होगी।

केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने सबसे पहले राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता में प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए हुए खिलाड़ियों का जिला फरीदाबाद वासियों की तरफ से तहेदिल से स्वागत कर उन्हें बधाई दी।

उन्होंने खिलाड़ियों का स्वागत करते हुए कहा कि देश में हरियाणा को सैनिक और खिलाड़ियों की भूमि कहा जाता है। भारतीय सेना में हर दसवां सैनिक हरियाणा हरियाणा का है और इसी प्रकार खेलों में भी ओलंपिक खेलों में गोल्ड मेडलष सिल्वर मेडल, ब्रोंज मेडल जीत कर लाने वाले खिलाड़ी हरियाणा के ही होते हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में हुए ओलंपिक खेलों में देश का पहला गोल्ड मेडल हरियाणा के खिलाड़ी नीरज चोपड़ा द्वारा प्राप्त किया गया है। वह इसका जीता जागता उदाहरण है। इसके अलावा रेसलिंग के रवि दहिया, पुनिया और हॉकी के खिलाड़ियों को सहित अनेक ऐसे खिलाड़ी हैं जो कि हरियाणा से संबंध रखते है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सैनिक और खिलाड़ियों पर हमें नाज है। केन्द्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि भारत का भविष्य मेरे सामने उपस्थित प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों में से बैठे हैं। मैं उन्हें बधाई देता हूं कि वह अपना बेहतर प्रदर्शन करके में देश, प्रदेश,जिला, गांव और परिवार रोशन का नाम रोशन करेंगे। केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में सरकार द्वारा ओलंपिक खिलाड़ियों में गोल्ड मेडल विजेता को ₹6 करोड़ रूपये की धनराशि, सिल्वर मेडल विजेता को ₹4 करोड़ रूपये की धनराशि और ब्रॉन्ज मेडल विजेता को ढाई करोड रुपए की धनराशि दी जाती है। इसके अलावा प्रतिभागी खिलाड़ियों को 50 लाख रुपए की धनराशि दी जा रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की खेल नीति भारत के सभी प्रांतों की खेल नीति से श्रेष्ठ नीति है और जिनकी बदौलत से हरियाणा के खिलाड़ी देश के अन्य प्रांतों के खिलाड़ियों से ओलंपिक खेलों में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। हरियाणा सरकार खिलाड़ियों को ए क्लास, बी क्लास नौकरी भी दे रही है। इसके अलावा जिला व प्रदेश स्तर पर खिलाड़ियों को दी जाने वाली खुराक भत्ता व प्रोत्साहन राशि में भी वृद्धि की गई है।

केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने ध्वजारोहण कर खेलो इंडिया के राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता का शुभारंभ करने की घोषणा की। घोषणा के उपरांत उन्होंने खिलाड़ियों तथा ऑफिशियल व दर्शकों को शपथ भी दिलवाई। इसके उपरांत 800 मीटर रेस का आयोजन किया गया। इस रेश में हिसार के खिलाड़ी सोमनाथ ने प्रथम स्थान, रोहतक के सरजीत बल्हारा ने द्वितीय स्थान और भिवानी के अनुज ने तृतीय स्थान और भिवानी के ही वीरेंद्र ने चतुर्थ स्थान प्राप्त किया। केंद्रीय राज्य मंत्री गुर्जर ने खिलाड़ियों को मेडल तथा नगद राशि देकर भी पुरस्कृत किया।

उपायुक्त जितेंद्र यादव ने खेलो इंडिया के तहत राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों व मुख्य मेहमानों का स्वागत कर आभार व्यक्त किया। उन्होंने आश्वासन दिया कि जिला में तीन दिवसीय राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के लिए प्रशासन द्वारा इनके रहन-सहन व खानपान में कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। खिलाड़ियों को हर सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

खेल विभाग के उपनिदेशक गजराज सिंह ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार की बेहतर खेल नीति की बदौलत से ही हरियाणा के खिलाड़ी देश में ही नहीं विश्व में हरियाणा की अलग पहचान बनाए हुए है। जिला व राज्य स्तरीय खेलों में भी सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि बढ़ाई गई है। इसमें ₹5000 रुपये प्रथम को, ₹3000 रुपये द्वितीय को और ₹2000 रुपये तृतीय स्थान पाने वाले विजेता खिलाड़ी को देती है। इसके अलावा ट्रेकसूट भत्ता ₹400 से बढ़ाकर ₹1000 रुपये कर दिया गया है। प्रतिदिन का भत्ता ढाई सौ रूपये से बढ़ाकर ₹400 रुपये कर दी गई है। इसके अलावा सरकार द्वारा खिलाड़ियों को नौकरियां भी की जा रही है।

इस अवसर पर विधायक सीमा त्रिखा, विधायक राजेश नागर, अतिरिक्त सतवीर मान, एसडीएम बल्लभगढ़ अपराजिता, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया,एमसीएफ के ज्वाइंट कमिश्नर अनिल यादव, जिला खेल अधिकारी रमेश वर्मा सहित अन्य खेल प्रेमी व खिलाड़ी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here