चंडीगढ़: शहर में नहीं दिखेंगी जगह -जगह रेहड़ी पटरियां, अलग से तलाशी जा रही जगह

0
1304

Chandigarh News : शहर में अब आपको रेहड़ी नहीं दिखाई देंगी। देश के सबसे बेहतरीन शहरों की सूची में सुमार चंडीगढ़ में अब नो वेंडिग जोन तैयार किए जा रहे हैं। शहर के सबसे कमर्शियल सेक्टर-17 को भी इस कड़ी में जोड़ा गया है।

नो वेडिंग जोन के तहत सेक्टर-19 और सेक्टर-22 में भी वेंडरों के लिए जगह तलाशी जा रही है। इससे पहले यह दोनों सेक्टर नो वेंडिंग जोन तय किए गए थे। दोनों ही सेक्टर भीड़भाड़ वाले हैं और शहर के कोने-कोने से लोग यहां आते हैं। इसी तरह सेक्टर एक से सेक्टर छह को भी नो वेंडिंग जोन घोषित कर दिया गया है। प्रशासन ने वेंडरों को अपना कारोबार करने के लिए जगह की तलाश करने के निर्देश दे दिए हैं। इस मामले में प्रशासन अब सख्त हो गया है और ऑफिसरों को जल्दी ही इस मामले में रिपोर्ट जमा करने की बात कही है।

इन सेक्टरों में होंगे करोड़ों खर्च
सारे शहर में अलग अलग जगह पर वेंडरों के लिए कियोस्क बनाए जाएंगे। सेक्टर 19 में 650 और सेक्टर 22 में 1800 के आसपास वेंडर हैं। सेक्टर 17 में करीब 1000 वेंडर हैं।स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत सेक्टर 17 में करीब 50 कियोस्क बनने हैं। इस पर करीब 10 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट में जो वेंडर जगह पाने में कामयाब नहीं होंगे उन्हें दूसरी जगह शिफ्ट करने का प्लान है।

बता दें कि काफी दिनों से शोरूम के मालिकों और रेहड़ी वालों के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई थी। शोरूम के मालिकों का कहना है कि वेंडरों की वजह से उनका कारोबार प्रभावित हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here