मतदाता सूचियों का विशेष पुर्नरीक्षण कार्यक्रम आगामी 15 नवंबर से शुरू होगा : उपायुक्त यशपाल

0
49

Faridabad News, 16 Sep 2020 : जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त यशपाल ने बताया कि एक जनवरी 2021 को क्वालिफाईंग तिथि मानकर मतदाता सूचियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। इसके तहत 16 नवंबर 2020 को मतदाता सूची का प्रारंभिक प्रकाशन किया जाएगा और अंतिम प्रकाशन 15 जनवरी 2021 को होगा। जिला निर्वाचन अधिकारी बुधवार को मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम को लेकर सभी ईआरओ, एईआरओ और विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों की मीटिंग को संबोधित कर रहे थे।

मीटिंग में जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी ईआरओ व एईआरओ को निर्देश दिए कि यदि किसी निर्वाचन क्षेत्र में मतदान केंद्रों का प्रस्ताव (मतदाताओं की संख्या अधिक होने, भवन क्षतिग्रस्त होने, राजनैतिक दलों के सुझाव व प्रस्ताव के कारण) है तो वह 30 सितंबर से पहले जिला निर्वाचन अधिकारी को भिजवा सकते हैं। सभी एआरओ व ईआरओ इनके दावे व आपत्तियों का निपटारा पांच जनवरी 2021 तक करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने बताया कि 16 नवंबर 2020 से 15 दिसंबर 2020 तक आम जनता से दावे तथा आपत्तियां प्राप्त की जाएंगी। इसके लिए 28 व 29 नवंबर और 12 व 13 दिसंबर को मतदान केंद्रों पर विशेष कैंप लगाए जाएंगे। यहां पर बीएलओ सुबह 9:00 बजे से सांय 5:00 बजे तक मतदान केंद्रों पर उपस्थित होकर दावे व आपत्तियां प्राप्त करेंगे। 15 जनवरी को दावे तथा आपत्तियों का निपटान करने के उपरांत मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन कर दिया जाएगा।

उन्होंने सभी निर्वाचन पंजीयन अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्राप्त होने वाले दावे व आपत्तियों की सूची प्रतिदिन मुख्य निर्वाचन अधिकारी की साईट पर अपलोड करवाएं। उन्होंने कहा कि जिस मतदान केंद्र पर कुल मतदाताओं के दो प्रतिशत से अधिक नाम हटाए जाने हैं वहां पर संबंधित निर्वाचक पंजीयन अधिकारी सत्यापन अवश्य करें। उन्होंने कहा कि जब एक ही व्यक्ति द्वारा पांच से अधिक मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटाने बारे आपत्ति दर्ज करवाई जाती है तो ऐसी स्थिति में स्वयं पड़ताल सुनिश्चित करें।

उन्होंने सभी निर्वाचक पंजीयन अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह सभी सुपरवाईजरों के अधीन नियुक्त बीएलओज के पास प्राप्त होने वाले फार्मों में से पांच प्रतिशत फार्मों को क्रास चैक करें।

उनहेंने कहा कि सभी सहायक निर्वाचक पंजीयन अधिकारी उनके प्रदान किए गए मतदान केंद्रों पर प्राप्त होने वाले फार्मों का एक प्रतिशत स्वयं चैक करेंगे। इसके अतिरिक्त 20 उन मतदान केंद्रों का भी निरीक्षण करेंगे जहां पर असाधारण रूप से अधिक मात्रा में वोट काटने व बनाने से संबंधित फार्म प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि निर्वाचक पंजीयन अधिकारी अपने सहायक निर्वाचन पंजीयन अधिकारी द्वारा निपटाए गए फार्मों के 10 प्रतिशत का वह स्वयं निरीक्षण करेंगे। मीटिंग में उन्होंने निर्देश दिए कि जहां मृत्यु प्रमाण पत्र उपलब्ध है उसको छोडक़र कोई भी नाम अगर मतदाता सूची से हटाया जाना है तो उसमें नोटिस जारी किया जाएगा। हटाए गए नामों में तहसीलदार से कम रैंक के अधिकारी द्वारा आर्डर पास नहीं किया जा सकता। मीटिंग में विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से अनुरोध किया गया कि वह अपने बूथ लेवल एजेंट नियुक्त करें और उसकी सूचना अवश्य भेंजे। मीटिंग में अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान, एसडीएम फरीदाबाद जितेंद्र कुमार, एसडीएम बढ़ख़ल पंकज सेतिया, एसडीएम बल्लभगढ़ अपराजिता, निर्वाचन तहसीलदार दिनेश शर्मा, सीपीआईएम पार्टी से वीरेंद्र सिंह डंगवाल, जजपा से प्रेम सिंह धनखड़ सहित सभी एईआरओ भी मौजूद थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here