शहीद भगत सिंह बिग्रेड ने अमर क्रांतिकारी शहीद करतार सिंह सराभा को दी श्रृद्वांजलि

0
777
Faridabad News, 16 Nov 2018 : शहीद भगत सिंह कालेज कैम्पस एनएच-3 में शहीद करतार सिंह सराभा जी के103वें शहीदी दिवस पर श्रृद्वांजलि सभा का आयोजन किया गया। जिसमें शहीद ए आजम भगत सिंह के पौत्र एवं ऑल इडिया शहीद भगत सिंह बिग्रेड के अध्यक्ष यादवेन्द्र सिंह सन्धू ने बिग्रेड के युवा साथियों के साथ मिलकर शहीद करतार सिंह सराभा जी के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। इस अवसर पर यादवेन्द सिंह सन्धु ने बताया कि शहीद करतार सिंह सराभा  शहीद भगत सिंह के प्रेराणा स्त्रोत थे और भगत सिंह उनका चित्र हमेशा अपने बटुए(पर्स) में रखा करते थे। शहीद करतार सिंह सराभा का जन्म 24 मई 1896 गांव सराभा जिला लुधियाना,पंजाब में हुआ और उनकी शहीदी 16 नवम्बर 1915 लाहौर में मात्र 19 वर्ष की आयु में हंसते हुए फांसी का फंदा चुमते हुए हुई। यादवेन्द्र सिंह सन्धू ने बताया कि परिवार द्वारा करतार सिंह सराभा को अमेरिका सनफांसिसको पढऩे के लिए भेजा गया था,जहां पर उनकी मुलाकात सोहन सिंह बखाना जो संस्थापक थे गदर पार्टी व गदर पत्रिका के से हुई। जिसके बाद वह क्रांतिकारी गतिविधियों में भाग लेने लगे,प्रथम विश्व युद्व के दौरान करतार सिंह सराभा व अन्य क्रांतिकारियों ने इसे भारत को अंग्रेजो से आजाद कराने का सुनहरा अवसर माना इसके चलते करतार सिंह सराभा भारत आए और सैनिक छावनियों में जाकर भारतीयों को मां भारती के लिए सर्घष करने के लिए प्रभावित करने लगे और 21 फरवरी 1915 को विद्रोह करने के लिए तैयार किया। पंजाब प्रांत की जिम्मेवारी उनपर थी लेकिन अंग्रेजों को मुखबिरों के द्वारा इस योजना का पता चला जिसके बाद वह गिरफ्तार हो गए और 16 नवम्बर 1915 में उनको फांसी दी गई पर उनका बलिदान जो मात्र 19 साल की उम्र में जब किसी नौजवान के चेहरे पर अच्छे से दाढ़ी मूंछ नहीं आती हमेशा सारा हिन्दूस्तान याद रखेगा। यादवेन्द्र सिंह सन्धू ने कहा कि शहीद करतार सिंह सराभा ने हमें सर उठाकर व गुलाम न रहकर जीने की सबक सिखाया। हम हमेशा उनके कर्जदार रहेगें। वे अक्सर यह पक्तियां गुनगुनाया करते थे ंसेवा देश दी जिंदड़ी ए औखी,गल्ला करनीयां ढ़ेर सुखलियां,ते जिन्हां इस सेवा विच पैर पाया,उन्हां लख मुसीबता झलनियां तें। इस मौके पर अवतीन सिंह वीके सिंह,गुरजीत सिंह(मोन्टू),रणजीत सिंह(जीतू),परमजीत सिंह,शिवम अरोड़ा,प्रिंस रहेजा,लक्की सिंह,गुरजीत सिंह,चौधरी शरीफ सहित कई बिग्रेड के युवा मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here