पेस्टोरल केयर का महत्वः लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी और स्टडी ग्रुप का नजरिया

0
551
Spread the love
Spread the love

New Delhi News, 22 March 2021 : यूके एक दुनिया का अग्रणी अकादमिक केंद्र है। हर साल दसियों हज़ार होनहार ग्रेजुएट्स से लेकर कुशल पोस्ट ग्रेजुएट्स तक इंटरनेशनल स्टूडेंट्स अपने देशों को छोड़कर ब्रिटिश विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेने का विकल्प चुनते हैं। देश की शैक्षणिक उत्कृष्टता के अलावा, छात्र यूके के स्वागतयोग्य, बहुसांस्कृतिक और जीवंत समाज और अब देश के कुशल कोविड-19 वैक्सीन रोल-आउट की सराहना करते हैं। स्टडी ग्रुप अत्यधिक आभारी है कि दुनियाभर के छात्र यूके को अध्ययन के लिए चुन रहे हैं, और यह हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है कि उनकी अच्छी देखभाल सुनिश्चित की जाए। कई इंटरनेशनल स्टूडेंट्स के मानसिक स्वास्थ्य पर गंभीर महामारी और काउंसलिंग सेवाओं में हुए बदलाव का असर पड़ा है। मानसिक स्वास्थ्य की विभिन्न सांस्कृतिक समझ के साथ इसके जुड़ने का मतलब यह है है कि यह गारंटी देना विशेष रूप से महत्वपूर्ण है कि इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को अपने संस्थानों से समर्पित समर्थन मिलता रहे।

स्टडी ग्रुप में यूके और ईयू के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर डॉ. मार्क कनिंघटन ने कहा, “यूके के इतिहास का यह एक महत्वपूर्ण समय है, जब देश कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ वैक्सीन रोल-आउट कार्यक्रम के जरिए वर्ल्ड-लीडर बनकर उभर रहा हमें यह देखकर खुशी होती है कि यूके के विश्वविद्यालय इंटरनेशनल स्टूडेंट्स के बीच पहले से कहीं अधिक लोकप्रिय हैं। यूसीएएस के अनुसार यूके के विश्वविद्यालयों के लिए इंटरनेशनल स्टूडेंट्स के आवेदन हाल ही में ऑलटाइम हाई लेवल पर हैं, जो कि शैक्षणिक वर्ष 2021/2022 के लिए 17% बढ़ गया है। हम इन छात्रों का हमारे देश में स्वागत करते हैं, यह सुनिश्चित करना हमारा कर्तव्य है कि वे खुश, स्वस्थ और आश्वस्त हों ताकि वे इसका सबसा अच्छा अनुभव ले सकें।

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ और प्रतिभाशाली छात्रों को आकर्षित करने के लिए यूके को मजबूत शैक्षणिक प्रावधान और सरकार व संस्थागत, दोनों स्तरों पर महत्वपूर्ण रूप से छात्र कल्याण पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

सरकार की हालिया इंटरनेशनल एजुकेशन पॉलिसी स्पष्ट रूप से एक समझ का प्रदर्शन करती है कि यदि देश को विश्व स्तर के एजुकेशन डेस्टिनेशन बने रहना है तो इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को सहयोग करना होगा। अपडेट की गई स्ट्रैटेजी में आगे की पहल, यूके में आने वाले पल से इंटरनेशनल स्टूडेंट्स समग्र अनुभव को बढ़ाएगी ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे यूके में विश्वविद्यालय के जीवन को पूरी तरह से एकीकृत कर सकें। इस नीति का उद्देश्य इंटरनेशनल स्टूडेंट्स के लिए बाधाओं को दूर करके और उनकी निरंतर भलाई को सुनिश्चित कर एक दशक के भीतर एजुकेशन एक्सपोर्ट में 75 प्रतिशत की वृद्धि करना है।

स्टडी ग्रुप में स्टूडेंट वेलफेयर हमेशा हमारे संगठन के लिए महत्वपूर्ण प्राथमिकता रही है। हमारे साथ काम करने वाले प्रत्येक स्टूडेंट के पास समर्पित वेलफेयर ऑफिसर होता है, जो उनकी शैक्षणिक और पैस्टरल जरूरतों को संबोधित कर सकता है। हम अन्य छात्रों के साथ स्टूडेंट बडी स्कीम भी लागू करते हैं ताकि वे एक अनजाने माहौल में घुल-मिल सकें, और हम मानसिक और शारीरिक भलाई के लिए नियमित अतिरिक्त गतिविधियों का आयोजन कर सकें।

स्टडी ग्रुप के प्रतिष्ठित साझेदार संस्थानों में विश्वस्तरीय यूके हायर एजुकेशन इंस्टीट्युशन लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी है, जिसे द टाइम्स और द संडे टाइम्स गुड यूनिवर्सिटी गाइड 2020 ने द इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ द ईयर करार दिया था। लैंकेस्टर भी यूके को इंटरनेशनल एजुकेशन डेस्टिनेशन बनाने के लिए अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

यूके की लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी के कार्टमेल कॉलेज में प्रिंसीपल और इंटरनेशनल डायरेक्टर टॉम बकले इंटरनेशनल स्टूडेंट्स के लिए सहयोगी माहौल के महत्व पर अपना दृष्टिकोण प्रस्तुत करते हैं: “लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी में हम मददगार और सुरक्षित माहौल देकर इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को आगे बढ़ने में सक्षम बनाते हैं। हमारा कॉलेज सिस्टम एक स्टैंडर्ड यूनिवर्सिटी की पेशकश से परे कनेक्शन और सपोर्ट अतिरिक्त देता है। मुझे इस बात पर विशेष रूप से गर्व है कि कॉलेजों में हमारे स्टूडेंट लीडर्स ने पिछले वर्ष दुनियाभर में अपने साथियों का समर्थन करने के प्रयासों पर ध्यान केंद्रित किया और अगले शैक्षणिक वर्ष के लिए सार्थक स्वागत की योजना शुरू कर दी है।

लैंकेस्टर पहले हमारे छात्रों के शैक्षणिक और व्यक्तिगत विकास पर ध्यान देता है और यह लोकाचार पिछले साल की चुनौतियों के दौरान महत्वपूर्ण साबित हुआ है। मैं लैंकेस्टर समुदाय का हिस्सा बनने के लिए कभी भी इतना गर्वित नहीं था।

लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी इंटरनेशनल स्टडी सेंटर में वेलबिंग और सपोर्ट ऑफिसर जो रॉबिनसन कहते हैं: “लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी आईएससी में हमें उन मानसिक चुनौतियों के बारे में जानकारी हैं जो हमारे इंटरनेशनल स्टूडंट्स और उनके शैक्षणिक प्रदर्शन पर पड़ने वाले प्रभाव का सामना करती हैं। नेशनल लॉकडाउन ने भी अतिरिक्त चुनौतियां पेश की क्योंकि कई स्टूडेंट्स पूरे शैक्षणिक वर्ष के दौरान अकेलापन महसूस कर रहे हैं और आईएससी इस असामान्य समय में छात्रों का समर्थन करने के लिए पूरी तरह से सुसज्जित हैं।

आईएससी के पास स्टूडेंट्स के कल्याण और सुरक्षा करने के लिए एक समर्पित अधिकारी है जो सभी छात्रों की भलाई के मुद्दों के लिए संपर्क का डेजिग्नेटेड पॉइंट है और आईएससी व विश्वविद्यालय के बीच एक सेतु का काम भी करता है। विश्वविद्यालय के बाहर थैरेपी सेशंस सहित मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों की एक सीमा पर हमारे वर्चुअल रिसेप्शन के माध्यम से आसानी से उपलब्ध संसाधनों की एक शृंखला के साथ हम उचित सेवाओं का उल्लेख करने के लिए यूनिवर्सिटी के साथ साझेदारी में काम करते हैं। इसके अलावा, हम परीक्षा चिंता / तकनीकों जैसे मुद्दों को कवर करते हुए पूरे वर्ष में वन-टू-वन सत्र की मेजबानी करते हैं। हम अपने छात्र की हर चीज के बारे में भलाई को प्राथमिकता देते हैं और हमारे वर्तमान प्रावधान से छात्र को पता चलता है कि किससे बात करनी है और हमेशा मदद कहां उपलब्ध है। ”

स्टडी ग्रुप और लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी जैसे वैश्विक स्तर के हायर एजुकेशन प्रोवाइडर्स द्वारा प्रदर्शित सहायक दृष्टिकोण के साथ, इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि पहले से कहीं अधिक इंटरनेशनल स्टूडेंट्स ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों में पढ़ाई के लिए आवेदन कर रहे हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here