फिनवेजिया का शून्य ‘आई नो फर्स्ट’ के साथ विशिष्‍ट साझेदारी में व्‍यक्तिगत शेयरों के लिए एआई-आधारित पूर्वानुमान और सिग्‍नल प्रदान करने वाला भारत का पहला ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म बना

0
206
Spread the love
Spread the love

मुंबई, बुधवार, 25 मई 2023: फिनवेजिया का शून्‍य, जीरो-ब्रोकरेज का प्रमुख ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म, भारत का पहला ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म है जो व्यक्तिगत स्टॉक के लिए एआई-आधारित पूर्वानुमान और सिग्नल्स प्रदान करता है। यह विशेष उपलब्धि आई नो फर्स्ट (आईकेएफ) के साथ उनकी विशेष साझेदारी के साथ संभव हुई है, जो एआई-संचालित स्टॉक मार्केट पूर्वानुमान प्रदान करने में विशेषज्ञता मुहैया कराने वाली अग्रणी वित्तीय तकनीकी फर्म है। ‘आई नो फर्स्ट’ की अत्याधुनिक तकनीक 1500 भारतीय शेयरों में उतार-चढ़ाव की भविष्यवाणी करते हुए दैनिक आधार पर शून्य के ग्राहकों के लिए निवेश के बेहतरीन अवसरों की पहचान करती है। ये भविष्यवाणियां या पूर्वानुमान एआई और मशीन लर्निंग का उपयोग करते हुए व्यापक ऐतिहासिक डेटा शोध पर आधारित हैं। यह नई उपलब्धि शून्य को उसके ग्राहकों को सशक्त बनाने के लिए इस श्रेणी की उत्कृष्ट सेवाओं को मुहैया कराने की उसकी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। कंपनी ने अपने ग्राहकों के लिए 30 दिन का फ्री ट्रायल पीरियड पेश किया है, जिसके बाद यह 999 रुपये प्रति माह पर उपलब्ध होगा।

‘आई नो फर्स्ट’ द्वारा संचालित, शून्य का यह नया फीचर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और मशीन लर्निंग (एमएल) की शक्ति को जोड़ता है। यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस नेटवर्क और आनुवंशिक अल्गोरिदम के तत्वों को शामिल करता है जिसके माध्यम से यह वित्तीय बाजारों का विश्लेषण, मॉडल और भविष्यवाणी करता है। ये अनुमान विश्वसनीय डेटा के व्यापक विश्लेषण पर आधारित हैं ताकि ग्राहकों को सूचित व्यापारिक निर्णय लेने में मदद मिल सके।

यह कई मुख्य फायदे प्रदान करता है:

1. भारतीय बाजार में निवेश के सर्वोत्तम अवसरों की पहचान करना: यह 1500 तक भारतीय शेयरों के लिए एआई-आधारित भविष्यवाणियों तक पहुंच प्रदान करता है, जिसमें लार्ज, मिड और स्मॉल कैप स्टॉक शामिल हैं, साथ ही एनएसई और बीएसई से भारतीय सूचकांकों के लिए पूर्वानुमान भी शामिल हैं।

2. वस्‍तुनिष्‍ठ दृष्टिकोण: पीएचडी, इंजीनियरों और डेटा वैज्ञानिकों की एक अनुभवी टीम द्वारा विकसित एक अद्वितीय मात्रात्मक, स्वतंत्र और वस्तुनिष्ठ एआई-आधारित दृष्टिकोण के साथ बाजार की भविष्यवाणी, जिन्होंने अपनी विशेषज्ञता और वर्षों के अनुभव को एक अल्गोरिदम विकसित करने के लिए समर्पित किया है जो उन्नत एआई और डीप लर्निंग टेक्निक्‍स को साथ में जोड़ती है।

3. कलर-कोडेड संकेत: सहज गहरा हरा (खरीद) और गहरा लाल (बिक्री) संकेत मजबूत बाजार रुझान का संकेत देते हैं, जबकि हल्का हरा और लाल संकेत कमजोर संकेतों का प्रतिनिधित्व करते हैं। यह शून्य के ग्राहकों को आसानी से बाजार की गतिविधियों की व्याख्या करने और कम समय में त्वरित ट्रेडिंग निर्णय लेने में मदद करेगा।

4. अनुमान लगाने वाला संकेतक (कॉन्फिडेंस लेवल): जबकि कलर कोड सिग्नल बाजार के रुझान की गंभीरता को दिखाते हैं, वहीं प्रत्येक भविष्यवाणी प्रत्येक स्टॉक के लिए अनुमान के विश्वास स्तर के लिए एक अतिरिक्त संकेतक प्रदान करती है, जिससे ग्राहकों को सबसे अधिक अनुमानित संपत्ति की पहचान करने और उस पर ध्यान केंद्रित करते हुए समझदारी से निर्णय लेने में मदद मिलती है।

5. इंस्‍टैट हीटमैप्स: प्रीडिक्टिव अल्गोरिद्म छह अलग-अलग समय सीमाओं – 3डी, 7डी, 14डी, 1एम, 3एम और 1वाई में शेयर बाजार के पूर्वानुमानों के लिए तत्काल हीटमैप उत्पन्न करने में मदद करता है।

6. एआई-आधारित पोर्टफोलियो मॉनिटरिंग: यह दैनिक एआई भविष्यवाणियों के साथ ग्राहक के वर्तमान पोर्टफोलियो की निगरानी करने की पेशकश करता है, जिससे पोर्टफोलियो में सही समय पर बदलाव किया जा सकता है।

7. एआई-संचालित स्टॉक मार्केट इंटेलिजेंस: ग्राहक भारतीय बाजार के प्रमुख क्षेत्रों की पहचान करके और भारत में मुख्य सूचकांकों के लिए पूर्वानुमानों तक पहुंच बनाकर बाजार से आगे रहने में सक्षम हैं।

इस अवसर पर, फिनवेजिया के को-फाउंडर और एमडी सर्वजीत विर्क ने कहा, “हम आई नो फर्स्ट के साथ अपनी विशेष साझेदारी के माध्यम से भारतीय बाजार के लिए एआई-संचालित अनुमान लगाने वाला विश्लेषण और सिग्नल पेश करने वाला भारत का पहला ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म बनकर खुश हैं। यह शून्य के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है क्योंकि हम भारत में ट्रेडिंग परिदृश्य को नए सिरे से पारिभाषित करते हुए इसमें व्यापक बदलाव ला रहे हैं। व्यक्तिगत जानकारी पर भरोसा करने वाली पारंपरिक सलाहकार सेवाओं के विपरीत, हमारी एआई तकनीक सटीक पूर्वानुमान और मूल्यवान बाजार अंतर्दृष्टि प्रदान करने के लिए व्यापक डेटा-समर्थित विश्लेषण का लाभ उठाती है। हम अपने ग्राहकों के लिए वस्‍तुनिष्‍ठ और विश्वसनीय जानकारी के आधार पर अच्छी तरह से सूचित निर्णय लेने के लिए ट्रेडिंग के भविष्य की दिशा में एक बड़ी छलांग लगा रहे हैं।”

आई नो फर्स्ट के को-फाउंडर और सीईओ यारोन गोलघर ने कहा, “आई नो फर्स्ट में हम भारतीय कारोबारियों के लिए हमारी शक्तिशाली एआई आधारित डीप लर्निंग तकनीक लाने के लिए शून्य के साथ साझेदारी करने के लिए उत्साहित हैं। अनुमान लगाने वाली अल्गोरिद्म के सर्वोत्तम अवसरों की पहचान करने की क्षमता और व्यापक डेटा अनुसंधान और विश्लेषण का उपयोग करके दैनिक आधार पर शेयरों को चुनता है। आई नो फर्स्ट एआई एल्गोरिद्म पर दुनिया के प्रमुख हेज फंड, निवेश घराने, बैंक, पारिवारिक कार्यालय, ब्रोकरेज फर्मों के साथ-साथ उच्च-निवल मूल्य वाले व्यक्तियों द्वारा भरोसा किया जा रहा है और शून्य के ग्राहकों के लिए उपलब्ध होने जा रहा है, जिससे उन्हें प्रतिस्पर्धी बढ़त हासिल करने की अनुमति मिलती है। यह प्रत्येक भारतीय व्यापारी के लिए एक शक्तिशाली विशेषता है और यह पारंपरिक सलाहकार विधियों से परे है। हमें विश्वास है कि आई नो फर्स्ट की अत्याधुनिक तकनीक संयुक्त है शून्य के ग्राहक-केंद्रित दृष्टिकोण से भारतीय कारोबारियों की निवेश रणनीतियों में क्रांतिकारी बदलाव आएगा।”

भारत की पहली एआई आाधारित ट्रेडिंग विशेषता के बारे में जानने के लिए इस लिंक की मदद से साइन अप करें:https://bit.ly/3o1e95d

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here