जिला टैक्स बार एसोसिएशन फरीदाबाद के द्वारा पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया

0
367
Spread the love
Spread the love

Faridabad : जिला टैक्स बार एसोसिएशन के द्वारा सेक्टर 12 एक्साइज एवं टैक्सेशन डिपार्मेंट के प्रांगण में पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि डीएफओ राजकुमार विशिष्ट अतिथि के रूप में डी.ई.टी.सी एस एस मलिक,सुमन सिंध,कमल नैनन,डी एस दहिया,अनिल यादव डी. टी.आई गुलाब सिंह,भाजपा व्यवसायिक प्रकोष्ठ के विमल खंडेलवाल सभी अतिथियों का बार एसोसिएशन के प्रधान डीआर चौधरी एवं महासचिव राजेंद्र शर्मा ने पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया।

डीएफओ राजकुमार ने बताया कि प्रकृति समस्त जीवो के जीवन का मूल आधार है। प्रकृति का संरक्षण एवं सर्वधान सभी जीव जगत के लिए भेद अनिवार्य है। प्रकृति पर ही पर्यावरण निर्भर है। गर्मी सर्दी वर्षा आदि सब प्रगति के संतुलन पर निर्भर करता है। यदि प्रकृति समृद्ध एवं संतुलित होगी तो पर्यावरण भी अच्छा होगा। यदि प्रकृति समृद्ध एवं सन्तुलित होगी तो पर्यावरण भी अच्छा होगा और सभी मौसम भी समयानुकूल सन्तुलित रहेंगे। यदि प्रकृति असन्तुलित होगी तो पर्यावरण भी असन्तुलित होगा और अकाल, बाढ़, भूस्खलन, भूकम्प आदि अनेक प्रकार की प्राकृतिक आपदाएं कहर ढाने लगेंगी। प्राकृतिक आपदाओं से बचने और पर्यावरण को शुद्ध बनाने के लिए पेड़ों का होना बहुत जरूरी है। पेड़ प्रकृति का आधार हैं। पेड़ों के बिना प्रकृति के संरक्षण एवं संवर्धन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। इसीलिए हमारे पूर्वजों ने पेड़ों को पूरा महत्व दिया।

डी.ई.टी.सी एस एस मलिक,सुमन सिंध,कमल नैनन,डी एस दहिया,अनिल यादव डी. टी.आई गुलाब सिंह सभी ने टैक्स बार एसोसिएशन की पूरी टीम को इस पुनीत कार्य के लिए बहुत-बहुत बधाई व शुभकामनाएं प्रेषित की।

भाजपा व्यवसायिक प्रकोष्ठ जिला संयोजक विमल खंडेलवाल ने बताया कि यदि प्रकृति को ईश्वर का दूसरा रूप कहा जाए तो कदापि गलत नहीं होगा। पेड़ों पर प्रकृति निर्भर करती है। पेड़ लगाना प्रकृति का संरक्षण व संवर्धन है और प्रकृति का संरक्षण व संवर्धन ईश्वर की श्रेष्ठ आराधना है। एक पेड़ लगाने से असंख्य जीव-जन्तुओं के जीवन का उद्धार होता है और उसका अपार पुण्य सहजता से हासिल होता है। एक तरह से पेड़ लगाने से अपार पुण्य की प्राप्ति होती है। भारतीय संस्कृति में भी वृक्षारोपण को अति पुण्यदायी माना गया है। शास्त्रों में लिखा गया है कि एक पेड़ लगाने से एक यज्ञ के बराबर पुण्य मिलता है। पद्म पुराण में तो यहां तक लिखा है कि जलाशय (तालाब/बावड़ी) के निकट पीपल का पेड़ लगाने से व्यक्ति को सैंकड़ों यज्ञों के बराबर पुण्य की प्राप्ति होती है। केवल इतना ही नहीं भारतीय संस्कृति में एक पेड़ लगाना, सौ गायों का दान देने के समान माना गया है।

बार प्रधान डीआर चौधरी ने बताया कि आए हुए सभी अतिथियों से आंवला, अनार, आम, छायादार पौधारोपण एक्साइज व टैक्सेशन डिपार्मेंट के प्रांगण में लगवाए गए हैं। हम सभी शपथ लेते हैं कि जो पौधे आज हम सभी के द्वारा लगाए हैं उनको निरंतर बड़ा करने की जिम्मेदारी भी हम स्वयं लेते हैं। निश्चित रूप से समाज को जागृत करने के लिए यह अभियान हमारे द्वारा चलाया गया है आगे भी हम इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करते रहेंगे।

महासचिव राजेंद्र शर्मा ने बताया कि जब इस बिल्डिंग का निर्माण हुआ था जब से लेकर आज तक हमारे द्वारा बिल्डिंग के अंदर एवं बाहर बहुत सारे पौधे लगाए गए हैं। वह सभी पौधे अब बड़े होकर वृक्ष बन चुके हैं। यह पुनीत कार्य करके हृदय को बड़ा सुकून मिलता है।हम सभी का भी दायित्व बनता है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में हम पौधारोपण करें वह आने वाली पीढियां को हम एक बेहतर पर्यावरण स्थानांतरण करने का कार्य करें। आज का कार्यक्रम सफल बनाने के लिए विशेष रूप से कैशियर विनीत त्यागी, पूर्व प्रधान बलवीर चौधरी, पूर्व प्रधान के.के. मिश्रा, पूर्व प्रधान आर एस गोड
अधिवक्ता सत्यवान नरवाल,रविंद्र त्यागी, सुभाष त्यागी, यू पी कांत, पवन गुप्ता, प्रहलाद शर्मा, पी के जैन, त्रिलोक चंद भारद्वाज, बी पी शर्मा, कमल बजाज एवम् समाज के प्रबुद्ध लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here