नेशनल प्रोडक्टिविटी वीक 2019 थीम सेमिनार का हुआ आयोजन

0
1501
Spread the love
Spread the love
Faridabad News, 19 feb 2019 : वर्तमान परिवेश में जबकि उद्योगों के समक्ष चुनौतियां बढ़ रही हैं ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभियान जैडईडी-जीरो डिफेक्ट, जीरो इफेक्ट नीति को कार्यअमल में लाने के लिये उद्योग जगत को एकजुट होना होगा।
हरियाणा स्टेट प्रोडक्टीविटी काउंसिल के प्रधान जे पी मल्होत्रा ने यहां नेशनल प्रोडक्टीविटी वीक 2019 थीम सेमिनार के आरंभ अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते कहा कि हमें रिड्यूस, रिसाईकिल और रियूज पर ध्यान देना होगा, जो प्रोडक्टीविटी को बढ़ाने और लाभ में बढ़ौतरी के लिये आवश्यक है।
प्रोडक्टीविटी काउंसिल की इस वर्ष की थीम सकुर्लर इकोनोमी फॉर प्रोडक्टीविटी एंड सस्टेनेएबिल्टी पर विचार व्यक्त करते श्री मल्होत्रा ने कहा कि हमारे औद्योगिक उत्पादन के साथ-साथ हमारी खपत बढ़ रही है, ऐसे में यदि हमने रॉ मैटीरियल स्त्रोतों व संसाधनों पर ध्यान न दिया और रि-साईकिल व रियूज पर फोकस केंद्रित न किया तो आने वाले समय में हमें गंभीर परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा।
श्री मल्होत्रा ने कहा कि वर्क फोर्स की जागरूकता, प्रोडक्टीविटी और सेफटी स्लोगन कम्पीटीशन काफी आवश्यक हैं और इन्हें उद्योगों से जुड़े सभी वर्गों तक पहुंचाया जाना चाहिए। आपने जानकारी दी कि 12 फरवरी से 18 फरवरी तक मनाए जा रहे प्रोडक्टीविटी सप्ताह में इस तथ्य पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।
फरीदाबाद चैम्बर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के प्रधान श्री एच के बत्तरा ने मुख्यातिथि के रूप में अपने संबोधन में कहा कि आर एंड डी के साथ-साथ प्रशिक्षण जरूरी है और प्रोडक्टीविटी के संबंध में निवेश व प्रत्येक स्तर पर रूझान को प्रभावी बनाया जाना चाहिए।
उद्योग व वाणिज्य विभाग के संयुक्त निदेशक अनिल चौधरी ने जे पी मल्होत्रा व उनकी टीम की सराहना करते विश्वास व्यक्त किया कि प्रोडक्टीविटी के संबंध में जागरूकता की प्रक्रिया जारी रहेगी।
सिस्टर बी के पूनम ने कार्यस्थल पर प्रसन्नता व खुले विचारों की आवश्यकता पर बल देते कहा कि नाकारात्मकता व डिस्ट्रक्शन सदैव तनाव व विवादों को बढ़ाती है।
सिडबी के उपमहाप्रबंधक पी एस मनोज ने नेशनल प्रोडक्टीविटी काउंसिल व हरियाणा काउंसिल द्वारा इस वर्ष के थीम की सराहना करते इस संबंध में जागरूकता का आह्वान किया।
मानव रचना के डा. अमित सेठ ने उन उद्योगों के संबंध में जानकारी दी जिन्होंने सर्कुलर इकोनामी के सिद्धांतों को अपनाकर सफलता प्राप्त की।
इस अवसर पर हरियाणा प्रोडक्टीविटी न्यूज के विशेषांक का विमोचन भी किया गया। सेफटी व प्रोडक्टीविटी पर दस पोस्टर्स के सैट का विमोचन एच के बत्तरा व आगंतुकों ने किया।
श्री नांरग ने कार्यक्रम में जहां प्रोडक्टीविटी काउंसिल के कार्यों की जानकारी दी, वहीं धन्यवाद प्रस्ताव वरिष्ठ उपप्रधान एच एल भुटानी ने प्रस्तुत किया। अतिथियों के संबंध में जानकारी कोषाध्यक्ष ए एन शर्मा ने दी।
श्री मल्होत्रा ने क्वालिटी में सुधार, लागत में कमी और समय पर डिलीवरी को आवश्यक बताया, वहीं इन्वेंटरी में कमी तथा रिजैक्शन पर पूर्ण नियंत्रण से लाभ में बढ़ौतरी के संबंध में जानकारी दी गई। आपने कहा कि वायु, एनर्जी, पानी, तेल और मिनरल के संरक्षण पर ध्यान देना आज सबसे बड़ी आवश्यकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here