जे आर सी ने कोरोना काल में मनाया विश्व तम्बाकू निषेध दिवस, ऑनलाइन पेंटिग और निबंध प्रतियोगिता आयोजित

0
4816
Spread the love
Spread the love

Faridabad News, 31 May 2020 : राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद की जे आर सी और एस जे ए बी ने प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा की अध्यक्षता में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर ऑनलाइन पेटिंग और ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया। जे आर सी, एस जे ए बी और गाइडस सदस्यों ने इन प्रतियोगिताओं में प्रतिभागिता की। जूनियर रेड क्रॉस काउन्सलर और प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कोरोना अर्थात कोविड़ 19 लॉकडाउन के कारण ऑनलाइन प्रतियोगिताओं की शुरुआत करते हुए बताया कि 15 मई 1987 को वर्ल्ड हेल्थ असेंबली ने विश्व धूम्रपान निषेध दिवस के लिए 7 अप्रैल 1985 को विश्व स्वास्थ्य संगठन की 40वीं वर्षगांठ के अवसर पर एक प्रस्ताव पारित किया। सम्पूर्ण विश्व भर में तम्बाकू का सेवन बढ़ता ही जा रहा है। सबसे व्यथित करने वाला तथ्य यह है कि धूम्रपान करने वाले कोरोना वाइरस के संक्रमण के चपेट में आसानी से आ रहे हैं क्योंकि वे सिगरेट को उंगलियों के बीच पकड़ते हैं और उनकी उंगलियों से उनके मुंह में वायरस आसानी से प्रवेश कर जाता है। इसके अतिरिक्त धूम्रपान करने वाला व्यक्ति पहले ही कमजोर फेंफड़ों या फेंफड़े के रोगों का शिकार होता है जो कि उनमें गंभीर बीमारी के जोखिम को और बढ़ा देता है। तम्बाकू के सेवन और धूम्रपान से रक्त कैंसर, पित्त कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा कैंसर, बृहदान्त्र और मलाशय कैंसर, ग्रासनली कैंसर, किडनी और मूत्राशय कैंसर, पेल्विक कैंसर, गले, फेंफड़े, मुंह का कैंसर, अग्नाशय, आमाशय, श्वास नली के कैंसर आदि की संभावना बढ़ जाती है। हृदय रोग की समस्याओं से होने वाली हर चार में से एक मृत्यु तम्बाकू सेवन करने वाले लोगों की होती है। धूम्रपान से चर्बी,वसा व लिपिड रक्त में बढ़ जाते हैं। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल कम हो जाते हैं। रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि अब समय आ गया है कि हम अपने परिवार के सदस्यों, विद्यालय के छात्र छात्राओं, अध्यापकों, बंधुओं और सह कर्मियों में इन तम्बाकू उत्पादों की स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने वाले तथ्यों को खुलकर बताएं और चर्चा करें, जिससे हमारे युवा पीढ़ी के भविष्य की रक्षा हो सके क्योंकि युवाओं को आकर्षित करने के लिए तंबाकू और निकोटिन उत्पादों के विभिन्न प्रकार चेरी, बबल गम और कॉटन कैंडी के अंदर तम्बाकू को भरकर बेचा जा रहा है, जिनकी आड़ में स्वास्थ्य की हानि और भयंकर श्वास एवं फेफड़ों से संबंधित रोगों को छुपाने की चेष्टा की जाती है। वर्ष 2020 के लिए थीम विषय – युवा पीढ़ी को आकर्षित करने के लिए तम्बाकू और संबंधित उद्योग की रणनीति है। बहुत सारे अध्ययनों में यह उल्लेख किया गया है कि धूम्रपान करने वालों में से अधिकांश लोग इस आदत की शुरुआत करते हैं जब वे किशोर होते हैं, इसलिए उन्हें धूम्रपान और तंबाकू से दूर रखना महत्वपूर्ण हो जाता है। छात्रा प्रीति, हर्षिता, संध्या, तबिंदा, अंशिता, शिवानी, भूमिका, कोमल राघव, निशा और तनु ने शानदार पोस्टर बना कर तथा यशिका, निशा और एकता ने बहुत ही उत्कृष्ट निबंध लिख कर धूम्रपान और तंबाकू सेवन के दुष्प्रभावों को उल्लेखित करते हुए एन से दूर रहने की जरूरत बताई। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने सभी अध्यापकों विशेषतः हिंदी प्राध्यापिका शीतु और जस्नीत कौर का बच्चों को ऑनलाइन प्रतियोगिताओं के लिए तैयार करने के लिए प्रशंसा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here