राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री का देश की आजादी मे महत्वपूर्ण योगदान : विजय प्रताप सिंह

0
833
Spread the love
Spread the love

Faridabad News, 02 Oct 2020 : कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लाल बहादुर शास्त्री की जयंती को ‘किसान-मजदूर बचाओ दिवस’ के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर बडख़ल विधानसभा से कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी विजय प्रताप सिंह के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने गांधी कालोनी कुष्ठ आश्रम में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतीमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए विजय प्रताप सिंह ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की देश प्रति स्मरण को लेकर सभी उन्हें कृतज्ञता से नमन करते हैं गांधी अहिंसा के पुजारी थे और उन्होनें दुनिया के सबसे बड़े अंहिसा और असहयोग आंदोलन का नेतृत्व करके भारत को एक सूत्र में पिराने का काम किया और देश की आजादी में महत्वपूर्ण योगदान दिया। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने बतौर राजनेता और प्रधानमंत्री के रूप अपना जीवन देश को सर्मपित किया व जय जवान जय किसान का उनका नारा उनकी सादगी ईमानदारी और कर्तव्य निष्ठा आज भी प्ररेणादायी है। उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि मोदी सरकार द्वारा पारित किसान बिल किसान विरोधी है। इससे किसान, मजदूर व आढ़ती पूरी तरह से तबाह हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इन कृषि विधेयकों का विरोध करती है और किसानों की लड़ाई में पूरी तरह से उनके साथ है।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि विज का इस प्रकार विचित्र ब्यान देना कोई नई बात नहीं हैं लेकिन वह बताए कि वह कौन से कानून के तहत किसानों की हितों की लड़ाई लडऩे के लिए हरियाणा में टैक्टर यात्रा निकालने आ रहे राहुल गांधी को रोक सकते हैं। इसमें क्या गैर कानूनी है। सभी कांग्रेसी राहुल गांधी की ट्रैक्टर यात्रा में उनके साथ होंगे , हम सबको गिरफ्तार करके दिखाए, हम देखते हैं विज कितने लोगों को गिरफ्तार करते हैं। उन्होंने भाजपा नेता कृष्णपाल गुर्जर के ब्यान पर बोलते हुए कहा कि वह किसानों के संगठनों ,आढ़तियों ,किसानों का समर्थन करने वाले लोगों व पॉटियों को और किसानों को वो दलाल बोल रहे हैं। उन्हें अपनी शब्दावली और मानसिकता को बदलने की जरूरत है। उनका यह कथन अशोभनीय है। इस अवसर पर हाथरस मामले को लेकर उन्होंने कहा कि जिस प्रकार ये सारा मामला हुआ है उसमें यूपी सरकार की भूमिका निंदनीय है क्योंकि इतनी रात्रि में जो उन्होंने जबरदस्ती उस बच्ची के शव को जलाया है। यह असभ्यता और यूपी सरकार की गुंडागर्दी का प्रमाण है और ऐसे में जो परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करने जा रहे हैं यूपी सरकार बहुत औंछी सोच के कारण उन लोगों को वहां जाने से बलपूर्वक रोक रही है। इस अवसर पर चौधरी विजय प्रताप सिंह ने कुष्ठ आश्रम में दालें व फल भी वितरित किए।

इस अवसर पर पूर्व मेयर अशोक अरोड़ा, प्रदेश प्रवक्ता योगेश ढींगड़ा, पूर्व जिलाध्यक्ष गुलशन बग्गा, चेयरमेन अब्दुल गफ्फार कुरैशी, राजेश अनंगपुर, अनिल कुमार, भरत अरोड़ा, राकेश कोहली, पदम सिंह भड़ाना, बलविंदर सिंह, सरदार सुरेन्द्र सिंह, विजय पाल चंदीला, सुहैल बडख़ल, जितेन्द्र भड़ाना, सलेक चंद केन, जिला युवा कांग्रेस के उपाध्यक्ष सिद्धार्थ प्रताप सिंह, सागर कौशिक, भगवाना, महेश, रामभज, गोपाल सहित अनेक कांग्रेसी कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here