कांग्रेस ने हमेशा किया सेना के शौर्य का अपमान : सतेन्द्र दुग्गल   

0
141
Spread the love
Spread the love

फरीदाबाद 11 मई ।  भारतीय जनता पार्टी कार्यालय पर पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित की गई प्रेस वार्ता में पूर्व सैनिकों ने लोक सभा के कांग्रेस व गठबंधन के प्रत्याशी द्वारा पुलवामा में 2019 में हुए हमले को मोदी सरकार की साजिश और सेना के ख़िलाफ़ की गई टिप्पणी की घोर निंदा करते हुए इस बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और यह आह्वान किया की चुनाव के दौरान सैनिकों व सेना द्वारा देश हित में की गई किसी भी कार्यवाही पर कभी भी प्रश्न चिन्ह ना लगाये क्योंकि इससे सेना व उसके मनोबल पर प्रतिकूल असर पड़ता है, जो देश की सुरक्षा से खिलवाड़ के समान है । प्रेस वार्ता को भाजपा पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के पूर्व जिला संयोजक विंग कमांडर सतेन्द्र दुग्गल और पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के पूर्व जिला संयोजक केप्टन जयचंद कंवर ने संबोधित किया । इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष  राजकुमार वोहरा, जिला मीडिया प्रभारी विनोद गुप्ता, सह प्रभारी राज मदान और आभास अग्रवाल उपस्थित रहे ।

पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक कप्तान जयचंद कंवर ने कहा की 14 फ़रवरी 2019 को जेश ए मोह्हमद के आंतकवादी ने CRPF के काफिले में विस्फोट लेकर एक वहां से टक्कर मरकर यह आंतकवादी हमला अंजाम दिया जिसमे देश के 40 जवान शहीद हुए । जिसकी भ्रत्सना यूनाइटेड नेशन सहित लगभग 45 अन्य देशों के अलावा यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका, फ्रांस, सऊदी अरब, श्रीलंका व बंगलादेश ने भी की थी । पाकिस्तान के तत्कालीन मंत्री फवाद चौधरी ने पकिस्तान की पार्लियामेंट में सांसदों के टेबल को थपथापने की आवाजों के बीच पुलवामा हमले को पाकिस्तान की कामयाबी के रुप में कबूल किया था, सतेन्द्र दुग्गल द्वारा उसका ऑडियो भी प्रेस वार्ता में सुनवाया गया । उन्होंने कहा कि देश की सरकार ने पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए पाकिस्तान के अंदर एयर स्ट्राइक करके दिया था और आंतंकवादियों को घुसकर मारा था । देश के खिलाफ इस तरह के आंतकवादी हमले को झूठा और गलत ठहराकर कांग्रेस के नेता ने देश की सेना के शौर्य और देश व सेना का अपमान करने का काम किया है । उन्होंने बयान की भर्त्सना करते हुए कहा कि देश की सेना के खिलाफ इस तरह का बयान कतई मंजूर नहीं है, इस बयान के लिए देश की सेना से उनको माफ़ी मांगनी चाहिए और आगे से यह ध्यान  रखना चाहिए देश की सेना को राजनीति और चुनावी प्रचार में ना खींचे । ऐसे बयान उनकी देशद्रोही मानसिकता को दिखाते हैं और इस तरह की गलतबयानी करने वालों को देश की जनता सबक सिखाने का काम करेगी । विंग कमांडर सतेन्द्र दुग्गल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी देश की सेना की क़ाबलियत, विदेशी मामलों के जानकारों और विदेशी सरकारों की इंटेलिजेंस पर भी भरोसा नहीं कर रहे और पुलवामा में हुए घिनौने आंतंकवादी हमले को कटघरे में खड़ा करके हमारे सैनिको की शहादत को शर्मसार करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे, यह उनकी देश द्रोही सोच को दर्शाता है । पूर्व सैनिकों ने कांग्रेस व गठबंधन उम्मीदवार की ऐसी मानसिकता व वक्तव्य की घोर आलोचना की । उन्होंने कहा कि कांग्रेस की मानसिकता ही देश विरोधी है और कांग्रेस ने हमेशा देश की सेना के शौर्य का अपमान करने का काम किया है । पूर्व सैनिकों ने कड़े शब्दों में कहा कि कांग्रेस और उसके नेता इस बात का ध्यान रखें कि सेना को राजनीति व चुनावी मुद्दा ना बनांया जाये । विंग कमांडर दुग्गल ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने जहां एक ओर सेना को सुदृढ़ करने के लिए विश्व स्तर के साजो सामान जैसे बुलेट प्रूफ जैकेट, जूते, माइनस डिग्री तापमान में ड्यूटी करने के लिए आवश्यक यूनिफार्म, आधुनिक टेंट व विश्व स्तरीय रायफ़ल्स, गोला बारूद, तेजस, राफ़ेल लड़ाकू जहाज़, अग्नि 5 एवं ब्रह्मोस मिसाइल, होविट्ज़र, एस.एल.आर  आदि उपलब्ध कराये वही दूसरी ओर पूर्व सैनिकों के लिए ओ.आर.ओ.पी-वन व ओ.आर.ओ.पी- द्वितीय लागू कर, महिला शक्ति को सेना में सैनिक स्तर से कमांडिंग ऑफिसर के पद तक पहुँचाने की नीतियाँ बनायी और देश की सेना को मजबूत करने का काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here