देश के मजदूरों व कर्मचारियों का संसद के समक्ष तीन दिवसीय महापड़ाव

0
868
Spread the love
Spread the love

Faridabad News : देश के मजदूरों व कर्मचारियों का संसद के समक्ष तीन दिवसीय महापड़ाव वीरवार से शरू हो गया । महापड़ाव मे हरियाणा से बड़ी तादाद में कर्मचारियों व मजदूरों ने शिरकत की । सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा, मुख्य संगठनकर्ता बीरेन्द्र सिंह,उप प्रधान सबिता, जिला प्रधान अशोक कुमार, सचिव युद्वबीर सिंह खत्री व वरिष्ठ उप प्रधान गुरचरण खाडियां के नेतृत्व मे जिले से हजारों कर्मचारियों ने महापड़ाव मे भाग लिया । यह महापड़ाव केन्द्र सरकार की मजदूर, कर्मचारी जन व देश विरोधी नीतियों और श्रम कानूनो में पूंजीपतियों के हको में मजदूर विरोधी किये जा रहे संशोधन के खिलाफ किया जा रहा है । जिसका आह्लान देश की दस केन्द्रीय ट्रेड यूनियनो और केन्द्र एंव राज्य सरकार के कर्मचारियों की अखिल भारतीय फेडरेशनो ने संयुक्त तौर पर किया है।

क्या है मजदूरों व कर्मचारियों की मांगे
मजदूरों व कर्मचारियों की प्रमुख मांगो में महंगाई पर रोक लगाना, विभिन्न विभागों में खाली पड़े लाखों पदो को नियमित भर्ती से भरना, सभी प्रकार के अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने, नियमितिकरण तक समान काम के लिए समान वेतन देना, सावृजनिक वितरण प्रणाली को मजबूत करना, सावृजनिक सेवाओं को मजबूत करना, ठेका प्रथा समाप्त करना, स्थाई प्रकृति के कामों पर अस्थाई /ठेका कर्मियों की भर्ती न करना, श्रम कानूनो मे मजदूर विरोधी संशोधन के प्रस्तावों को वापस लेना आदि शामिल है । महापड़ाव का समापन 11 नवम्बर को होगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here