अपने कार्य और गुणवत्ता से बनाए समाज में अपनी पहचान : पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह

0
93

Faridabad News, 27 Oct 2020 : कार्यालय पुलिस आयुक्त, फरीदाबाद में देवेंद्र सिंह, संस्थापक रोड़ सेफ्टी ओमनी फाउंडेशन, फरीदाबाद तथा बी॰एस॰ वृद्धि, अधिवक्ता व संस्था के अन्य सदस्यों के साथ आयोजित एक संगोष्ठी के दौरान सभासदों से परिचय करते समय पुलिस आयुक्त, फरीदाबाद ओ॰पी॰ सिंह द्वारा कहा गया कि हमें समाज में अपने नाम के साथ-साथ अपनी गुणवत्ता और कार्य की भी पहचान बनानी चाहिए, ताकि हम समाज में जिस तरह की सेवा करने योग्य हों, लोग उस सेवा के लिए हमें याद कर सकें। रोड़ सेफ्टी ओमनी फाउंडेशन जिले के विभिन्न विभागों को उनके द्वारा दी जाने वाली सेवाओं में निस्वार्थ भाव से सहयोग करने वाली संस्था है। श्री सिंह द्वारा बताया गया कि फरीदाबाद की जनता को अपराधों से बचाए रखने के लिए जन जागरूकता के अनेक प्रयास किए जा रहे हैं, जिनमें बीट सिस्टम के तहत एक फैमिली पुलिस ऑफिसर जनता को दिया गया है, जो अपने ऐरिया में पैदल घूम-घूमकर लोगों से संवाद स्थापित करते है और पुलिस द्वारा दी जाने वाली सेवाओं और अन्य पुलिस से संबद्ध कार्यों में लोगों की मदद करते हैं। इसके अतिरिक्त टीनेजर पुलिस प्रोग्राम के तहत किशोर बालक-बालिकाओं को नशे और विषयों से दूर रहकर सन्नमार्ग पर चलते हुए उत्तम नागरिक बनने के लिए और समाज में उनके लिए व्याप्त खतरों के प्रति उन्हें सतर्क और जागरूक बनाया जाता है। जब तक बच्चे अपने जीवन के फैसले खुद लेने लायक नहीं हो जाते तब तक उन्हें पथ भ्रष्ट करने वाले असामाजिक तत्वों से सुरक्षित रखने के लिए एक सुरक्षा चक्र बनाकर रखना चाहिए।

आजकल बच्चे कंप्यूटर या मोबाइल के माध्यम से भी आपराधिक प्रवृति के लोगों के चक्र में फँस जाते है। इसके लिए लगातार बच्चे के काम की निगरानी करना और ऐसे लोगों से सतर्क रहने के लिए जागरूक करना जरूरी है। ये बात जिले के प्रभावशाली व्यक्तियों की संगोष्ठी में भी हर सप्ताह साझा की जाती है। इस प्रकार की संगोष्ठियों के आयोजनों के माध्यम से भी जागरूकता फैलाई जा रही और लोग अपनी सुरक्षा अपनी जिम्मेदारी समझते हुए सीसीटीवी कैमरे लगवा रहे हैं, अपने-अपने ऐरिया में सुरक्षा गार्ड़ रख रहे हैं और वाहनों में एंटीथैपटिंग सिस्टम आदि लगवाकर सुरक्षा का वातावरण पैदा करने में पुलिस की मदद कर रहे हैं। जागरूकता फैलाने का सबसे अच्छा काम माताओं द्वारा किया जा सकता है, जो अपने बच्चों को घर पर ही जागरूक कर सकती हैं। अतः मदर अलायंस अभियान चलाकर माताओं को इस कार्य के लिए प्रशिक्षित किए जाने की मुहिम की जरूरत है। इसके अतिरिक्त जो लोग आपराधिक प्रवृति के नहीं हैं और किसी कारणवश छोटे-मोटे अपराध कर बैठते हैं, उन्हें अपराध की दुनिया से दूर रखने के लिए अपराधी सुधार कार्यक्रम भी पुलिस द्वारा कि जाने वाले सुधार कार्यों की सूची में है। इन प्रयासों में रोड़ सेफ्टी ओमनी फाउंडेशन के सदस्यों द्वारा बीट अधिकारियों के साथ मिलकर कार्य करने की इच्छा जताई। संस्था के सदस्यों द्वारा फरीदाबाद के विभिन्न इलाकों की समस्याओं का भी जिक्र किया गया, जिन्हें हल करने के लिए संगोष्ठी में उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए गए। संस्था के सदस्यों को किसी विभाग को सहयोग करने के साथ-साथ स्वतंत्र रूप से भी कार्य करने का सुझाव देते हुए निस्वार्थ भाव से जन सेवा करने के लिए सभी का आभार व्यक्त कर संगोष्ठी का समापन किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here