यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने 102वां स्थापना दिवस मनाया

0
1174
Spread the love
Spread the love

Mumbai, 12 Nov 2020 : देश के सबसे भरोसेमंद सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक में से एक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने 11 नवंबर 2020 को मुंबई में आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम में अपना 102वां स्थापना दिवस मनाया।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना 1919 में हुई और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने इसके पहले प्रधान कार्यालय का उद्घाटन किया था। यूनियन बैंक ने आजादी से पहले और उसके बाद भारत के बैंकिंग परिदृश्य को आकार देने में अत्यधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। देश की आर्थिक वृद्धि में इसका योगदान अब भी महत्वपूर्ण है। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने उद्योगों और निर्यात, कृषि, प्रसार, बुनियादी ढांचे और अन्य विशिष्ट व्यापार श्रेणियों जैसे सेक्टरों में ऋण बढ़ाया है। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का ऑपरेशन अब पूरे भारत में 9500+ शाखाओं में फैला है, जिसके ग्राहकों की संख्या 120 मिलियन से अधिक है।

इस अवसर पर बोलते हुए यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के एमडी और सीईओ श्री राजकिरण राय जी ने 102वें स्थापना दिवस के अवसर पर सभी यूनियन के सदस्यों और ग्राहकों को बधाई दी और एक-एक करके सभी के प्रयासों की सराहना की। यह वास्तव में हम सभी के लिए बैंक के 102वें स्थापना दिवस एक गर्व का क्षण है।

बैंक के 102 वें स्थापना दिवस के इस अवसर पर, यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया ने तीन विशेष प्रोडक्ट्स को लॉन्च किया:

प्री-अप्रूव्ड यूनियन डिजि पर्सनल लोन- कहीं भी कभी भी एंड-टू-एंड डिजिटल लेनदेन, 6 क्लिक्स से लोन के लिए आवेदन करें और 30 सेकंड के भीतर अपने बचत खाते में तुरंत राशि प्राप्त करें। यह प्री-अप्रूव्ड यूनियन डिजि पर्सनल लोन महाराष्ट्र के टीचर्स के लिए पायलट बेसिस पर लाइव किया गया था और अब पूरे भारत में केंद्रीय विद्यालय के लिए उपलब्ध कराया गया है। जल्द ही अन्य कॉरपोरेट्स के लिए यह लोन उपलब्ध होंगे। मासिक वेतन, उम्र, सिबिल स्कोर, अतीत में वित्तीय अनुशासन के आधार पर लोन मंजूर होगा।

यूनियन डिजि डॉक्स (डिजिटल डॉक’ एक्जिक्युशन) – नेशनल ई-गवर्नेंस सर्विसेज लिमिटेड (NeSL) – इंफर्मेशन यूटिलिटी ने लोन कॉन्ट्रेक्ट्स को एक्जिक्युट करने के लिए डिजिटल वेब बेस्ड प्लेटफॉर्म प्रदान करता है। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के लोन अप्रैजल सिस्टम/सीबीएस को एनईएसएल के डीडीई मॉड्यूल के साथ एकीकृत किया गया है, जिसका उपयोग एनईएसएल द्वारा प्रकाशित वेब-बेस्ड API को कॉल करने में किया जाएगा। यह 7 राज्यों दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, झारखंड, तमिलनाडु, कर्नाटक, पुडुचेरी में यूनियन पर्सनल, यूनियन माइल्स, एमएसएमई लोन (नॉन-मॉर्गेज) के लिए लागू होगा। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया इस प्रोडक्ट को लॉन्च करने वाला पहला सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक है।

स्ट्रेट थ्रू प्रोसेस (एसटीपी) – यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 5.00 करोड़ रुपए तक के लोन एमएसएमई को प्रदान करता है। यह लोन नए और साथ ही मौजूदा ग्राहकों को डिजिटल रूप से आईटीआर, जीएसटी, बैंक स्टेटमेंट अपलोड कर और लोन लेने वाले की जानकारी, प्रमोटर की जानकारी, मात्रा और ऋण के उद्देश्य को दर्ज कर 30-मिनट में इन-प्रिंसिपल अप्रूवल प्राप्त होता है। इसके बाद आवेदक को ऋण के डॉक्युमेंटेशन और डिस्बर्समेंट के लिए संबंधित शाखा से संपर्क करना होगा।

उपरोक्त प्रोडक्ट्स के लॉन्च पर श्री राजकिरण राय जी ने कहा “हम बड़े पैमाने पर ग्राहकों को डिजिटल सॉल्युशन प्रदान करने में सबसे आगे रहे हैं।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here