आरएसएस प्रमुख डॉक्टर मोहन भागवत ने कहा “दुनियां का धर्म एक लेकिन पंथ अलग अलग”, मोहन भागवत

0
168
Spread the love
Spread the love

New Delhi : अमेरिका में बसे एक बड़े भारतीयों की संस्था एन आर आई फेडरेशन द्वारा यहां आयोजित एक स्वागत समारोह में आर आर एस प्रमुख डाक्टर मोहन भागवत ने कहा मेरी अपनी सोच है कि आज भी सारी दुनिया का धर्म एक है, जबकि पंथ और संप्रदाय अलग हो सकते हैं। भागवत ने कहा धर्म हम सभी को जोड़कर रखता हैं। धर्म शाश्वत है। इसका अंत होगा तो सृष्टि समाप्त होगी। भागवत के अनुसार संत भी अलग अलग संप्रदाय के होते हैं, लेकिन अंदर से सब एक हैं। अंदर और बाहर से पवित्रता रखना बेहद जरूरी हैं। किसी भी धर्म के संतों और विद्वानों के साथ अगर आप कुछ भी वक्त गुजारते है तो इसका आपको जीवन में लाभ ही होगा। विश्व प्रसिद्ध आर्थिपोडिक डॉक्टर संजीव चौधरी और यू एस ए बेस एन आर आई फेडरेशन के चेयरमैन, संस्थापक दीपक कावड़िया द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में संस्था के प्रचार प्रसार से जुड़े पूर्व राजनियक मोहमद अमीन और राजधानी की सबसे विशाल और लोकप्रिय रामलीला के आयोजन से जुडे एन आर आई फेडरेशन के सीनियर सदस्य प्रवक्ता अंकुश अग्रवाल ने शाखा प्रमुख मोहन भागवत का स्वागत किया और भविष्य में आर एस एस प्रमुख के इस संदेश को जन जन तक फैलाने का संकल्प किया,अंकुश ने कहा अमेरिका में बसे भारतीय समूह का एक बड़ा वर्ग यहां की धरती पर आर एस एस का एक भव्य कार्यक्रम संघ प्रमुख मोहन भागवत के सानिध्य में आयोजित करना चाहता है, फेडरेशन के प्रवक्ता मोहमद अमीन ने इस अवसर पर कहा संघ सभी धर्मो का आदर करता है देश में आई किसी भी प्राकृतिक विपदा के समय संघ का हर सदस्य तन मन धन से पिडितो की सेवा में जुट गया इसलिए हर सच्चा भारतीय संघ के साथ हैं।

इस अवसर पर आर एस एस प्रमुख मोहन भागवत ने देशवासियों को दिवाली की बधाई देते हुए इस पर्व को सभी के साथ भाईचारे और प्रेम के साथ मनाने का आवाहन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here