सीजेरियन के बाद भूल कर भी न करें ये गलतियां

0
927

Health News : गर्भवती महिलाओं में से बहुतों को सी-सेक्शन शब्द सुनना अच्छा नहीं लगता। कई बार सीज़ेरियन सेक्शन करना ही पड़ता है। विशेषकर, जब इससे मां या होनेवाले बच्चे को सेहत या जान का खतरा हो। सी-सेक्शन के बाद ठीक होने में समय लगता है और जल्दी ठीक होने के लिए कुछ ख़ास बातों का ध्यान भी रखना पड़ता है।

कुछ नियमों का पालन करके आप सी-सेक्शन को जल्दी ठीक कर सकती हैं-

1. कैथटर निकालने के बाद आप थोड़ा चल फिर ज़रूर सकेंगी। लेकिन जल्दी ठीक होने के लिए बिस्तर पर पड़े रहने की बजाय आपको थोड़ी शारीरिक गतिविधयां करनी होंगी। आप बहुत अधिक नहीं चल सकेंगी।

2. अगर डॉक्टर आपको बाथरूम जाने की आज्ञा दे दें, तो कभी भी वेग रोकने की ग़लती न करें। क्योंकि, इससे आपकी तकलीफें बढ़ सकती हैं। भले ही आपको बार-बार अपने बिस्तर से उठना पड़े, लेकिन उठकर बाथरूम जाएं। इस तरह चलने-फिरने में काफी दर्द होगा, लेकिन यही तरीका ठीक है।

3. हो सकता है कि आपकी डिलिवरी के बाद दो दिनों तक आपको आईवीएस पर रहना पड़े और आपको कुछ भी खाने की परमिशन नहीं दी जाये। जब आपको खाना खाने के लिए कहा जाए तो ढ़ेर सारी मसाले वाली चीजें या मिठाइयां आदि न खाने लगें। अक्सर सी-सेक्शन के बाद आपको अपच हो जाती है। इसलिए एसिडिटी से बचने के लिए दाल-चावल जैसी चीजें खाएं।

4. वजन उठाने से बचें। अपने बच्चे को उठाने के अलावा आपको किसी भारी चीज को नहीं उठाना चाहिए। क्योंकि, उनका असर आपके घावों पर पड़ सकता है। अंदर के घावों को ठीक होने में समय लगता है। इसलिए डिस्चार्ज के बाद भी दो-तीन हफ़्तों तक ध्यान रखें और भारी सामान न उठाएं।

5. अपनी डिलिवरी के ठीक बाद से ही एक्सरसाइज न शुरू कर दें। अपने डॉक्टर से बात करें और जब वह एक्सरसाइज के लिए कहे, तभी कसरत करें। बच्चे के जन्म के बाद भी वही कपड़े पहनना अच्छा नहीं लगेगा, लेकिन अपनी पसंद की जींस पैंट पहनने से पहले थोड़ा इंतज़ार करना ठीक होगा। आपके पेट पर दबाव देना ख़तरनाक हो सकता है, जिससे खून बहना शुरू हो सकता है। अपने बच्चे को बांहों के सहारे लेकर चलें। गार्डन में स्टॉलर की मदद से घूमें। इतनी शारीरिक मेहनत पर्याप्त होगी।

6. अपने बढ़े हुए पेट को कम करने के लिए मैटरनिटी बेल्ट नहीं पहनती रहें। आपका पेट धीरे-धीरे और खुद-ब -खुद अपने पुराने आकार में आ जाएगा। मेटरनिटी बेल्ट के इस्तेमाल से आपको हार्निया होने की आशंका हो सकती है।

7. अपने घावों का काफी ख़्याल रखना होगा आपको। सर्जरी के बाद डॉक्टर द्वारा बताई गईं सभी बातों को सही ढंग से फॉलो करें। जबतक आपका घाव पूरी तरह ठीक न हो जाए, गर्म पानी से न नहाएं।

8. आराम की मुद्रा में सोएं। आपके घाव भरने और टांके कटने के बाद भी हो सकता है कि आपको पीठ के बल सोने में काफी दर्द हो। आपको करवट के बल सोना पड़ सकता है।

9. अपने बच्चे का पालना या बिस्तर अपने बिस्तर के पास रखने से आपको सुविधा होगी। इससे आपका बच्चा जब भी जागेगा या रोएगा तो आप उस तक आसानी से पहुंच सकेंगी और आपके घाव पर भी ज़ोर नहीं पड़ेगा।

10. कब्ज़ या कॉन्स्टिपेशन न होने दें। ढ़ेर सारा पानी पीएं। पेट का घाव ठीक होने में समय लगता है और पेट पर दबाव पड़ना ख़तरनाक हो सकता है।

11. केवल इसलिए ब्रेस्टफीडिंग से न बचें, क्योंकि आपके लिए देर तक बैठना मुश्किल हो जाता है। ब्रेस्टफीडिंग जहां बच्चे के लिए बहुत ज़रूरी है, वहीं यह आपको भी जल्दी ठीक होने में सहायता करती है। अगर आप पर्याप्त मात्रा में बच्चे को अपना दूध नहीं पिलाती हैं तो यह ब्रेस्ट में सूजन या मैस्टाइटिस (mastitis) और एन्गॉर्जेमेंट (engorgement) जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

12. भले ही आपका डॉक्टर छह हफ्ते बाद सेक्स करने की सलाह दें, लेकिन आप जल्दबाजी न करें। आपको मूड में आने और पर्याप्त शक्ति पाने में समय लग सकता है। अपने पार्टनर से बात करें और बाकी तरीकों से एक-दूसरे का साथ निभाएं। क्या प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना, बच्चे के लिए सुरक्षित है ?

13. घाव ठीक होने के दौरान बुखार, सरदर्द और बेचैनी जैसी तकलीफों को नज़रअंदाज न करें। यह किसी इंफेक्शन का भी संकेत हो सकता है।

14. खुद से पेनकिलर्स न खाएं। आपकी सर्जरी के बाद डॉक्टर आपको पेनकिलर्स देगें। लेकिन कोर्स पूरा होने के बाद अपनी तकलीफ होने पर बिना डॉक्टर से पूछे पेनकिलर्स न खाएं। अगर आप बच्चे को अपना दूध पिला रही हैं तो यह उसके लिए ख़तरनाक हो सकता है। रिकवरी के छह हफ़्ते बाद भी अगर आपको दर्द या तकलीफ हो तो डॉक्टर से बात करें।

15. सी-सेक्शन डिलिवरी के बाद आपको घाव और उसके निशान शरीर पर रह जाते हैं। उनकी वजह से निराश न हों, खुद से प्यार करें। याद रखें कि इन घावों के साथ आपकी ज़िंदगी में आपका बच्चा ढ़ेर सारी खुशियां लेकर आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here