युवा उद्योगपति अक्षय कुमार करन को एम एस एम ई मंत्रालय के सचिव ने स्वच्छता श्री अवार्ड से किया सम्मानित

0
1538
Spread the love
Spread the love
Faridabad News : अम्बुज एक्सेसरीज व क्लोथिंग एलएलपी के सीईओ  अक्षय कुमार करन को टेक्सटाइल सेक्टर में भारत के पहले ग्रीन फैक्ट्री बिल्डिंग बनाने पर स्वच्छता श्री अवार्ड से सम्मानित किया  गया है। दिल्ली मथुरा रोड स्थित रेडिसन ब्लू होटल में इंटीग्रेटेड एसोसिएशन ऑफ माइक्रो स्माल इंटरप्राइजेज इंडिया द्वारा आयोजित कार्यक्रम में एमएसएमई मंत्रालय के सचिव अरुण कुमार उन्हें सम्मानित किया। इसके पहले DLF स्थिति ग्रीन फैक्ट्री बिल्डिंग का फीता काटकर उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि अन्य को भी इस तरह के प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने बेहतर कार्य के लिए करन की हौसला अफजाई की। आईएमएसएमई ऑफ इंडिया द्वारा गो ग्रीन मूवमेंट की शुरुआत की गई है। इसके तहत औद्योगिक इकाइयों में स्वच्छता पर विशेष जोर देने के लिए सहित किया जाएगा। उन्हें जागरुक किया जाएगा। कार्यक्रम के शुरुआत में एसोसिएशन के चेयरमैन राजीव चावला ने उद्देश्यों से अवगत कराया। उन्होंने उद्योगपतियों को इस में बढ़-चढ़कर भाग लेने की अपील की।
करन ने ऐसी की शुरुआत
1991 में 1200 रुपये से टेक्सटाइल सेक्टर नौकरी की शुरुआत की थी शुरू से ही पर्यावरण के प्रति संवेदनशील कर्ण की इच्छा थी कि वह जब कभी फैक्ट्री बनाएंगे तो उसमें पर्यावरण स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। विश्व में प्रदूषण के लिहाज से बदनाम उद्योगिक शहर फरीदाबाद में देश का पहला टेक्सटाइल सेक्टर में ग्रीन फैक्ट्री बिल्डिंग बनाकर करन ने मिशाल कायम किया है।  करन ने बताया कि टेक्सटाइल का मतलब लोग समझते हैं यह निश्चित तौर पर प्रदूषण फैलाएगा।  लेकिन यह ऐसा नहीं है। आज इनकी  कंपनी में 200 से अधिक लोग काम करते हैं और सभी पर्यावरण के प्रति संवेदनशील है। भारत की पहली ग्रीन फैक्ट्री बिल्डिंग में शून्य प्रदूषण है। उन्होंने बताया कि ग्रीन फैक्ट्री बिल्डिंग बनाने में खर्च अधिक आता है। लेकिन जो इससे फायदा है इससे खर्च काफी बोना नजर आने लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here