सभी विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों प्रकाशोत्सव की तैयारियां आगामी 1 जून से शुरू करे : मुख्य सचिव डीएस ढेसी

0
1152
Spread the love
Spread the love

Faridabad News, 30 April 2019 : हरियाणा के मुख्य सचिव डीएस ढेसी ने कहा कि नवम्बर 2019 तक मनाए जा रहे श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर विभिन्न विश्वविद्यालयों द्वारा उनकी शिक्षाओं पर आधारित विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएं। इसके लिए सभी विश्वविद्यालय आगामी 15 मई तक अपनी कार्य योजना सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के मुख्यालय भिजवाएं ताकि उन्हें अंतिम रूप दिया जा सके।

मुख्य सचिव श्री डीएस ढेसी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव तथा सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के प्रधान सचिव एवं वित्तायुक्त डॉ. राजेश खुल्लर, शिक्षा के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पीके दास, कला एवं सांस्कृतिक विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती धीरा खंडेलवाल तथा सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीर पाल सरो के साथ विडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जिले के सरकारी एवं गैर सरकारी विश्वविद्यालयों एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ श्री गुरु नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्य सचिव डीएस ढेसी ने कहा कि श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव को गत 23 नवम्बर 2018 से आगामी 12 नवम्बर 2019 तक मनाया जा रहा है।

मुख्य सचिव डीएस ढेसी ने सभी विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों से इस प्रकाशोत्सव की तैयारियां आगामी 1 जून से शुरू करने को कहा। उन्होंने कहा कि सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग द्वारा सभी विश्वविद्यालयों को इस संदर्भ में 19 विषय भेजे गए हैं। इन विषयों में श्री गुरु नानक देव जी के जीवन दर्शन पर आधारित प्रदर्शनी, प्रश्नोत्तरी, भाषण प्रतियोगिता, शबद कीर्तन प्रतियोगिता, कवि दरबार या मुशायरा शामिल हैं। हालांकि विश्वविद्यालय अपने स्तर पर अन्य विषयों के चुनाव के लिए भी स्वतंत्र हैं। विश्वविद्यालयों में सेमिनार भी आयोजित किए जा सकते हैं। इसके लिए प्रबुद्घ वक्ताओंं की सूची भी तैयार की जाए।

मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव तथा सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के प्रधान सचिव एवं वित्तायुक्त डॉ. राजेश खुल्लर ने कहा कि श्री गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश उत्सव के उपलक्ष में लोगो लॉन्च किया गया है। इस लोगो में महिलाओं के गौरव को प्रदर्शित किया गया है। इसके तहत यह संदेश दिया गया है कि हमें महिलाओं को भुलाना नहीं चाहिए, जिन्होंने ऐसे महान व्यक्तित्वों को जन्म दिया है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय विद्यार्थियों को गुरु नानक देव की शिक्षाओं पर आधारित विषय पर शोध करने के लिए भी प्रेरित करें ताकि उनकी शिक्षाओं की वर्तमान समय में प्रासंगिकता का पता लगाया जा सके। विभाग के महानिदेशक समीरपाल सरो ने कहा कि विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन के साथ-साथ इस कार्यक्रम को यादगार बनाने के लिए वि‌श्वविद्यालय प्रांगण में 550 पौधे रोपित करने के साथ-साथ, विश्वविद्यालय प्रांगण को प्लास्टिक मुक्त करने व विशेष सफाई अभियान चलाने के सुझाव भी दिए। इस अवसर पर सीटीएम बेलिना, वाईएमसीए के वीसी ‌दिनेश कुमार, राजीव सिंह, मानव रचना विवि के वीसी आईके भट्ट, लिंग्यान विवि के राकेश भारद्वाज, उप-निदेशक नीरज कुमार, डीइओ सतेंद्र कौर वर्मा, डिप्टी डीइओ शशि बाला, एके खुराना, एसके सचदेवा व सुरेंद्र सिंह सहित अनेक प्रतिनिधि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here