एनएचपीसी ने मुख्यमंत्री राहत कोष, सिक्किम में 3 करोड़ रुपये का योगदान दिया

0
151
Spread the love
Spread the love

Faridabad : एनएचपीसी ने सिक्किमसरकार के राहत कार्यों में सहयोग करने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 3 करोड़ रुपये का योगदान दिया है। 3 अक्टूबर 2023 की रात को ल्होनक झील में आई बाढ़ के कारण हुई अप्रत्याशित प्राकृतिक आपदा के पीड़ितों को मदद देने के लिए एनएचपीसी द्वारा भुगतान राशि का चेक श्री प्रेम सिंह तमांग, माननीय मुख्यमंत्री, सिक्किम कोश्री एल.के. त्रिपाठी, कार्यपालक निदेशक (सिलीगुड़ी क्षेत्र), श्री सी.आर. दास, पावर स्टेशन प्रमुख, तीस्ता-V पावर स्टेशन, श्री लहेंडप लेपचा, परियोजना प्रमुख, तीस्ता-VI परियोजना द्वारा 10 अक्टूबर 2023 को गंगटोकमें सौंपा गया।

03 और 04 अक्टूबर 2023 की मध्यरात्रि को उत्तरी सिक्किम में ल्होनक झील के फटने से अचानक तीस्ता नदी में भारी बाढ़ आ गई थी। इसके परिणामस्वरूप तीस्ता नदी घाटी में पुल, राष्ट्रीय राजमार्ग-10 केकुछ हिस्से, शहर और अन्य बुनियादी ढांचों को गंभीर नुकसान पहुँचा है।इस आपदा की घड़ी में संपूर्ण एनएचपीसी परिवार सिक्किम के लोगों के साथ खड़ी है। एनएचपीसी प्रबंधन ने आगे बढ़कर इस वित्तीय सहायता के माध्यम से प्रभावित क्षेत्रों में राज्य सरकार के राहत प्रयासों में सहयोग देने का निर्णय लिया है।

इस आपदा में एनएचपीसी राहत कार्यों में सक्रिय रूप से भाग ले रही है और पीड़ितों के लिए लगातार राहत के विभिन्न उपाय कर रही है। प्रारंभ से हीएनएचपीसी राज्य प्रशासन के सहयोग से बाढ़ पीड़ितों के लिए लंगर, राशन वितरण, पीने का पानीतथा अन्य जरूरत की वस्तुओं की आपूर्ति कर रही है। एनएचपीसी द्वारा विभिन्न स्थानों पर चलाए जा रहे लंगर की व्यवस्था स्थिति सामान्य होने तक जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here