मातृशक्ति राष्ट्र का आधार है उसके पास हर समस्या का समाधान है : लीना गहाणे

0
120
Spread the love
Spread the love

आर्थिक, शैक्षिणीक,धार्मिक,स्वास्थ्य एवं समाजिक क्षेत्र में प्रबुद्ध मातृशक्ति की सक्रियता सुनिश्चित हो : रेनू पाठक

फरीदाबाद 24 दिसंबर। संवर्धनी समागम के प्रथम स्तर में अखिल भारतीय सह बौद्धिक प्रमुख एवं मुख्य वक्ता लीना गहाणे ने अपने उद्बोधन में ‘ भारतीय चिंतन में महिला’ विषय पर विस्तारपूर्वक चर्चा करते हुए कहा कि मातृशक्ति राष्ट्र का आधार है। वह कृष्ण की भूमिका में है उसके पास हर समस्या का समाधान है। इसलिए महिलाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा को लेकर समाज को चिंता नहीं अपितु चिंतन करना होगा। बेटा -बेटी की शिक्षा के अंतर को समाप्त करना होगा। शिक्षण क्षेत्र में सुरक्षा का वातावरण स्थापित करना होगा।

अंतिम सत्र में अखिल भारतीय संवर्धनी समागम संयोजिका रेनू पाठक ने अपने उद्बोधन में कहा कि भारत के विकास में महिलाओं की भूमिका प्रभावशाली हो। अंतोदय भाव को ध्यान में रखते हुए आर्थिक, शैक्षिणीक,धार्मिक,स्वास्थ्य एवं समाजिक क्षेत्र में प्रबुद्ध मातृशक्ति की सक्रियता में वृद्धि सुनिश्चित करना मुख्य ध्येय है। इस समागम में अभीतक तीन लाख बहनों की भागीदारी हो चुकी है। दस करोड़ बहनों में परिवर्तन करने का दृढ संकल्प का लक्ष्य निर्धारित किया हुआ है। जो सभी के सहयोग समर्थन से पूर्ण होगा।

शिक्षाविद सविता भगत ने अपने उद्बोधन में कहा कि कार्य में लैंगिक समानता होनी चाहिए। खाना लड़की ही क्यों बनाए माता को भोजन बेटों से भी बनवाना चाहिए। डॉ पुनिता, डॉ रंजना अग्रवाल, अनीता ने भी सत्र में मातृशक्ति के समक्ष अपने विचार प्रस्तुत किए।

सेक्टर 10 स्थित मिलन वाटिका में आयोजित संवर्धनी समागम में बनाए गए सेल्फी पॉइंट में मातृशक्ति ने रानी लक्ष्मी बाई, माता जीजाबाई, माता गूजरी, गुंजन सक्सेना जैसी वीरांगनाओ के कटआउट के साथ चित्र लेने में विशेष रूचि दिखाई। समारोह स्थल पर विभिन्न संगठनों की स्टॉल पर सभी के लिए जागरूकता संबंधित साहित्य उपलब्ध था।

प्रांत संयोजिका डॉ अंजलि जैन, विभाग संयोजिका निधि जैन, प्रतिमा मनचंदा, रजनी गुलाटी, शालिनी गुप्ता, डॉ ऋचा गुप्ता, विधायक सीमा त्रिखा, महिला आयोग की चेयरपर्सन रेनू भाटिया, भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष राजबाला सरदाना, महासचिव सीमा भारद्वाज कंचन डागर, सुषमा कोलंबिया, चित्रा जी विशेष रूप से मंचासीन रहे। कार्यक्रम में फरीदाबाद से 35 संस्थाओ की प्रतिनिधि के रूप में 3300 से अधिक महिलाओं एवं समाज के प्रबुधजन नागरिक इस समागम में उपस्थित रहे।

प्रश्नावली सत्र में एक गृहणी वंदना मल्होत्रा ने सुझाव देते हुए कहा कि नशे के कारण छेड़छाड़ जैसी घटनाओं के कारण ग्रामीण अंचल में नारी शिक्षा प्रभावित होती है।i फरीदाबाद संवर्धिनी समागम में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के उत्तर क्षेत्र संपर्क प्रमुख श्रीकृष्ण सिंघल, प्रांत सह संचालक प्रताप सिंह, प्रांत संपर्क प्रमुख श्रीमान गंगा शंकर मिश्र, पूर्व मंत्री विपुल गोयल,वरिष्ठ भाजपा नेता टीपरचंद शर्मा, मनमोहन गुप्ता, डॉ अरविंद सूद का गरिमामयी सानिंध्य प्राप्त हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here