पारदर्शिता व निष्पक्षता से अपनी ड्यूटी का निर्वहन करते हुए आगामी लोकसभा चुनाव को सफल बनाए : लोक सभा निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह

0
54
Spread the love
Spread the love

फरीदाबाद, 22 अप्रैल। लोक सभा निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि सही प्रशिक्षण लेने के उपरांत कार्य के बेहतर क्रियान्वयन के लिए कमी की गुंजाइश बहुत ही कम होती है। लोक सभा निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार  लोक सभा चुनाव प्रक्रिया से जुड़े सहायक रिटर्निंग अधिकारी, सेक्टर ऑफिसर्स, प्रजाइडिंग ऑफिसर और सहायक प्रजाइडिंग ऑफिसर को लोक सभा पर्व  चुनाव-2024 के सफल चुनाव संचालन के लिए चुनाव प्रक्रिया से जुड़े विभिन्न ऑफिसर्स को टिप्स देते हुए यह बात कही। वहीं प्रशिक्षण में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आदर्श आचार संहिता कि हिदायतों के अनुसार चुनाव पर्व प्रणाली से जुड़े अधिकारियों के स्वयं के चुनाव पर्व में मतदान करने के लिए फार्म-12 और 12ए भी भरवाए गए हैं। ताकि वे चुनाव पर्व में मतदान के भागीदार बन सकें।

लोक सभा निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह आज सोमवार को भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार लोकसभा चुनाव-2024 के चुनाव पर्व को फेयर एण्ड फ्री करवाने के लिए अधिकारियों के प्रशिक्षण कार्यशाला में स्थानीय अमृता अस्पताल के ऑडिटोरियम में संबोधित कर रहे थे। बता दें कि जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा जिला फरीदाबाद में निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार आरओ लेवल के अधिकारियों को मॉर्निंग और इवनिंग सत्र में चार दिवसीय रैंडमली प्रथम चुनाव प्रक्रिया से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर बारीकी से प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सबसे मतदान केन्द्रों में उम्मीदवारों के पोलिंग एजेन्टो की मौजूदगी में मॉक पोल करवाकर इवीएम को क्लीयर करके क्लोज जरूर करें। मतदान दौरान हर दो दो घण्टे में मतदान प्रतिशत की जानकारी सेक्टर आफिसर्स के जरिये सहायक रिटर्निंग अधिकारी को देना सुनिश्चित करें। भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार मीडिया कवरेज मतदान केन्द्रों बाहर ही करवाई जाएं। मतदान केन्द्रों के भीतर मीडिया कवरेज कवरेज पर आयोग की हिदायतों के पूर्णत पाबंदी सुनिश्चित की गई है। मतदान केन्द्रों के भीतर कोई भी व्यक्ति मोबाइल फोन लेकर अन्दर नहीं जा सकता है। प्रशिक्षण कार्यशाला में रिटर्निंग अधिकारी द्वारा उम्मीदवारों के पंजीकरण की प्रक्रिया को संगठित करना, चुनाव तंत्र की निगरानी करना, मतदान केंद्रों का निर्माण और प्रबंधन करना सहित तमाम चुनाव प्रक्रिया से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर बारीकी से जानकारी दी गई।

लोक सभा निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया में ड्यूटी पर लगाए गए वे अधिकारी जो कि फरीदाबाद लोक सभा क्षेत्र के हैं तथा अन्य लोक सभा क्षेत्रों में मतदाता हैं, ऐसे मतदाताओं के लिए फार्म 12 व फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के अलावा अन्य लोक सभा क्षेत्र में मतदाताओं के लिए फार्म 12 भरना अनिवार्य है।

सीईओ जिला परिषद सतबीर मान और डीडीपीओ कैप्टन प्रदीप कुमार द्वारा संयुक्त रूप से चुनाव प्रक्रिया से जुड़ी अधिकारियों को प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रशिक्षित करते हुए कहा कि Assistant Returning Officer /सहायक वापसी अधिकारी को लोक सभा चुनाव में किस प्रकार काम करना, चुनाव की तैयारियों में कैसे सहायता करना, मतदान केंद्रों की जांच किस तरह से करनी है, बारे विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। वहीं Sector Officer/ सेक्टर अधिकारी द्वारा मतदान केन्द्रों की निगरानी करना, मतदान अधिकारियों की तैयारियों के संगठित करना, मतदान प्रक्रिया की स्मूथ प्रचलन सुनिश्चित करने बारे में बारीकी से प्रशिक्षण में जानकारी दी गई।

उन्होंने Presiding Officer / प्रैजाइडिंग अधिकारी को मतदान केंद्र पर सामान्य निगरानी में बिजली, पेयजल, रैम्प सहित निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार अन्य मूलभूत सुविधाओं की चेकिंग करना, मतदान प्रक्रिया का प्रबंधन करना, चुनाव अधिकारियों की गणना और भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार प्रबंध करने बारे में विस्तृत जानकारी दी। वहीं Assistant Presiding Officer /सहायक प्रैजाइडिंग अधिकारी द्वारा प्रैजाइडिंग अधिकारी के साथ सहायता करना, मतदान प्रक्रिया में सहायता प्रदान करना, मतदान केंद्र की सुरक्षा और क्रियान्वयन में सहायता करने के लिए प्रशिक्षित किया गया।

उन्होंने प्रशिक्षण कार्यशाला में बताया कि Returning Officer /रिटर्निंग ऑफिसर को मतदान के सभी प्रक्रियाओं का प्रबंधन करना होता है, जिसमें मतदाताओं की सूची का तैयारी, वोटिंग मशीनों का प्रबंधन और नतीजों का घोषणा शामिल होता है। वहीं Assistant Returning Officer /सहायक रिटर्निंग ऑफिसर को पूरा सहयोग/ समर्थन करना हैं, उन्हें अपने कार्यों का सही तरीके से पूरी मदद करनी हैं। इसके अलावा Sector Officer/ सेक्टर अधिकारी को मतदान केंद्र के अलग अलग  विभागों का तमाम  प्रबंधन करना होता है, जिसमें उम्मीदवारों  के पंजीकरण, मतदान केंद्रों की तैयारी और सुरक्षा शामिल है। प्रशिक्षण कार्यशाला में Presiding Officer मतदान केंद्र के प्रैजाइडिंग अधिकारी को मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव प्रक्रिया का संचालन कैसे करना होता है। Assistant Presiding Officer/सहायक प्रैजाइडिंग  अधिकारी को पूरी निष्ठा के साथ साथ मतदान केन्द्रों पर  मदद करने और मतदान केंद्र पर सभी तकनीकी और व्यवस्थात्मक काम करना हैं।

सीईओ जिला परिषद सतबीर मान ने प्रशिक्षण के दौरान  मार्क-पोल मतदान विधि के लिए EVM /इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन, VVPAT/ वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल, CU /कंट्रोल यूनिट, और BU/बैलेट यूनिट के बेहतर क्रियान्वयन और सेटिंग की पूरी बारीकी से विस्तृत  जानकारी दी गई।

उन्होंने कहा कि EVM /इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को सुनिश्चित करें कि EVM चालू है और सही तरह से काम कर रही है। स्क्रीन साफ और मतदाताओं के लिए पूरी तरह से ठीक है, यह सुनिश्चित करें। वहीं उम्मीदवारों का चयन करने के लिए बटनों की प्रक्रिया की पूरी निष्ठा के साथ साथ जाँच करें। साथ ही चुनाव प्रक्रिया से जुड़े अधिकारी यह भी सुनिश्चित करें कि EVM को सुरक्षित रूप से रखा गया है और मतदान प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार से छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। मतदान शुरू होने से पहले, मतदान केन्द्रों पर उम्मीदवारों के मतदान एजेंटों और मतदाताओं को EVM के सही काम की डेमो के रूप में उन्हें आत्मसात करने के लिए एक नकली वोट कराएं। VVPAT/वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल, सुनिश्चित करें कि VVPAT प्रिंटर EVM से ठीक तरह से कनेक्ट करना पूर्णतया सुनिश्चित करें। पेपर रोल को सही ढंग से लोड करें और यह भी तय करें कोई जाम नहीं है। साथ सुनिश्चित करें कि VVPAT डिस्प्ले स्पष्ट और मतदाताओं के लिए उचित दृश्यमान है। वहीं VVPAT प्रिंटर की जांच करें और सुनिश्चित करें कि यह सही तरह से काम कर रहा है।

उन्होंने कहा कि मतदाताओं को EVM पर अपने वोट को सत्यापित करने के बाद VVPAT पेपर ऑडिट ट्रेल पर जांच करने के लिए निर्देश प्रदान करें।CU /कंट्रोल यूनिट सुनिश्चित करें कि CU, EVM और VVPAT से सही तरह से कनेक्ट है। CU की आंतरिक सेटिंग्स को चुनौतियों के अनुसार सही ढंग से क्रियान्वित किया जा रहा है। साथ ही चुनाव पर्व प्रक्रिया से जुड़े अधिकारी सुनिश्चित करें कि CU की मेमोरी साफ है और वोटों को सही तरह से रिकॉर्ड करने के लिए तैयार है। यह सुनिश्चित करने के लिए अंतिम जांच करें कि CU अपने दोनों EVM और VVPAT के साथ सही ढंग से संचार कर रहा है। BU/ बैलेट यूनिट को सुनिश्चित करें कि BU EVM और CU से सही ढंग से कनेक्ट है। इसके अलावा यह सुनिश्चित करें कि BU पर उम्मीदवारों के लिए बटन सही ढंग से लेबल किए गए हैं और चुनाव में उम्मीदवारों के लिए सही हैं।

प्रशिक्षण कार्यशाला में चुनाव पर्व प्रक्रिया से जुड़े विभिन्न अधिकारियों को ईवीएम, वीवीपैट,सीयू और पीयू के आपसी तालमेल करके भी प्रशिक्षित किया जा रहा है।

प्रशिक्षण कार्यशाला में एडीसी आनन्द शर्मा, सीईओ जिला परिषद सतबीर मान, सीटीएम अंकित कुमार, ज्वाइंट कमिश्नर एमसीएफ करण सिंह भगोरिया, ज्वाइंट कमिश्नर एमसीएफ गजेन्द्र सिंह सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here