‘डूसू चुनाव में दीपेंद्र हुड्डा ने उतारी अपनी फौज”

0
286
Spread the love
Spread the love

Faridabad : दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय छात्र संघ चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज है। डूसू के चुनाव चार वर्ष के अंतराल के बाद 22 सितंबर को हो रहे हैं। इससे पहले 2019 में चुनाव हुए थे। वहीं राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने दिल्ली को तीनों ओर से घेरे हरियाणा के जिलों की टीम की जिम्मेवारी लगाई है। फरीदाबाद सोशल मीडिया कांग्रेस से जिलाध्यक्ष प्रदीप धनखड़, एनएसयूआई Govt नेहरु कॉलेज के प्रेसीडेंट सन्नी बादल को उतारा प्रचार के लिए। इस मौके पर प्रदीप धनखड़ ने बताया कि वहीं हरियाणा की अहम भूमिका नजर आ रही है। डूसू चुनाव में चारों कैंडिडेट हरियाणा से ही है जिसके तहत विधि अंतिम वर्ष के छात्र झज्जर से हितेश गुलिया को डूसू अध्यक्ष पद का उम्मीदवार बनाया गया है।

सोनीपत से अभी दहिया को एनएसयूआई ने उपाध्यक्ष पद का उम्मीदवार बनाया है। वह बौद्ध अध्ययन में स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर रहे हैं। फरीदाबाद सेक्टर 37 से 24 वर्षीय यक्षणा शर्मा सचिव पद की उम्मीदवार है। वह ‘कैंपस लॉ सेंटर’ में विधि अंतिम वर्ष की पढ़ाई कर रही हैं।

गुडगॉव से शुभम कुमार चौधरी एनएसयूआई के संयुक्त सचिव पद के उम्मीदवार है। वह भी बौद्ध अध्ययन में स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर रहे हैं। वहीं सन्नी बादल ने बताया की फरीदाबाद से करीब 25 से 30 हजार छात्र, छात्रायें दिल्ली पढ़ने जाते हैं और हम लगातार सभी मेट्रो, रेलवे स्टेशन और बस अड्डों पर डीयू में पढ़ने वाले छात्रों से संपर्क कर रहें हैं और दिल्ली के कॉलेजों में जाकर अपने मेनिफेस्टो बता रहे हैं की एनएसयूआई ने महिला फोकस्‍ड मेनिफेस्‍टो जारी किया है। इसमें महिलाओं का खास ध्‍यान रखा गया है। कॉलेज के बाहर सुरक्षा बल गश्‍त बढ़ाने का बंदोबस्‍त करने की बात की गई है। मासिक धर्म की छुट्टियां, संकट के समय किए गए फोन कॉल के लिए आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रणाली बनाने, 10 सूत्रीय घोषणापत्र जारी किया था। इसमें हिंसा मुक्त परिसर, शिकायत निवारण कक्ष, फीस में कोई वृद्धि नहीं, सभी के लिए छात्रावास, मुफ्त मेट्रो पास, 24 घंटे उपलब्धता वाला एक पुस्तकालय, परिसर में रेलवे आरक्षण काउंटर, सक्रिय प्लेसमेंट सेल, मुफ्त वाईफाई और बेहतर बुनियादी ढांचा जैसे मुद्दे शामिल हैं। महिला-केंद्रित ‘हर मेनिफेस्टो’ छात्राओं को ‘उत्पीड़न, नैतिकता के ठेकेदारों से बचाने और साइबर-अपराध के जरिये धमकाने’ के मामलों में कानूनी सहायता का भी वादा किया गया है। इस मौके पर हरिवंश चौधरी, चेतना दहिया, प्रदीप घनघस, अभिषेक खारी, राजकुमार गोगा, जगदीश गेरा, राहुल नागर, नेहा खान, प्रदीप हुड्डा, दीपांशु शौकीन, पीयूष मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here