प्रिंसिपल से परेशान 9वीं की छात्रा ने लगाया फंदा, PGI में तीन घंटे तक तड़फती रही

0
941
Spread the love
Spread the love

Rohtak News : रोहतक के एसबी मॉडल स्कूल में एक नौंवी कक्षा की छात्रा को अपनी प्रिंसिपल से छेड़छाड़ की शिकायत करना इतना महंगा पड़ा कि उसे इसकी कीमत अपनी जान देकर चुकानी पडी। प्रिंसिपल से तंग आकर छात्रा ने घर में फंदा लगा लिया। परिजन उसे पी.जी.आई. लेकर गए लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हरि सिंह कॉलोनी निवासी मीना देवी ने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी से स्कूल का एक लडका छेड़छाड़ करता था और उस पर दोस्ती करने का दबाव बना रहा था। छात्रा ने इंकार कर दिया और प्रिंसिपल मैडम को लड़के की शिकायत कर दी। यह शिकायत छात्रा पर भारी पडी, प्रिंसिपल ने 5 अक्तूबर को लड़की के परिजनों को स्कूल में बुला लिया। छात्रा को उनके परिजनों के सामने ही प्रिंसिपल मैडम ने भला-बुरा कहा और झूठा आरोप लगाने की बात कही। परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी ने मैडम से माफी भी मांगी लेकिन मैडम का दिल नहीं पसीजा। जिसके कारण किरण मानसिक तौर पर बुरी तरह से टूट गई। परिजन उसे समझा-बुझाकर अपने साथ घर ले आए। लेकिन बेटी गुमसुम थी, कुछ नहीं बोली। ऊपर कमरे में कपड़े बदलने के लिए चली गई। जब वह काफी देर तक नीचे नहीं आई तो उसकी मां ऊपर गई। किरण पंखे से फंदा लगाकर लटकी हुई थी लेकिन उसकी सांसे चल रही थी।

परिवार के लोगों ने उसे तुरंत पीजीआई पहुंचाया, लेकिन वहां पर डॉक्टरों की हड़ताल चल रही थी। तकरीबन तीन घंटे तक उसकी सांसे चलती रही लेकिन उसे वैंटिलेटर नहीं मिला। ड्यूटी पर जो डॉक्टर तैनात थे, उन्होंने कहा कि अगर इसकी जान बचाना चाहते हो तो इसे किसी दूसरे अस्पताल में ले जाओ। बेटी की जान बच जाए इस उम्मीद में परिवार उसे निजी अस्पताल में लेकर गए लेकिन वहां जाते ही उसने 5 मिनट के अंदर दम तोड़ दिया। पुलिस ने किरण के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया और मामले की जांच शुरू कर दी।

जिला पुलिस अधीक्षक पंकज नैन का कहना है कि परिजनों के बयान के आधार पर स्कूल की प्रिंसिपल व स्कूल प्रबंधन के खिलाफ आत्महत्या के लिए विवश करने का मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। जहां तक पीजीआई पर आरोप हैं उनकी भी जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here