राष्ट्रीय पर्यावरण युवा मंच के अंतर्गत पर्यावरण विषय पर समूह चर्चा का आयोजन किया

0
1569
Spread the love
Spread the love

Faridabad News, 19 Jan 2021 :  पर्यावरण संरक्षण की गतिविधियों में युवाओं की भागीदारी को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा आज राष्ट्रीय पर्यावरण युवा मंच 2021 के अंतर्गत ‘पर्यावरण चेतनाः पर्यावरण एवं स्थिरता’ विषय विश्वविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि रहे शिक्षाविद एवं पर्यावरण कार्यकर्ता प्रो. के.सी. अरोड़ा ने किया तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की। कार्यक्रम का संचालन विश्वविद्यालय के इको-क्लब वसुंधरा द्वारा पर्यावरण विज्ञान विभाग के सहयोग से किया गया। पर्यावरण संरक्षण गतिविधि यह कार्यक्रम देशभर में स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय युवा दिवस को शुरू हुए राष्ट्रीय पर्यावरण युवा मंच 2021 के अंतर्गत शुरू हुई पर्यावरण संरक्षण गतिविधियों का हिस्सा है जोकि 26 जनवरी तक जारी रहेंगी। यह आयोजन पर्यावरण संरक्षण गतिविधि संगठन के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है।

इस अवसर पर बोलते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने पर्यावरण संरक्षण में युवाओं की भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किये गये यह जन अभियान की सराहनीय पहल है। पर्यावरण संरक्षण धरती मां की सेवा बताते हुए कुलपति ने कहा कि पर्यावरण क्षरण के लिए मानव खुद ही जिम्मेदार है, इसलिए इसके संरक्षण के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी होगी। कुलपति ने कहा कि फरीदाबाद जैसे शहर में वायु प्रदूषण एक बड़ी समस्या है और इस समस्या के समाधान के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा।

मुख्य अतिथि प्रो. के.सी. अरोड़ा ने कार्यक्रम की प्रासंगिकता पर बोलते हुए कहा कि प्रत्येक वर्ष पर्यावरण को लेकर विभिन्न दिवसों का आयोजन किया जाता है लेकिन ऐसे कार्यक्रमों की सार्थकता तभी है, यदि ऐसे कार्यक्रमों से जन जुड़ाव पैदा हो। केवल चर्चा करने से बात नहीं बनेगी, इसके लिए सभी को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने पर्यावरण संरक्षण के लिए पानी, प्लास्टिक और प्लांटेशन के विचार का उल्लेख करते हुए कहा कि हमें जल संचयन, प्लास्टिक उपयोग को न्यूनतम करके तथा पौधारोपण को बढ़ावा देकर पर्यावरण संबंधी कई समस्याओं का समाधान कर सकते है।

इससे पहले, पर्यावरण विभाग की अध्यक्षा डाॅ. रेनूका गुप्ता ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पर्यावरण युवा मंच 2021 के अंतर्गत आयोजित प्रतियोगिताओं में पर्यावरण चेतना के विषय पर विभिन्न स्तरों पर समूह चर्चाओं का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें विश्वविद्यालय स्तर, क्षेत्रीय स्तर तथा अखिल भारतीय स्तर पर समूह चर्चाएं शामिल हैं। प्रतियोगिता के आधार पर जे.सी. बोस विश्वविद्यालय से दो विजेताओं का चयन किया जायेगा जो 23 जनवरी को क्षेत्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। इसी प्रकार, क्षेत्रीय प्रतियोगिता के आधार पर राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए प्रतिभागियों का चयन किया जायेगा और 26 जनवरी को पर्यावरण पर यूथ आइकान अवार्ड की घोषणा की जायेगी।

कार्यक्रम के संचालन में डाॅ. हरिश कुमार, डाॅ. साक्षी कालरा, डाॅ. प्रीति सेठी, डाॅ. प्रशांत कुमार, डाॅ. रूपाली मदान, डाॅ. सोमवीर बजाड़, डाॅ. अनीता गिरधर और मनीष गुप्ता ने भूमिका निभाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here