अपराध शाखा सेक्टर 30 ने 10 दिन पहले हुई स्कारपियों लूट की वारदात को सुलझाया

0
1771

Faridabad News : श्रीमान पुलिस आयुक्त श्री अमिताभ सिंह ढिल्लो के दिशा निर्देश पर प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 निरीक्षक संदीप व उनकी टीम के सब इंस्पेक्टर रविंद्र कुमार, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर सुभाष, हवलदार राजीव, सिपाही मनोज कुमार, सिपाही अंसुल व सिपाही प्रदीप ने सराहनीय कार्य करते हुए स्कारपियों लुट की वारदात को सुलझाने में कामयाबी हासिल की है।

पकड़े गए आरोपी का विवरणः-

1. राजकुमार उर्फ राजू पुत्र दर्शन सिंह निवासी बाह अड्डा इटावा उत्तरप्रदेश।

2. रिंकू पुत्र गांव लालपुर थाना अजीतमल जिला ओररया उत्तरप्रदेश।

3. सुधीर उर्फ कन्ना पुत्र मदन निवासी नगला सिसिया पुलिस पोस्ट हवाई पट्टी थाना सैफई इटावा उत्तरप्रदेश।

अपराध शाखा सेक्टर 30 प्रभारी संदीप मोर ने विशेष सूत्रों से मिली सूचना पर मात्र 10 दिन पहले बल्लभगढ़ से हुई स्कारपियों गाड़ी की लूट की गुत्थी को सुलझाकर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

आप को बताते चले कि बल्लभगढ़ एरिया के सेक्टर 55 में स्थित शर्मा टैक्सी जोकि टैक्सी सर्विस का काम करते हैं के मोबाइल नंबर पर सुबह 4 तारीख को अनजान नंबर से कॉल आया कॉल करने वाले ने अपने आप को रेलवे का बड़ा अधिकारी बतलाया और कहा कि आप अपनी स्कारपियो गाड़ी बल्लभगढ़ मेट्रो स्टेशन के पास भेज दो मुझे फरीदाबाद और पलवल के रेलवे स्टेशनों की तलाशी करनी है।

आरोपी ने अपने एक साथी को शर्मा टैक्सी के ऑफिस जो कि संजय कॉलोनी में स्थित है पर भेज कर कुछ रुपए एडवांस दे दिए ताकि कोई शक ना हो और बल्लभगढ़ मेट्रो स्टेशन से दो आरोपी स्कारपियो गाड़ी में सवार होकर पलवल रेलवे स्टेशन पर गाड़ी को ले गए वहां पर आरोपियों ने गाड़ी के ड्राइवर को नशीला पदार्थ जूस में घोलकर पिला दिया जिससे ड्राइवर बेहोश हो गया और आरोपियों ने वहां से गाड़ी को लेकर गाड़ी के ड्राइवर को थाना सादाबाद यूपी मथुरा के एरिया में सुनसान जगह पर फेंक दिया और गाड़ी को लेकर फरार हो गए थें।

इस वारदात की जांच अपराध शाखा सेक्टर 30 द्वारा की गई दौराने जांच पता लगा कि जिस मोबाइल न0 से गाड़ी बुक की गई थी वो एक दिन पहले ही फर्जी दस्तावेजों पर एक्टिवेट करवाया गया था गहन जांच और साइबर सेल की मदद से जांच में सामने आया कि गाड़ी की लूट की वारदात को यूपी इटावा के रहने वाले राजकुमार उर्फ राजू रिंकू व उनके साथी सुधीर उर्फ कन्ना द्वारा अंजाम दिया गया है।

पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि उन्होंने इस तरह की करीब 30 वारदातों को अंजाम दे रखा है। देश के अलग-अलग हिस्सों से इसी तरीके से गाड़ी लूटकर अपने क्षेत्र इटावा भिंड औरैया एटा मैनपुरी इत्यादि में भेज देते हैं। जहा पर गाडि़या फर्जी दस्तावेजों पर चलती रहती है। आरोपी पहले भी कई बार जेल जा चुके हैं। व इन पर अदालत में कई-कई मुकदमे विचाराधीन है।

आरोपियों को अदालत में पेश कर अदालत से पुलिस रिमांड पर लेकर लूटी हुई गाड़ी को बरामद किया जाएगा।

प्रभारी क्राईम ब्रांच ने बताया कि पकड़े गए सुधीर उर्फ कन्ना पर हत्या व पुलिस टीम पर गोली चलाने के संगीन अपराध जैसे मुकदमे जैसे कुल 13 मुकदमे उत्तरप्रदेश इटावा के आस पास के थानों में दर्ज रजिस्टर है। आरोपियों से गाडी की आर.सी व चाबी बरामद की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here