अपने डिजिटल कौशल की बदौलत एंजेल ब्रोकिंग ने एक महीने में सबसे अधिक नए ग्राहक बनाए

0
100

Mumbai News, 17 April 2021 : जेम्स कैश पेनी के बुद्धिमानी भरे शब्दों में, ‘ग्रोथ महज तुक्का नहीं है; यह साथ में काम करने वाली शक्तियों का परिणाम है’। एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड ने हाल ही में मासिक सकल ग्राहक अधिग्रहण (मंथली ग्रॉस क्लाइंट एक्विजिशन) में इंडस्ट्री में एक नया मानदंड स्थापित करके इस बात को साबित किया है। अपने रिकॉर्ड-तोड़ प्रदर्शन में डिजिटल स्टॉकब्रोकर ने मार्च ’21 में 3,79,233 नए ग्राहकों को जोड़ा और ब्रोकिंग उद्योग में अपनी गति को कायम रखा है। मार्च-21 तक एंजेल ब्रोकिंग का कुल क्लाइंट बेस बढ़कर 4.1 मिलियन हो गया है।

इस उपलब्धि के साथ एंजेल ब्रोकिंग ने ग्रॉस क्लाइंट्स की संख्या में वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में 0.96 मिलियन की बढ़ोतरी हासिल की है, जो वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही या जब इसने अपने विशुद्ध रूप से डिजिटल ऑपरेशंस को शुरू किया था, तब के मुकाबले 14.1 गुना अधिक है। एंजेल ब्रोकिंग के एवरेज डेली टर्न ओवर (ADTO) ने भी इसी अवधि में 15 गुना वृद्धि का अनुभव किया है, और वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में 3.75 ट्रिलियन रुपए पर रहा। इसके साथ ही वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही के 54 मिलियन के मुकाबले वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में कुल ट्रेड्स 218 मिलियन हो गए हैं। एडीटीओ और समग्र ट्रेड्स ने कैश, एफएंडओ और कमोडिटी सहित हर सेगमेंट में कई गुना वृद्धि की है।

यह बेहतरीन वृद्धि एंजेल ब्रोकिंग के डिजिटल-फर्स्ट अप्रौच का परिणाम है, जिसमें इसने 2019 के बाद से ही अपने सभी ग्राहकों को डिजिटली सेवाएं देना शुरू किया है। ई-केवाईसी, डी-केवाईसी, डिजिटल एडवाइजरी ‘एआरक्यू’ (अब एआरक्यू प्राइम), और एंजेल बीईई सहित डिजिटल संपत्तियों को विकसित करने के पहले 2015 में एंजेल हाइब्रिड मॉडल पर काम करता था और आज यह डिजिटल ब्रोकर बन चुका है। यह तब की परिस्थिति है जब एंजेल ने भारत के टियर-2 और टियर-3 शहरों पर फोकस शुरू कर दिया था। वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में टियर-2 और टियर-3 शहरों ने मिलकर एंजेल ब्रोकिंग में 92% ग्रॉस क्लाइंट एडिशन का योगदान दिया। वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में टियर-2 शहरों से क्लाइंट जोड़ वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही की तुलना में 6.7 गुना बढ़ गया, जबकि यह इसी अवधि के लिए टियर-3 शहरों के मामले में 9.3 गुना अधिक था।

इस उपलब्धि पर बोलते हुए, श्री प्रभाकर तिवारी, चीफ ग्रोथ ऑफिसर, एंजेल ब्रोकिंग ने कहा, “आज एंजेल ब्रोकिंग अपने डिजिटल-फर्स्ट अप्रौच के साथ उद्योग के बेंचमार्क को फिर से परिभाषित करने के मिशन पर है। टियर-2 और टियर-3 शहरों के अधिक मिलेनियल्स स्टॉक मार्केट से जुड़कर अपनी कमाई के स्रोतों को बढ़ाना चाहते हैं। हमने यह सुनिश्चित किया है कि उनके जुड़ने से लेकर ट्रेडिंग और यहां तक कि प्रशिक्षण तक सब कुछ यथासंभव सरल रहे। टच-ऑफ-द-बटन ऑफरिंग इस संबंध में महत्वपूर्ण रही है, जिसने हमें अल्ट्रा-ग्रोथ ट्रेजेक्टरी पर लॉन्च किया है।”

श्री विनय अग्रवाल, सीईओ, एंजेल ब्रोकिंग ने कहा, “हमारी नवीनतम उपलब्धि उस कड़ी मेहनत का प्रत्यक्ष परिणाम है जो पिछले कुछ वर्षों में प्रत्येक एंजेलाइट ने की है। हमारी डिजिटल बदलाव की रणनीति लॉन्च होने के पहले दिन से ही ग्राहकों के बीच लोकप्रिय रही है। उसके बाद से हमने पीछे मुड़कर नहीं देखा और अपनी ऑफरिंग में नई-नई सुविधाएं जोड़ते गए। अब हम जो देख रहे हैं, वह उसका ही मिला-जुला प्रभाव है, जो कि हमारे मार्केटिंग प्रयासों और संरक्षकों के मौखिक प्रचार का ही परिणाम है। हमारा साथ देने के लिए हम सभी हितधारकों का आभार व्यक्त करना चाहेंगे, जिनकी बदौलत हमने यह उपलब्धि हासिल की। मुझे विश्वास है कि हम आने वाले समय में भारत में ब्रोकिंग इंडस्ट्री का चेहरा बदलने जा रहे हैं।

टेक्नोलॉजी के जानकार मिलेनियल्स और पहली बार के निवेशकों पर अपने मजबूत फोकस को देखते हुए नए ग्राहकों के आने से हमारे कुल ग्राहकों की औसत आयु वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 34 वर्ष से घटकर वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में 30 वर्ष हो गई है। इस सफलता का एक हिस्सा फिनटेक ब्रोकर के फ्लैट ब्रोकरेज स्ट्रक्चर का भी है। इसके डिलीवरी ट्रेड निशुल्क है और इसमें एफ एंड ओ, कमोडिटी और इंट्रा-डे ट्रेड्स के लिए बहुत अधिक आकार के बावजूद प्रति ट्रेड 20 रुपए का शुल्क लिया जाता है।

आज दो+ दशक पुरानी ब्रोकिंग कंपनी में क्लाइंट एंगेजमेंट के 5 से अधिक डिजिटल चैनल, 150+ कस्टमर टारगेट सेगमेंट, 60+ पर्सनलाइज्ड ऑफरिंग्स, 120+ एडवाइजरी सेगमेंट और 6 से ज्यादा मशीन-लर्निंग से संचालित कस्टमर एंगेजमेंट प्रक्रिया हैं। रजिस्ट्रेशन करने और ट्रेड शुरू करने में ग्राहक को 5 मिनट से कम समय लगता है।

एंजेल ब्रोकिंग ने ग्राहकों के अनुभव को बढ़ाने के लिए अपने संपूर्ण संचालन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग का बड़े पैमाने पर उपयोग किया है। इसने स्मार्ट मनी, एआरक्यू प्राइम, स्मार्टएपीआई और एंजेल एम्प्लीफायर्स सहित कई ग्राहक-केंद्रित संपत्तियों को विकसित किया है। सभी ग्राहकों को सेवा देने को दिल में रखते हुए एंजेल ब्रोकिंग ने उद्योग की कई कंपनियों के साथ थर्ड-पार्टी टाई-अप को भी शामिल किया है, जिसमें इंटरनेशनल इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म ‘वेस्टेड’, स्मार्ट इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म ‘स्मॉलकेस’ और स्ट्रैटेजिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ‘स्ट्रीक’ शामिल हैं। ये सभी थर्ड-पार्टी सर्विसेस एंजेल ब्रोकिंग मोबाइल ऐप के माध्यम से एंजेल ब्रोकिंग ग्राहकों के लिए उपलब्ध हैं।

यह कहने की जरूरत नहीं है कि एंजेल ब्रोकिंग आज भारत में स्मार्ट निवेश के भविष्य का नेतृत्व कर रहा है। यह अपनी स्टार्टअप मानसिकता और अद्वितीय फिनटेक संचालित दृष्टिकोण के साथ ऐसा कर रहा है। अपने ग्राहकों को बेहतर सेवा देने के लिए डिजिटल ब्रोकर के पास नियम-आधारित निवेश इंजन एआरक्यू प्राइम, एक नॉलेज हाउस और फन-लर्निंग-आधारित निवेशक शिक्षा मंच स्मार्ट मनी सहित सेवाओं का एक पूरी शृंखला है। स्मार्ट मनी पहली बार के निवेशकों से लेकर इंटरमीडिएट के साथ-साथ एडवांस एक्सपर्टाइज तक सभी की जरूरतों को पूरा करता है।

पिछले कुछ वर्षों में जो मजबूत गति मिली है, उसके आधार पर कहा जा सकता है कि नए जमाने के डिजिटल ब्रोकर ने लंबी दौड़ के लिए खुद को अच्छी तरह से तैयार कर लिया है। एंजेल ब्रोकिंग को इसी तरह की कई उपलब्धियां अब बस मिलने ही वाली हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here