रैली द्वारा समाज को पूर्ण गुरु के सानिध्य में आध्यात्मिक यात्रा शुरू करने का आग्रह किया गया

0
822

New Delhi News, 21 Nov 2019 : दिल्ली के मयूर विहार फेज-2 क्षेत्र में दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा 22से28 नवंबर 2019 तक होने वाली भव्य श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के आरम्भ हेतु गुरुदेव श्री आशुतोष महाराज के युवा स्वयंसेवकों द्वारा शांति मार्च रैली निकाली गयी। इस विलक्षण रैली ने सभी क्षेत्रवासियों का ध्यान आकर्षित किया। इस रैली द्वारा लोगों को जीवन में आध्यात्मिक उन्नति के प्रति जागरूक किया गया। रैली ने आध्यात्मिकता से समाज को रूबरू कराने हेतु भक्ति व ज्ञान की वास्तविकता पर प्रकाश डालते हुए ज्ञानवर्धक नारे भी लगाए।

रैली द्वारा आंतरिक जागृति हेतु एक सच्चे आध्यात्मिक गुरु की आवश्यकता पर बल दिया गया। उचित मार्गदर्शन के अभाव में कोई भी कार्य श्रेष्ठता को प्राप्त नहीं होता है, इसी तरहगुरु की उपस्थिति आध्यात्मिक रूप से पूर्ण जीवन हेतु अनिवार्य है। पूर्ण सतगुरु आध्यात्मिक जगत के स्वामी होते हैं अतः वे सहजता से साधक को आंतरिक शांति की प्राप्ति हेतु उसका मार्गदर्शन करने में सामर्थ्यवान हैं। सतगुरु ही शिष्य के जीवन में आने वाले संघर्षों से पार पाने के लिए उचित समाधान प्रदान करते हैं।

गुरु की उपस्थिति न केवल साधक के आंतरिक जीवन को बल्कि बाहरी जीवन को भी उन्नत करती है। एक जागृत मन, गैर-जागृत मन की तुलना में विवेकपूर्ण वउचित निर्णय लेने में सक्षमहोता है। आंतरिक ज्ञान से धन्य साधक एक समृद्ध समाज की सुदृढ़ नींव बनता है। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है, डीजेजेएस का सम्पूर्ण शिक्षा कार्यक्रम – “मंथन”। इस रैली द्वारा समाज को परिचित करवाया गया कि समाज का भविष्य वर्तमान बच्चों को श्रेष्ठ शिक्षा व संस्कार प्रदान कर सुरक्षित किया जा सकता है। अभावग्रस्त बच्चों को अच्छी शिक्षा में सहायता दी जानी चाहिए, जो कि संस्थान के मंथन प्रकल्प द्वारा देशभर में किया जा रहा है। पूर्ण सतगुरु द्वारा प्रदत्त ब्रह्मज्ञान के माध्यम से मानव को देवत्व की ओर बढ़ाया जा सकता है। इस प्रकार, रैली ने लोगों को एक पूर्ण आध्यात्मिक गुरु की कृपा द्वारा आध्यात्मिक यात्रा शुरू करने का आग्रह किया व साथ ही समाज में अभावग्रस्त बच्चों की अच्छी शिक्षा के सहयातार्थ सहयोग करने की अपील भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here