कहो वेलेंटाइन डे को ‘नो’, याद करो बलिदान दिवस : डा. एम पी सिंह

0
783

Faridabad News, 14 Feb 2019 : 14 फरवरी 2019 को सर्वप्रथम हिंदुत्व ग्रुप ने एन आई टी स्थित सरदार भगत सिंह की प्रतिमा पर पर फूल माला अर्पित करके मातृ-पितृ दिवस के रूप में बलिदान दिवस मनाया। जिसमें प्रसिद्ध शिक्षाविद समाजशास्त्री और दार्शनिक प्रोफेसर एमपी सिंह बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे इस अवसर पर प्रोफेसर एमपी सिंह ने कहा कि आज अधिकतर लोग वेलेंटाइन डे मनाते हैं जबकि आज का दिन मातृ पितृ दिवस के रूप में मनाया जाता है आज के दिन ही शहीद ए आजम भगत सिंह राजगुरु सुखदेव तीनों वीर भूमि के महान सपूतों को फांसी की सजा सुनाई गई थी वह किसी को याद नहीं आता है जिनकी वजह से अंग्रेजों की दासता से हम लोग मुक्त हुए थे डॉक्टर एमपी सिंह ने युवा साथियों मैं संस्कार देते हुए कहा कि आप बहुत ही अच्छी सोच पर कार्य कर रहे हैं आप इन तीनों वीर सपूतों के क्रांतिकारी विचारों को भारत के नौजवानों के पास पहुंचाने की चेष्टा कर रहे हैं और वेलेंटाइन डे को नो कहकर समाज में अपनी भूमिका निभा रहे हैं डॉक्टर एमपी सिंह ने इस अवसर पर अच्छा कार्य करने के लिए अनेकों विद्यार्थियों को शहीद-ए-आजम पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया संस्था के प्रधान शुभम भारद्वाज और उपप्रधान तरुण पांचाल ने इस कार्यक्रम में अपनी अहम भूमिका निभाई इस अवसर पर दीपांशु इंदु सचिन अभिषेक कैलाश अजय मनदीप आकाश आदि पवन शिवम पंकज अनुज व अन्य युवा साथी मौजूद रहे सभी विद्यार्थियों ने इस अवसर पर इंकलाब जिंदाबाद जय जवान जय किसान शहीद ए आजम भगत सिंह अमर रहे राजगुरु अमर रहे सुखदेव अमर रहे आदि के नारे लगाकर समाज के लोगों को संदेश दिया यदि इसी प्रकार की सोच आज हमारे विद्यार्थियों में भर जाए तो समाज और देश का बहुत बड़ा फायदा हो सकता है डॉक्टर सिंह ने तीनों वीर सपूतों के संघर्ष मय जीवन के बारे में विस्तार से जानकारी दें और कहा कि जब अंग्रेजों ने अत्याचारों से त्रस्त हमारे देश में चारों ओर हाहाकार मची हुई थी तो ऐसे में इन वीर सपूतों ने अपने प्राणों पर खेलकर देश को आजाद कराया और छोटी सी उम्र में ही आजादी के दीवाने अपने देश पर कुर्बान हो गए आज के युवाओं को अपने जीवन में अनुसरण करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here