जे सी बोस विश्वविद्यालय के चार पाठ्यक्रमों को एनबीए मान्यता

0
203

Faridabad News, 17 March 2021 : जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने तकनीकी शिक्षा में गुणवत्ता को बरकरार रखते हुए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड (एनबीए) द्वारा चार इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों की पुनः मान्यता प्राप्त करने में सफलता हासिल की है। एनबीए द्वारा विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रमों को मान्यता प्रदान करना विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान की जाने वाली तकनीकी शिक्षा की गुणवत्ता का दर्शाता है।

इस उपलब्धि के लिए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने एनबीए समन्वयक प्रो. कोमल कुमार भाटिया, डाॅ. नीलम दूहन तथा सभी संबंधित विभागाध्यक्षों के प्रयासों की सराहना की है तथा सभी शिक्षकों तथा कर्मचारियों को इस सफलता पर बधाई दी है। विश्वविद्यालय के विभिन्न इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों को मान्यता मिलने से विश्वविद्यालय से उत्तीर्ण स्नातकों को अमेरिका तथा इंग्लैंड सहित विभिन्न देशों के पाठ्यक्रमों के समकक्ष समानता मिलेगी।

विश्वविद्यालय के चार बीटेक पाठयक्रमों कम्प्यूटर इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स इंस्ट्रूमेंटल एंड कंट्रोल इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग को तीन वर्षों के लिए एनबीए द्वारा श्रेणी-1 प्रारूप में मान्यता प्राप्त हुई है। यह मान्यता वाशिंगटन समझौते के अनुरूप है, जिसमें एनबीए भी एक हस्ताक्षरकर्ता है। वाशिंगटन समझौते की अनुपालना के अनुरूप, वाईएमसीए विश्वविद्यालय के एनबीए श्रेणी-1 मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रमों को अन्य हस्ताक्षरकर्ता देशों में वैश्विक मान्यता हासिल होगी, जिनमें आस्ट्रेलिया, कनाडा, ताइवान, हांगकांग, आयरलैंड, जापान, इंग्लैंड तथा अमेरिका शामिल हैं। विश्वविद्यालय के विद्यार्थी इन देशों में अकादमिक जरूरतों को पूरा करने के दृष्टिगत इंजीनियरिंग कार्यों को करने में सक्षम होंगे।

एनबीए एक स्वायत्त संस्थान है जो समय-समय पर तकनीकी संस्थानों तथा पाठ्यक्रमों का मूल्यांकन अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् द्वारा अनुशंसित मानक तथा मानदंडों के अनुरूप करता है। मान्यता प्रक्रिया के अंतर्गत एनबीए विशेषज्ञ टीम द्वारा 25 फरवरी, 2021 को विश्वविद्यालय में दौरा कर चार विभागों का मूल्यांकन किया गया था। एनबीए विशेषज्ञ टीम ने विश्वविद्यालय का मूल्यांकन विभिन्न मानदंडों पर किया तथा लैब, वर्कशाप, लाइब्रेरी तथा अन्य विद्यार्थी से संबंधित सुविधाओं का जायजा लिया।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2009 में विश्वविद्यालय के रूप में दर्जा हासिल करने वाले जे.सी बोस विश्वविद्यालय ने विगत पांच वर्षों केे दौरान उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की है। विश्वविद्यालय को नवम्बर, 2016 में राष्ट्रीय मूल्यांकन तथा प्रत्यायन परिषद् (नैक) द्वारा ‘ए’ ग्रेड मान्यता हासिल हुई थी तथा हाल ही में विश्वविद्यालय ने इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ-2020) द्वारा जारी रैंकिंग में 120वीं रैंकिंग प्राप्त हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here