कोरोना संक्रमण के चक्र को तोड़ने के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां व प्रबंध किए हैं : संजीव कौशल

0
605

Faridabad News, 11 June 2020 : अतिरिक्त मुख्य सचिव, कृषि एवं कल्याण विभाग हरियाणा संजीव कौशल ने कहा कि फरीदाबाद में कोरोना से संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण व अनलाॅकडाउन घोषित होने के बाद अब और अधिक संसाधन जुटाने होंगे। सरकार की ओर से जनता को भी निरंतर जागरूक किया जा रहा है कि उन्हें क्या करना है और क्या नहीं। सरकार ने इस संबंध में विस्तार से गाइडलाइन भी जारी की हैं। जिला प्रशासन ने भी कोरोना संक्रमण के चक्र को तोड़ने के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां व प्रबंध किए हैं।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने वीरवार को मंडल आयुक्त संजय जून, नगर निगम आयुक्त यश गर्ग व उपायुक्त यशपाल के साथ मीटिंग की तथा जिला प्रशासन की ओर से अब तक कोरोना से बचाव के लिए फरीदाबाद में की गई तैयारियों व प्रबंधों का जायजा लिया तथा कुछ फैसले लिए। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए और जरूरी संसाधन तैयार किए जाएं। प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए अधिकतम इंतजाम तैयार किए जाए। जिला में टैस्टिंग की क्षमता का विस्तार किया जाए तथा इसके लिए जरूरी उपकरण व तकनीशियन की व्यवस्था कर ली जाए। उन्होंने कहा कि जिला में मरीजों की संख्या तो बढ़ रही हैं, लेकिन ठीक भी जल्दी हो रहे हैं। भविष्य के लिए और सभी आवश्यक प्रबंध तैयार किए जाएं।

उन्होंने बताया कि जिला में 145 कंटेनमेंट जोन बने हैं। इनमें सरकार की सभी हिदायतें लागू हों। इससे पहले उन्होंने जिला में बनाए गए कुछ कंटेनमेंट जोन का दौरा भी किया तथा वहां पर सभी इंतजाम का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन के पहले बैरियर पर एक सूचनात्मक पोस्टर अवश्य चस्पा किया जाए, जिस पर सभी जरूरी हिदायतें व सावधानियां प्रकाशित हों तथा जो व्यक्ति कंटेनमेंट जोन में जाए तो वह सभी सावधानियों की पालना करें तथा वहां पर किसी भी सामान आदि को न छुए। कंटेनमेंट जोन में डूज व डोंट के बारे में सभी को पता होना चाहिए।

उन्होंने नगर निगम आयुक्त यश गर्ग को सलाह दी कि वे शहरी क्षेत्र में खासकर भीड़-भाड़ वाले स्थानों, सब्जी मंडियों व कंटेनमेंट जोन में सघन सेनेटाइज अभियान चलाएं। इसके अलावा जिला प्रशासन की ओर से कोरोना संक्रमण से बचने व जरूरी एहतियात बरतने के प्रति जागरूक करने के लिए सघन सामाजिक अभियान चलाया जाए। अभियान के तहत कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग जिसमें कम से कम दो गज की दूरी तथा माॅस्क का हर समय प्रयोग करने संबंधी सावधानियों के बारे में जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी व माॅस्क ही दो हथियार हैं, जो हमें कोरोना से बचा सकते हैं। इन सभी सावधानियों के बारे में जन-जन तक संदेश पहुंचाया जाए। लोगों को अपनी सुरक्षा स्वयं करने के प्रति भी जागरूक किया जाए तथा इसके लिए पूरी कम्युनिटी को जुटना होगा। हर व्यक्ति कोरोना से बचने के लिए सभी सावधानी बरतने के प्रति जागरूक बने।

उन्होंने बताया कि मंडल आयुक्त, नगर निगम आयुक्त व जिला उपायुक्त मिलकर आगामी दिनों में निरंतर मीटिंग करेंगे तथा ऐसी व्यवस्था तैयार करेंगे कि क्षेत्रीय काउंसलर, रेजिडेंट वेल्फेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों तथा वालिंटियर्स को कोरोना संक्रमण से बचने संबंधी सभी हिदायतों व सावधानियों के बारे में जागरूक किया जाए, ताकि ये व्यक्ति अपने आसपास के क्षेत्रों में अन्य लोगों को जागरूक करें तथा प्रत्येक व्यक्ति अपने घरों में भी सभी सावधानियों का ध्यान रखना होगा।
उन्होंने कहा कि जनता को भी अब पूरी तरह सजग व सतर्क रहना होगा। कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या से किसी को घबराना नहीं है, अपितु हर व्यक्ति को सजग रहकर सभी सावधानियां बरतनी हैं। जो व्यक्ति सभी सावधानियों के साथ काम करेगा, निसंदेह उसके लिए कोरोना से बचना उतना ही संभव हो पाएगा तथा इस कोरोना की इस लड़ाई को आसानी से जीता जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here