स्वतंत्रता दिवस समारोह में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ‌ने किया ध्वजारोहण, परेड़ की सलामी भी ली

0
396

Faridabad News, 15 Aug 2021 : राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह रविवार को हैलीपैड मैदान सेक्टर-12 में धूमधाम से मनाया गया। मुख्मंत्री मनोहर लाल ने इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि ध्वजारोहण किया और परेड़ की सलामी ली। इससे पहले उन्होंने जिलास्तरीय युद्ध स्मारक स्थल पर शहीदों को पुष्प भी अर्पित किए।

इस अवसर पर संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल सबसे पहले प्रदेश के लोगों को आजादी की 75वीं वर्षगांठ की बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज हम आजादी का अमृत उत्सव मना रहे हैं। यह दिन हमारे आत्म सम्मान व स्वाभिमान से जुड़ गया है। उन्होंने कहा कि हिन्द पर सर्वस्व न्यौछावर करने वाले सेनानियों के प्रति आज पूरा राष्ट्र अपनी कृतज्ञता प्रकट कर रहा है। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि यह देश नेताजी सुभाषचंद्र बोस, रामप्रसाद बिस्मिल, शहीद भगत सिंह, राजगुरू, सुखदेव, चंद्रशेखर आजाद सहित देश पर अपने प्राण अर्पित करने वाले हजारों बलिदानियों को हमेशा याद करता रहेगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्र के सामाजिक एवं राजनैतिक उत्थान में महात्मा गांधी, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, लौहपुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी तथा पूर्व उपप्रधानमंत्री चौ देवीलाल सहित अनेक राष्ट्रभक्तों के योगदान को भी कभी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चमत्कारिक नेतृत्व का पूरा विश्व लोहा मान रहा है और देश में भी विकास के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव होते दिखाई दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इसी दिन वर्ष 2019 में जम्मू-कश्मीर को पूर्ण आजादी प्राप्त हुई तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह ने धारा 370 की व्यवस्था को 70 वर्ष बाद समाप्त करने का साहसिक कार्य किया। गत वर्ष 5 अगस्त 2020 को ही अयोध्या में श्रीराम मंदिर की आधारशिला रख दशकों पुराने विवाद का हल कर दिया। केन्द्र सरकार के ऐसे अनेक साहसिक निर्णयों से कश्मीर से कन्याकुमारी तक ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ से नवभारत और अब आत्मनिर्भर भारत के निर्माण को बल मिला है।

विकास नीतियों पर बोलते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हमारी सरकार ने देश व प्रदेश की जनता के समावेशी विकास के लिए विशेष बल दिया है। इसके अन्तर्गत सस्ते रिहायशी मकानों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वामित्व योजना, सॉयल हेल्थ कार्ड, रोजगार एवं आर्थिक स्वतंत्रता के लिए कौशल विकास एवं मुद्रा लोन तथा आधुनिक भारत के नवनिर्माण हेतु स्टार्ट-अप तथा ई-रुपी व डिजिटल इंडिया सहित अनेक अभूतपूर्व योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के तौर पर श्री मोदी  ने दुनिया के प्रत्येक मंच पर देश के उत्थान, भारतमाता की शान तथा हिन्दुस्तान का सम्मान बढ़ाने के लिए आंतरिक एवं बाह्य सुरक्षाचक्र को मजबूत किया है। इसके लिए जल, थल और वायु सेना का मनोबल बढाते हुए फौज को विश्व के उत्कृष्ट राफेल जैसे लडाकू विमानों से सुसज्जित किया गया है। इन कार्यों से भारत को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में पहचान मिली है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ के मंत्र से ‘सबका विश्वास’ अर्जित किया है। भारत में हो रहे इन सकारात्मक बदलावों में देश की जनता एवं युवा वर्ग का विशेष योगदान रहा है। भारत सरकार ने कोरोना की परिस्थितियों से उभरने के लिए आत्मनिर्भर भारत योजना को मार्च 2022 तक बढ़ा दिया है। इसके माध्यम से नियोक्ताओं को रोजगार सृजित करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है ताकि कम आय वाले युवाओं को लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि वैश्विक कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए मास्क, सेनेटाईजर, ऑक्सीजन, मेडिकल उपकरण तथा कोविड-वैक्सिन का देश में ही निर्माण करके भारत ने आत्मनिर्भर बनने की ओर कदम बढाया है। प्रधानमंत्री के कुशल प्रबन्धन से न केवल देश में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को नि:शुल्क कोविड वैक्सिन दी जा रही है बल्कि दुनिया के अनेक देशों की सहायता भी गई है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि केन्द्र सरकार की तर्ज पर हमारी सरकार हरियाणा में ‘समान अवसर, समान विकास’ के सिद्घांत पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि हमने राज्य के लोगों के लिए सुरक्षा, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, खेल,  आत्मनिर्भरता तथा आधारभूत संरचना सहित अन्य क्षेत्रों में उत्थान के लिए अनेक कदम उठाए हैं ताकि हरियाणा को एक समृद्घ एवं खुशहाल राज्य बनाया जा सके। हमारी सरकार वर्ष 2021 को सुशासन परिणाम वर्ष के रूप में मना रही है। इसके तहत राज्य में कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त करने के लिए ठोस रणनीति बनाई है। उन्होंने कहा कि महिलाओं, बुजुर्गों तथा जरूरतमंद लोगों की त्वरित सहायता के लिए डॉयल 112 सेवा शुरू कर दी है। इस पर सहायता मांगने पर मेडिकल सुविधाओं सहित पुलिस, मात्र 15 से 20 मिनट में शिकायतकर्ता के पास पहुंच रही है। प्रदेश के युवाओं को धोखाधड़ी से विदेशों में भेजने वाले कबूतरबाजों पर शिकंजा कसने के लिए एसआईटी तथा नशामुक्त हरियाणा बनाने के लिए ‘नार्कोटिक्स ब्यूरो’ का गठन किया है, जो सफलतापूर्वक अपना कार्य कर रहे है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हमारी सरकार का वर्ष 2025 तक राष्ट्रीय नई शिक्षा नीति को पूर्णत: राज्य में लागू करने का लक्ष्य है। इसके तहत पहली से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को उत्कृष्ट शिक्षा, सरकारी स्कूलों को स्मार्ट क्लास रूम व आधुनिक ड्यूल डेस्क, सौर पैनल सहित अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएगी। प्रदेश में उत्कृष्ट शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए 113 नये संस्कृति मॉडल स्कूल, नए सरकारी कॉलेज खोले गए हैं तथा बच्चों के लिए 4 हजार प्ले-वे स्कूल खोले जा रहे हैं। इसके साथ ही अतिथि अध्यापकों व अन्य पदों के भी ऑनलाइन स्थानांतरण किए जाएंगे। कोरोना काल, पूरी दुनिया के लिए संकटकाल रहा है।

अपने संबोधन में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कोरोना की महामारी से उबरने के लिए प्रदेश के अस्पतालों में मुफ्त उपचार, फ्री दवाइयों, नि:शुल्क कोविड टीकाकरण, घरों में आयुष किट का वितरण, 6 जिलों में नए ऑक्सीजन प्लांट की व्यवस्था तथा साधारण व ऑक्सीजन बेड की अतिरिक्त संख्या बढ़ाई गई। मरीजों को घर पर ही मुफ्त चिकित्सा मुहैया कराने के लिए ‘ई-संजीवनी ओपीडी’ शुरू की गई। इसके अलावा 407 आयुष हैल्थ वेलनेस सेंटर बनाए जा रहे है, जिसमें से 350 को अपग्रेड किया जा चुका है। हमारी सरकार ने कोरोना काल में एक मार्च से 31 मई 2021 तक कोविड से मृत्यु होने पर बीपीएल परिवारों को 2 लाख रुपए की एक्सग्रेशिया अनुदान दिया गया है। इसके साथ ही 31 मई के बाद बीपीएल परिवारों के 18 से 50 वर्ष के व्यक्ति की मृत्यु होने पर 2 लाख रुपए के जीवन बीमा का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के पुनर्वास के लिए ‘मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ के तहत 2500 रुपए मासिक सहायता दी जा रही है। सरकारी योजनाओं के लाभ के लिए लोगों को कार्यालयों के चक्कर न काटने पड़ें, इसके लिए ‘परिवार पहचान पत्र’ बनाए जा रहे हैं। इसके अलावा सरकार ने हिन्दी सत्याग्रहियों तथा पत्रकारों की पैंशन शुरू की है तथा वृद्घावस्था सम्मान भत्ता, लाडली सामाजिक सुरक्षा भत्ता तथा दिव्यांग, बौना, किन्नर, विधवा पैंशन को बढ़ाकर 2500 रुपए मासिक किया गया है। सरकार ने सैनिकों के कल्याण के लिए नारनौल, पलवल, पानीपत, झज्जर, जीन्द, नूहं, फतेहाबाद तथा रेवाड़ी सहित 8 जिलों में ‘एकीकृत सैनिक सदन’ बनाने का निर्णय लिया है। इन पर करीब 100 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने कर्मचारियों के तबादले,भर्ती, सर्विस रूल आदि की व्यवस्था में एकरूपता लाने के लिए मानव संशाधन विभाग का गठन किया है। इसके साथ ही हरियाणा कौशल रोजगार निगम की व्यवस्था को स्वीकृति दी है, जिसके माध्यम से भविष्य में आउटसोर्सिंग की सभी भर्तियां की जाएंगी। इसके पोर्टल पर कौशल प्रशिक्षण युक्त बेरोजगार अपने नाम दर्ज करवा सकेंगे। इसके अलावा कर्मचारी चयन आयोग ने सरकारी नौकरियों हेतु वन-टाइम पंजीकरण योजना शुरू की है। हमारी सरकार ने अपने कार्यकाल में अभी तक पारदर्शी तरीके से एक लाख से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरियां दी है। इसके साथ ही करीब 1.35 हजार युवाओं को सक्षम योजना के तहत काम दिया है, जिन पर करीब 1437 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। हमारी सरकार ने हिसार हवाई अड्डे का नाम बदलकर महाराजा अग्रसेन हवाई अड्डा करने की स्वीकृति प्रदान की है। इसके अतिरिक्त वर्ष 2024 तक 1225 कि.मी. लम्बे 475 कच्चे रास्तों को 490 करोड़ रुपये से पक्का किया जाएगा। इसके साथ ही 1070 किलोमीटर लम्बे 17 राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किए है, जिनमें से लगभग 669 कि.मी. लम्बे 11 राष्ट्रीय राजमार्गों पर काम शुरू हो गया है। इससे हरियाणा का प्रत्येक जिला राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड जाएगा।प्रदेश के गांवों को स्मार्ट बनाने के लिए ‘हरियाणा स्मार्ट ग्राम प्राधिकरण’ का गठन किया गया है। ‘म्हारा गांव-जगमग गांव’ योजना के तहत समय पर बिजली बिल भरने वाले प्रदेश के 5309 गांवों को 24 घंटे बिजली उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके साथ ही 330 गौशालाओं में 9.19 करोड़ की लागत से 1613 किलोवाट क्षमता के सौलर पावर प्लांट लगाए गए। राज्य के लोगों को सस्ते एलईडी बल्ब, सौलर लाईटस तथा सब्सिडी पर ए.सी. उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। पीएम-कुसुम योजना के तहत किसानों को 3 एचपी से 10 एचपी क्षमता के स्टैंडअलोन सौलर कृषि पम्प लगाने पर 75 प्रतिशत सब्सिडी देने की व्यवस्था की है।

अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने राज्य में योग को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा योग आयोग का गठन किया है तथा प्रदेश के 600 गांवों में योग एवं व्यायामशालाएं खोली हैं। राज्य में पहली बार ‘खेला इंडिया- यूथ गेम्स’ व ब्रिक्स खेलों का आयोजन भी किया जा रहा है। हाल ही में टोक्यो में सम्पन्न हुए ओलम्पिक खेलों में हरियाणा के खिलाडिय़ों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। देश ने जीते कुल 7 पदकों में से 3 पदक हमने प्राप्त किए हैं। एकल प्रतिस्पर्धा में एक स्वर्ण, एक रजत तथा एक कांस्य पदक जीतकर कुल 50 प्रतिशत पदकों पर म्हारे छोरेयां न कब्जा कर लिया। इतना ही नही कांस्य पदक जीतने वाली हॉकी टीम में भी 2 खिलाड़ी हरियाणा के ही शामिल रहे हैं। देश की तुलना में हरियाणा के मात्र 25 प्रतिशत खिलाडिय़ों ने ओलम्पिक में भाग लिया था, जबकि हमने पदक करीब 60 प्रतिशत जीते हैं। विजेता खिलाडिय़ों को स्वर्ण पदक के लिए 6 करोड़, रजत के लिए 4 करोड, कांस्य के लिए 2.5 करोड़ रुपए दिए हैं तथा नियमानुसार नौकरी मिलेगी। इसके अलावा ओलम्पिक में चौथे स्थान पर रहने वाले प्रदेश के खिलाडिय़ों को भी 50-50 लाख रुपए दिए हैं। सभी प्रतिभागी खिलाडियों को 15-15 लाख रुपये की धनराशि दी गई है। सरकार ने पढ़े-लिखे युवाओं को रोजगार देने के लिए ‘हर-हित रिटेल स्टोर’ खोलने का निर्णय लिया है, इसमें सरकार हर कदम पर आपकी सहायता करेगी। किसानों की सुविधा के लिए भी हमने महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। किसी भी परिस्थिति में जमीन बेचने के लिए किसान सबसे पहले सरकार को संभावित खरीददार के रूप में अपना प्रस्ताव दे सकता है। इसके लिए सरकारी विभागों, बोर्डों एवं निगमों के लिए भूमि बैंक सृजित करने और उनके संचालन में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए एक नीति तैयार की गई है। सरकार ने ‘भावान्तर भरपाई योजना‘ के तहत कुल 21 बागवानी फसलों के भाव निर्धारित किए हैं। हमारी सरकार ने ग्रामीणों को सम्पत्ति का मालिकाना हक देने के लिए लाल डोरा मुक्त योजना शुरू की है, जिसको पूरे देश में स्वामित्व योजना के तौर पर अपनाया गया है। इसके साथ ही 20 वर्ष अधिक समय तक किराए या लीज पर ली गई पालिकाओं की दुकानों व मकानों का मालिकाना हक अब काबिज लोगों को दिया जाएगा। सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान अनेक जनहितैषी फैसले लिए हैं। इनमें विभिन्न वर्गों के लिए सस्ते मकानों का निर्माण, श्रमिकों की न्यूनतम वेतन वृद्घि, मेरिट आधार पर नौकरी, अनेक विभागों में ऑनलाइन तबादला प्रक्रिया, बच्चों के टेली-कांउसलिंग हेतु ‘उम्मीद केन्द्र’ खोलने और ऑक्सी-वन बनाने सहित अनेक योजनाएं शामिल हैं। इसके साथ ही मोरनी को पर्यटन हब के तौर पर विकसित किया जा रहा है। सरकार ने भ्रष्ट्राचार पर नकेल कसने के लिए अधिकतर सरकारी योजनाओं को ऑनलाइन कर दिया है। प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा, बेटियों की शिक्षा तथा आम आदमी के उत्थान के लिए सकारात्मक माहौल बना है। हमारी सरकार पर अभी तक कोई भ्रष्ट्राचार का दाग नही लगा सका, जोकि हमारी सबसे बड़ी उपलब्धि रही है।

इस अवसर पर हरियाणा पुलिस, एनसीसी, एनएसएस सहित विभिन्न टुकड़़ियों ने मार्च पास्ट किया। तत्पश्चात विद्यार्थियों द्वारा योगा एवं पीटी शो का बेहतर प्रदर्शन किया। इसके उपरांत स्कूली विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां देकर स्वतंत्रता दिवस समारोह की शोभा बढाई।

स्वतंत्रता दिवस समारोह के अन्तिम चरण में जिला में विभिन्न सामाजिक क्षेत्रों में बेहतर कार्य करने वाले लोगों और लोगों को अच्छी सरकारी सेवाएं देने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को पुरस्कार अनुशंसा पत्र देकर सम्मानित किया।

अन्त में राष्ट्रीय गान के साथ स्वतंत्रता दिवस समारोह का समापन हुआ। स्वतंत्रता दिवस समारोह में बड़खल की विधायक सीमा त्रिखा, फरीदाबाद के विधायक नरेन्द्र गुप्ता, तिगांव के विधायक राजेश नागर,पृथला के विधायक एवं हरियाणा भण्डार निगम के चैयरमैन नयनपाल रावत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डाँ. वी उमाशंकर, एडीजी सीआईडी आलोक मित्तल, आयुक्त संजय जून, पुलिस आयुक्त ओपी सिंह, उपायुक्त जितेंद्र यादव, एडीसी सतबीर मान, एसडीएम परमजीत चहल, भाजपा के जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, मुख्यमंत्री राजनीतिक सचिव अजय गौड मेयर सुमन बाला सहित कई गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here