पौधरोपण और रैली से बीट एयर पॉल्युशन का संदेश

0
759

Faridabad News, 05 June 2019 : सराय ख्वाजा के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल की जूनियर रेड क्रॉस और सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड ने ब्रिगेड अधिकारी व अंग्रेजी लेक्चरर रविन्द्र कुमार मनचन्दा के नेतृत्व में हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सहयोग से विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पौधरोपण किया और बच्चों द्वारा पेंटिंग बना व सलोगन लिख कर जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय रेड क्रॉस की फरीदाबाद शाखा के सचिव विकास कुमार, दर्शन भाटिया और पूर्व सचिव बी बी कथूरिया उपस्थित रहे तथा पौधरोपण कर जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। रैली सराय के मुख्य बाजार, जी टी रोड, टोल प्लाजा व सराय की कालोनियों में नारे लाते हुए ‘पौधें लगाओ प्रदूषण भगाओ”, “ईच वन प्लान्ट वन”, ”पौधा पौधा हर जगह पौधा प्रदूषण बिल्कुल नही होगा” और लोगों को पौधे लगाने के लिए प्रेरित करते हुए चल रहे थे। इस से पूर्व जूनियर रेड क्रॉस काउंसिलर रविंद्र कुमार मनचन्दा ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि पर्यावरण के प्रति लोगों को सजग करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है। इसके साथ ही इस आयोजन के लिए प्रत्येक वर्ष एक नई थीम का चुनाव किया जाता है। मतलब हर साल एक नई थीम के साथ वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे मनाया जाता है। इस साल भी नई थीम के साथ ही इसे मनाया जा रहा है तथा इस बार पर्यावरण दिवस के आयोजन की थीम ‘बीट एयर पॉल्युशन’ है।1972 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा मानव पर्यावरण विषय पर संयुक्त राष्ट्र महासभा का आयोजन किया गया था। संयुक्त राष्ट्र संघ की तरफ से सन् 1972 में पर्यावरण में बढ़ते प्रदूषण की गंभीर समस्या चिंता करते हुए विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की नींव रखी गई। विश्व पर्यावरण दिवस का आयोजन दुनिया में सबसे पहले स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में हुआ था और इसके दो साल बाद, 5 जून 1974 से इसे मनाना भी शुरू कर दिया गया। मनचन्दा ने कहा कि एयर पॉल्युशन को बीट करने का सबसे कारगर उपाय यही है की हम सब अधिक से अधिक पौधे रौपें, हर आंगन, हर घर मे छायादार पौधे लगाएं तथा सड़कों व नदियों और नहरों के किनारों पर पीपल, बरगद व वटवृक्ष आदि के पौधे रौपें। ये पौधें न केवल वायु प्रदूषण समाप्त करेंगे बल्कि पर्याप्त मात्रा में वर्षा लाने में भी सहायक होंगे। सब से बड़ी बात यह है कि पौधे हमें सदैव कुछ न कुछ देते है बदले में कुछ भी तो नही लेते। इसलिए समय की पुकार और अपने व आने वाली पीढ़ियों के लिए जब भी मौका मिले पौधा लगाएं, घर में किसी सदस्य का जन्मदिन हो, वैवाहिक वर्षगाँठ हो या कोई खुशी व सफलता मिली हो, पौधा रौपें तो और भी खुशी मिलेगी। इसी प्रकार मुख्य अतिथियों को भी फूलमाला या बुके के स्थान पर पौधा ही भेंट करें या पौधा ही उपहार में दें। मुख्य अतिथि सचिव श्री विकास कुमार और पूर्व सचिव श्री बी बी कथूरिया और दर्शन भाटिया ने जूनियर रेड क्रॉस के सदस्यों द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here