केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् द्वारा आयोजित युवक चरित्र निर्माण शिविर

0
221

Faridabad News, 03 June 2019 : समाज का भविष्य युवा पीढ़ी पर निर्भर करता है। इसे सुदृढ़, मेहनती, ईमानदरी, बलिष्ठ, देशभक्त, समाज भक्त बनना भी समाज का कर्त्तव्य है, ताकि यह युवा देश को नई दिशा के द्वारा नई राह की ओर ले जाये। यह बात केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने ग्रेटर फरीदाबाद स्थित सैनी सीनियर सैकेन्डरी स्कूल में केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् फरीदाबाद द्वारा आयोजित 8 दिवसीय विशाल युवक चरित्र निर्माण शिविर का उद्घाटन करते हुए कही। उन्होंने कहा कि हमारे देश के युवाओं पर पाश्चात संस्कृति शिकंजा कसती जा रही है। इससे युवाओं का भारतीय संस्कृति से लगाव कम होता जा रहा है। आज माता-पिता, बड़ों तथा गुरूजनों का सम्मान कम हो गया है। देश में वृद्धाश्रमों की बाढ़ आ गई है। यह सभी युवाओं में नैतिकता के ह्यस का ही परिणाम है। अनिल आर्य ने कहा कि शिक्षा के माध्यम से हर माता-पिता अपने बच्चों को एक अच्छा डॉक्टर, इंजीनियर, वकील बनाना चाहता है। यह तभी सार्थक है जब हम इनसे पहले अपने बच्चों को एक आदर्श नागरिक बनायें, ऐसा आदर्शकारी जो माता-पिता का आज्ञाकारी हो, शिष्टाचारी हो, समाजसेवी व देशभक्त हो, ईश्वर विश्वासी हो। क्योंकि बिना विश्वास के आत्म निर्भर की क्षमता नहीं हो सकती। इस अवसर पर वयोवृद्ध आर्य दासराम आर्य ने ध्वजारोहण किया। मुख्य अतिथि नन्दलाल कालड़ा ने कहा कि ऐसे शिविरों से बच्चों में आत्मबल, आत्म चिन्तन और राष्ट्र चिन्तन की भावना बढ़ती है। जो देश की उन्नति के लिए सही कदम है। इससे पूर्व संस्था के प्रधान जितेन्द्र आर्य ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए बताया कि शिविर में 125 से अधिक बच्चे भाग ले रहे हैं। स्वागताध्यक्ष हरपाल सैनी ने अतिथियों का पुष्पगुच्छ व फूल मालाऐं पहनाकर स्वागत किया। शिविर में के. एस. यादव, विद्या भूषण आर्य, आचार्य शिवकुमार, डा. वीरेन्द्र योगाचार्य, दयानन्द सेठी, प्रवीन आर्या, बिजेन्द्र शास्त्री, गुलशन सेठी सहित शिविरार्थियों के अभिभावक उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here