सूरजकुण्ड मेले में तांबे-पीतल के बर्तनों व कलाकृतियों की बेजोड़ वैरायटी

0
727
Faridabad News, 08 Feb 2019 : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के समीप हरियाणा में फरीदाबाद में 33वां सूरजकुण्ड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला में देश भर से आए शिल्पकार अपने बेहतरीन उत्पादों के साथ पहुंचे हैं। इस वर्ष मेला के थीम राज्य महाराष्ट्र के शिल्पकारों की सबसे अधिक भागीदारी है। महाराष्ट्र के जलगांव से विलास सोनवने तांबे व पीतल के बर्तनों, दीपक व सजावटी सामान लेकर पहुंचे हैं। रायगढ़ के किले की प्रतिकृति को जाने वाली सीढिय़ों के समीप अपनी विलास सोनवने की स्टाल पर रखे तांबे व पीतल के उत्पाद सहज ही मेला में आने वाले पर्यटकों का सहज ही ध्यान आकर्षित करते हैं।
पीढ़ी दर पीढ़ी चला रहा तांबा-पीतल के बर्तनों का काम
विलास सोनवने ने बताया कि उनके परिवार में तांबा व पीतल के बर्तन बनाने का काम पीढ़ी दर पीढ़ी चला आ रहा है। पहले अधिकतर काम हाथ से होता था लेकिन बाजार की मांग के अनुरूप अब मशीन का इस्तेमाल भी होने लगा है। उन्होंने बताया कि तांबा से बनने वाली मंदिर में जलाए जाने वाली ज्योति व गिलास हाथ से तैयार की जाती है जबकि पीने के पानी की बोतल को तैयार करने में मशीन का इस्तेमाल होता है। उन्होंने बताया कि तांबा से बनने वाली बोतल में मीनाकारी भी होने लगी है।
अमेरिका तक में प्रदर्शित किए उत्पाद
महाराष्ट सरकार की मदद से विलास के परिवार की महिलाओं ने पूजा स्वयं सहायता समूह का गठन किया है। घर पर उत्पाद तैयार करने में महिलाओं की विशेष भूमिका रहती है। विलास ने बताया कि सूरजकुण्ड आना उनके लिए बेहद अच्छा अनुभव रहा है। हरियाणा सरकार का विशेष आभार जताते हुए विलास ने बताया कि वे यहां पहली बार आए है इससे पहले राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान तथा दिल्ली हाट में अपने उत्पाद प्रदर्शित कर चुके हैं। उन्होंने यह भी बताया कि हाल में महाराष्ट्र सरकार की ओर से उन्हें अमेरिका जाने का भी अवसर मिला। अमेरिका के तीन बड़े शहरों में उन्होंने अपने उत्पाद प्रदर्शित किए।
स्वास्थ्य के लिए गुणकारी है तांबे के बर्तनों का इस्तेमाल
तांबे के बर्तनों का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभप्रद माना गया है। अगर तांबे के बर्तन में रात भर रखे गए पानी को सुबह पीने से पेट के विकार दूर होते हैं। सूरजकुण्ड मेला में तांबे के बर्तनों की बड़ी वैरायटी आपको देखने को मिलेगी। ऐसे में सूरजकुण्ड मेला घूमने आए तो आप मोलभाव के जरिए खरीददारी में अपनी कुशलता भी साबित कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here