गीत एवं कविताओं में अपनी लोकसंस्कृति, परम्पराओ एवं इतिहास की झलक मिलती है : चंद्रशेखर

0
389

Faridabad News, 9 Sep 2018 : गीत एवं कविताओ में लोकसंस्कृति, परम्पराओ एवं इतिहास की झलक मिलती है। गणगीत प्रतियोगिता के आयोजन से राष्ट्रभक्ति की भावना से ओतप्रोत और जोशीले गीत गाने से हौंसला बढ़ता है। उत्सुकता का माहौल मिलता है। संकोच नहीं रहता और इकठ्ठा रहकर संगठन में रहने का बोध प्राप्त होता हैं। जिले के शिवाजी नगर, विक्रमादित्य नगर, बल्लभगढ़ नगर, मलेरना खंड, तिगांव खंड, नवादा खंड, खेड़ी खंड से 350 स्वयं सेवकों ने भाग लिया। विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया।

उक्त विचार बल्लभगढ़ जिला संघसंचालक मान्य डॉ चंद्रशेखर जी ने सेक्टर 2 पार्क में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा आयोजित गणगीत प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य वक्ता विभाग सह कार्यवाह अरुण जी ने अपने संबोधन में कहा कि गणगीत प्रतियोगिता का शुभारंभ फरीदाबाद से हुआ आज पुरे प्रांत में प्रति वर्ष इसका आयोजन किया जाता है। गीत हमें हमारी संस्कृति का स्मरण कराते हैं। हमें संगठित रहने के साथ साथ संस्कार देते हैं। आज की गणगीत प्रतियोगिता में विद्यार्थी वर्ग में शिवाजी नगर प्रथम, बल्लभगढ़ नगर द्वतीय और तिगांव तृत्य स्थान पर रहे। व्यवसायी वर्ग में शिवाजी नगर प्रथम, खेड़ी खंड द्वतीय और विक्रमादित्य व तिगांव खंड को संयुक्त रूप से तृत्य स्थान मिला। सभी विजेताओं को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर बौद्धिक प्रमुख डॉ प्रदीप, जिला कार्यवाह संतोष जी, जिला सहकार्यवाह गौरी दत्त जी, जिला सह बौद्धिक प्रमुख कृष्ण मुरारी जी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here