सोनल गोयल ने रैली को हरी झंडी दिखा कर किया रवाना

0
57

Faridabad News, 02 Oct @019 : महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर देश को प्लास्टिक मुक्त करने के प्रधानमंत्री के आह्वान की पालना में फरीदाबाद नगर निगम ने आज सिंगल यूज पलास्टिक के विस्द्ध जबरदस्त जनजागरण अभियान शुरू कर दिया है। स्वच्छता ही सेवा और श्रमदान के नाम से शुरू किये गये इस जन-जागरण अभियान में स्कूली छात्रों व छात्राओं के इलावा आम नागरिकों, स्कूली अध्यापकों, निगम अधिकारियों व कर्मचारियों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। निग्मायुक्त सोनल गोयल के नेतृत्व में एन.आई.टी. स्थित निगम सभागर से लेकर शहर के मुख्य बाजारों में एक रैली भी निकाली गई। निगमआयुक्त के इलावा इस रैली में निगम के अतिरिक्त आयुक्त विक्रम सिंह, संयुक्त आयुक्त प्रशांत अटकान, जिला षिक्षा अधिकरी श्रीमती सतेन्द्र वर्मा मुख्य अभियंता डी.आर. भास्कर व रमेश चंद, अधीक्षण अभियंता बीरेन्द्र करदम,, निगम के कार्यकारी अभियंता अनेकों स्कूलों के प्रधानाचार्यों व अध्यापकों ने भी भाग लिया। स्थानीय एक नंबर के बाजार से गुजरते हुए जब स्कूली छात्र व छात्राये पोलीथिन को बंद करो और सिंगल प्लास्टिक यूज के विरोध में नारे लगा रहे थे तो शहर के दुकानदार व आम नागरिक इन बच्चों का हौसला-अफजाई कर रहे थे। निग्मायुक्त सोनल गोयल भी रैली के दौरान पूरे रास्ते स्वयं इन बच्चों के साथ रही और रैली में चल रहे ये सभी लोग रास्ते में पोलीथिन आदि बीनते हुए जा रहे थे।

रैली को हरी झंडी दिखा कर के रवाना करने से पूर्व निगमायुक्त सोनल गोयल ने निगम सभागार के प्रांगण में अपने संबोधन में कहा कि फरीदाबाद नगर निगम प्रशासन सिंगल यूज प्लास्टिक के खतरों के प्रति लोगों को सचेत करते हुए आज शुरू किये जा रहे जन-जागरण अभियान को एक जन-आंदोलन बनायेगा। उन्होंने कहा कि बाजार से सामान उठाकर लाने की सहूलियत देने वाली पॉलीथीन न केवल हमारे पर्यावरण के लिए बहुत हानिकारक है बल्कि जानलेवा भी है। यह जीवन के लिए जहर है। थोड़ी सी सहूलियत के लिए हम समूचे जीव जगत को खतरे में डाल रहे हैं। पॉलीथीन ऐसे रसायनों से बनाया जाता है, जो जमीन में 100 सैंकड़ों वर्ष तक गाड़ देने से भी नष्ट नहीं होता। सौ साल के पश्चात भी पॉलीथीन को जमीन से ज्यों का त्यों निकाला जा सकता है। जरा सोचें हमारी धरती संसार की हर चीज हजम कर लेती है, किन्तु पॉलीथीन तो उसे भी हजम नहीं होता। पॉलीथीन पृथ्वी के स्वास्थ्य और हमारे स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर डालता है। पॉलीथीन पानी के रास्ते को अवरुद्ध करता है खनिजों का रास्ता रोक लेता है अर्थात एक ऐसी रुकावट जो जीवन के सहज प्रवाह को रोक लेती है। पॉलिथीन से निकलने वाली जहरीली गैसें हवा के साथ मिलकर उसे जहरीला बनाती हैं। पानी में फेंके जाने पर ये जलचक्र में बाधक होकर बादल बनने से रोकता है, पानी के जीवों के असमय मौत का कारण बनता है। खुले में पॉलिथीन का फेंका जाना और भी खतरनाक है। यह मिट्टी को भुरभुरी कर देता है और पशुओं की मौत का कारण भी पॉलिथीन ही बनता है। हम धर्म के नाम पर पुण्य कमाने के लिए अक्सर गाय तथा अन्य जानवरों को पॉलीथीन में लिपटी रोटी , सब्जी फल आदि ही डाल देते हैं। वे बेजुबान पशु उसे ज्यों का त्यों निगल जाते हैं जिससे उनकी आँतों में रुकावट पैदा होती है और वे तड़प -तड़प कर मर जाते हैं। यदि पलास्टिक जमीन में धंस जाए तो कभी भी नहीं गलती है।

निगमायुक्त ने शहर के सभी नागरिकों, बुद्धिजीवियों, व्यापारियों, सामाजिक, शैक्षणिक, राजनैतिक व धार्मिक संस्थाओं, एन.जी.ओ., मजदूर व कर्मचारी संगठनों, जन प्रतिनिधियो, मीडिया जगत और राजनैतिक दलों से भी अपील करता है कि नगर निगम क्षेत्र को पालीथीन-मुक्त करने में वे अपना सहयोग दें। इसके साथ ही उन्होंने दुकानदारों से भी अपील है कि वे स्वयं ही उक्त प्रतिबंधित सामग्री का प्रयोग करना बंद करें जिससे कि उन्हें किसी प्रकार की दंडात्मक या कानूनी कार्यवाही का सामना न करना पड़े। आज के इस कार्यक्रम में मैटो मोड़ स्थित राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, तिकोना पार्क स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, एन.एच. 1 स्थित राजकीय कन्या उच्च विद्यालय, एन.एच. 2 स्थित राजकीय उच्च विद्यालय के छात्र व छात्राओं ने हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here