श्री महेश गिरी ने देश के हर नागरिक से मिस्ड कॉल देकर 8 संकल्प लेने का किया आह्वान

0
504
New Delhi News : केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग, जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा कायाकल्प मंत्री श्री नितिन गडकरी जी ने आज प्रथम मिस्ड कॉल देकर राष्ट्र रक्षा महायज्ञ के 8 संकल्प लेने की षुरूआत की।
इस अवसर पर श्री नितिन गडकरी जी ने कहा – “ राष्ट्र रक्षा महायज्ञ केवल एक धार्मिक कार्य नहीं है. यह तो देश के प्रत्येक नागरिक को उसके राष्ट्र के प्रति दायित्वों का पुनःस्मरण कराने का अनुश्ठान है.“ उन्होंने देश के हर नागरिक से इन 8 संकल्पों को ग्रहण करने और इनका अक्षरषः पालन करने का अनुरोध किया. श्री गडकरी जी ने विषेश रूप से युवाओं को ‘संकल्प बै्रण्ड एम्बैसेडर‘ बनने का अनुरोध करते हुये कहा कि वे 9907 79 79 79 का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करें एवं लोगों को प्रेरित करें कि वे मिस्ड कॉल देकर ये संकल्प लें, राश्ट्र रक्षा महायज्ञ में एक आहुति दें।
इस अवसर पर बोलते हुये श्री महेष गिरी जी ने कहा – “ महिलाओं के सम्मान की रक्षा का संकल्प, पर्यावरण की रक्षा का संकल्प, स्वच्छता का संकल्प, वोट करने का संकल्प, भ्रश्टाचार से मुक्ति का संकल्प, संविधान की रक्षा का संकल्प, देश की सम्पत्ति की रक्षा का संकल्प तथा आतंकवाद, जातिवाद और सम्प्रदायवाद के विनाष का संकल्प जैसे ये 8 संकल्प देश के नागरिकों की सोच में क्रान्तिकारी बदलाव लाने की क्षमता रखते हैं. ये संकल्प न केवल देश की सुरक्षा को सुनिष्चित करेंगे, साथ ही इसे समृद्धि के पथ पर भी अग्रसर करेंगे।
इस कार्यक्रम में देश के 8 कर्मठ एवं जागरूक नागरिक भी उपस्थित थे, जिन्होंने न केवल इन संकल्पों को ग्रहण किया है, बल्कि अपने अनथक प्रयासों से उन्हें जीवन्त करके समाज के समक्ष एक अनुकरणीय मिसाल भी पेष की है।
18 मार्च से 25 मार्च तक चलने वाले राश्ट्र रक्षा महायज्ञ में 1111 वैदिक विद्या में निश्णात ब्राह्मण माँ पराम्बा भगवती बगलामुखी 108 कुण्डीय राष्ट्र रक्षा महायज्ञ करेंगे. 15 एकड़ क्षेत्र में फैले ऐतिहासिक लाल किला मैदान में निर्माणाधीन ‘राश्ट्र रक्षा महायज्ञ नगरी‘ प्रसिद्ध भारतीय कला निर्देषक नितिन चन्द्रकांत देसाई (मुम्बई) की कल्पनाषीलता एवं पुरातन भारतीय वास्तु कला का अद्भुत संगम प्रस्तुत करेगी। महायज्ञ के दौरान देष भर से आध्यात्मिक गुरू इस पावन पहल में हिस्सा लेंगे और सवा दो करोड़ (2.25 करोड़) मंत्रों का मंत्रोच्चार करेंगे. इससे समूचे देष में भारतीयता एवं सांस्कृतिक अखण्डता की ऊर्जा  का प्रसार होगा।
8 दिन के इस सांस्कृतिक महोत्सव के दौरान देश के जाने माने कलाकार प्रत्येक षाम को राश्ट्र की नृत्य, संगीत और लोक कलाओं की सांस्कृतिक विरासत को प्रदर्षित करते हुये मंच पर भावपूर्ण प्रस्तुतियां देंगे। राश्ट्र रक्षा महायज्ञ राश्ट्र के लिए समर्पण की भावना को उत्पन्न करने और एक भारतीय होने का गौरव जाग्रत करने का एक प्रयास है. इस कार्य को सदियों पुरानी यज्ञ परंपरा के माध्यम से साकार करने की कोषिष की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here