पुलिस की गिरफ्त से हथियारों के बल पर छुड़ाने के जुर्म में 7 बदमाश काबू

0
585
Faridabad News, 29 Oct 2018 : जेल में बंद आरोपी विकास दलाल जो दर्जनों भर हत्याओं हत्या के प्रयासों लूट डकैती फिरौती इत्यादि की वारदातों में फरीदाबाद नीमका जेल में बंद था। दिनांक 8 अक्टूबर 2018 की सुबह जब आरोपी विकास दलाल को पुलिस गार्द मेडिकल के लिए लेकर आई तो अचानक से एक लड़का फायर करता हुआ विकास दलाल को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ा कर भागने लगा इसी दौरान उसने कई फायर किए जिसमें एक व्यक्ति आम आदमी भी घायल हो गया था।
प्लान के मुताबिक दूसरा लड़का बाइक स्टार्ट कर मेन गेट के पास खड़ा था आरोपी विकास दलाल बाइक पर बैठा और वहां से फरार  हो गए थे।
पुलिस कमिश्नर साहब ने तुरंत इस पर संज्ञान लेते हुए इस अपराध की जांच सेक्टर 30 क्राइम ब्रांच इंचार्ज इंस्पेक्टर संदीप मोर को सौप थी।
पुलिस कमिश्नर के आदेशानुसार पुलिस उपायुक्त श्री लोकेन्द्र सिंह आईपीएस के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए  क्राइम ब्रांच इंचार्ज संदीप मोर ने अपने स्टाफ व  क्राइम ब्रांच सैक्टर 85 इंचार्ज सब इंस्पेक्टर रविंदर की टीम से तकनीकी टीम व रेडिंग टीम, व  अपने खास मुखबरो इत्यादि को तुरंत प्रभाव से गठित कर इन अपराधियों को पकड़ने के  निर्देश दिए थे।
करीब 100 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद पता लगा कि आरोपी विकास दलाल अपने साथियों के साथ हाईवे मथुरा रोड से होते हुए यूपी की तरफ भागा है सीसीटीवी फुटेज में युवकों की पहचान के लिए अलग-अलग टीमें जिला झज्जर यूपी सोनीपत इत्यादि एरिया में जहां पर विकास दलाल के सवार साथी पहले से जेलों में बंद है और जेल से रिहा हो चुके हैं या फिर जमानत पर है ये मनजीत महाल गैंग के सदस्य अपराधी प्रदीप सोलंकी, ललित उर्फ़ लादेन, राहुल व् मोहित उर्फ़ माया, प्रदीप उर्फ़ धोला को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर भगोड़े विकास दलाल के सम्बन्ध में पुछताछ की गई और अन्य करीब 35 से 40 ऐसे कुख्यात अपराधियों से भी पूछताछ की गई जिन्होंने सीसीटीवी फुटेज में आये सभी आरोपियों की पहचान करवा दी।
तकनीकी टीम में सैक्टर 85 क्राइम ब्रांच की टीम से स्वयम इंचार्ज रविंदर कुमार, सैक्टर 30 क्राइम ब्रांच से सिपाही मनोज कुमार साइबर सेल की समस्त टीम का से केस को सुलझाने में अहम योगदान रहा।
आरोपियों ने पूछताछ पर बताया कि संदीप निवासी छपरौला जो आरोपी विकास दलाल के साथ जेल नीमका में काफी समय तक बंद था दोनो में गहरी दोस्ती है आरोपी संदीप की एक मर्डर के केस में 20 साल की सजा हो चुकी है जो जमानत पर बाहर आया हुआ है आरोपी संदीप ने पूरे घटनाक्रम को करवाने के लिए योजनाबद्ध तरीके से हॉस्पिटल के आसपास की रेकी करवाई व 3 दिन पहले ही बदमाशों 7 बदमाशो को फरीदाबाद बुला लिया और घटना के दिन सभी बदमाशों को अलग अलग फिल्मी स्टाइल में कार्य सौंप दिया जिनमें से एक बदमाश को विकास के साथ पुलिस गार्द पार्टी पर फायर करते हुए भागने की, दो बदमाशों को बाइक स्टार्ट रख कर मेंन गेट पर खड़े रहने की ओर आरोपी विकास दलाल को हॉस्पिटल से लेकर तिकोना पॉर्क के पास खड़ी गाड़ीयो तक पहुँचाने की व दो बदमाशों को अलग अलग दो गाड़ियों को तिकोना पार्क के पास स्टार्ट कर तैयार रहने की, एक बदमाश को  इसलिए चिली स्प्रे दिया गया था की यदि कोई भी आम जनता या पुलिस के साथ झड़प इत्यादि हो तो उनकी आंखों में स्प्रे मार देना है , दो बदमाशो को असला लेकर मेंन गेट पे तैनात किया गया था ताकि कोई भी घटना के समय गेट को बंद न कर दे और इन सब के बावजूद भी बात ना बने तो पब्लिक और पुलिस पार्टी पर फायर करने को कहा गया था सभी बदमाशो के पास अवैध असले थे।
गिरफ्तार आरोपी :-
1. संदीप पुत्र विजेंदर निवासी गांव छपरौला थाना सदर पलवल
2. आशीष पुत्र राम कुमार निवासी गाँव रोहना जिला मुजफ्फरनगर यू.पी
3. कविंदर पुत्र पुष्कर निवासी कसौली जिला मुजफ्फरनगर यू.पी
4. सोहन सिंह उर्फ सोनू पुत्र कुंवरपाल निवासी गाँव हताना थाना छाता मथुरा यूपी
5. प्रशांत उर्फ सोनू पुत्र रामप्रसाद निवासी पलवल
6. प्रदीप उर्फ धोला पुत्र बेड़ा सिंह निवासी गांव बहराणा जिला झज्जर
7. हासिम पुत्र इलियास निवासी गाँव नंगला सिरौली थाना कोसी मथुरा यू.पी
आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग
• एक पल्सर मोटरसाइकिल
• एक गाड़ी टोयोटा कोरोला
• एक गाड़ी मारुति स्विफ्ट
• तीन तमंचे 315 बोर
• 2 तमंचे 12 बोर
• 4 रौंद 12 बोर
• 6 रोंद 315 बोर
• आरोपी विकास दलाल की शर्ट
सभी आरोपी पुलिस रिमांड पर थे जिनसे उपरोक्त असला, व्हीकल इत्यादि बरामद कर आज सभी आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here