अनुच्छेद 370 हटाना भारतवर्ष के लिए एक ऐतिहासिक फैसला

0
20

Faridabad News, 06 Aug 2019 : भारतवर्ष के लिए एक एतिहासिक दिन साबित हुआ है। यह उदगार गढ़वाल सभा के प्रधान एवं अन्य पदाधिकारियों ने एक दूसरे का मुंहमीठा करवाने के उपरांत के। श्री गुंसाई एनएच-2 स्थित गढ़वाल सभा के कार्यालय पर आयोजित कार्यकम को सम्बेाधित करते हुए कहे। श्री गुंसाई ने इस श्रेय को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को भी जाता है जनके प्रयासों ने एक बार फिर भारत को लाभ मिलेगा

श्री गुंसाई ने कहा कि केंद्र ने यह कदम इसलिए उठाया, क्योंकि अनुच्छेद 370 लागू रहने तक राज्य का पुनर्गठन नहीं किया जा सकता था अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा प्राप्त है। संसद से पारित कई कानून इस राज्य में लागू नहीं हो पाते थे ।केंद्र सरकार रक्षा, विदेश और संचार जैसे अहम विषयों को छोडक़र राज्य के बाकी मामलों में दखल नहीं दे सकती थी।

इस अवसर महाचिव सुुरेन्द्र यादव, कोषाध्यक्ष योशेग बुढाकोटि, भारत भूषण बडोला व सचिव विनोद नोटियाल ने संयुक्त रूप से कहा कि अब जम्मू.कश्मीर और लद्दाख अलग.अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे। इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संकल्प पेश किया था। शाह के प्रस्ताव रखने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संविधान आदेश ;जम्मू-कश्मीर के लिए 2019 के तहत अधिसूचना जारी कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here