दशहरा पर रावण का दहन नहीं होना चाहिए : पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली

0
988
Faridabad News, 07 Oct 2018 : ब्राह्यण समाज की एक महत्वपूर्ण बैठक राधा कृष्ण मन्दिर, डबुआ कालोनी, एन आई टी फरीदाबाद मे आयोजित की गई। बैठक में कई ब्राह्मण संगठनों ने हिस्सा लिया, जिसमें दशहरा उत्सव के दिन रावण दहन ना किया जाए विषय पर गंभीरतापूर्वक चर्चा की गई। बैठक को सम्बोधित करते हुए पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली, राष्ट्रीय अध्यक्ष, अखिल भारतीय ब्राह्मण सभा ने कहा कि रावण महाज्ञानी, महान पराक्रमी व चारों वेदो का ज्ञाता था। सनातन धर्म परम्परा के अनुरूप मृत्यु पश्चात किसी भी देह का एक बार ही दाह संस्कार किया जाता है और उसके बाद हर वर्ष श्राद्ध का प्रावधान है। इसलिए हर वर्ष रावण का दहन अनुचित है और इस पर रोक लगनी चाहिए। बैठक में उपस्थित सभी लोगों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये और सभी ब्राह्मण बंधुओं ने एकमत होकर रावण दहन किए जाने पर रोक लगाने बी बात की। ब्राह्मण बंधुओं ने कहा कि आज घर-घर रावण उतपन्न हो रहे हैं, जो छोटी-छोटी बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बना रहे हैं, धन की लालसा में एक-दूसरे की हत्या कर रहे हैं और बिना किसी लाज-शर्म के एक दूसरे के साथ बेईमानी कर रहे हैं। सही मायने में दहन उनका होना चाहिए। इस अवसर पर पं सत्य प्रकाश, पं राकेश, पं श्री निवास, पं कैलाश, पं भगवान दास, पं अवधेश ओझा, पं अवनेश, पं मोहित, पं मनीष, पं पाठक, पं हेम एवं  पं योगेश सहित अन्य उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here