BJP उम्मीदवार पर लगा रेप का आरोप, चुनाव से पहले वायरल हुईं आपत्तिजनक फोटो

0
431

Chandigarh News :  गुरदासपुर के लोकसभा के उप चुनाव से पहले भाजपा उम्मीदवार स्वर्ण सलारिया की आपत्तिजनक फोटो सोशल मीडिया पर जारी हुई है। जिसके बाद स्वर्ण सलारिया की मुश्किलें बढ़ गई हैं। अभी हाल ही में गुरदासपुर के अकाली नेता पर एक ऐसी ही वीडियो जारी हुई थी जिसके बाद वो जेल की हवा खा रहे है।

पंजाब में नेताओं की आए दिन आपत्तिजनक वीडियो व फोटो सोशल मीडिया पर जारी हो रही है | अभी हाल ही में गुरदासपुर के अकाली नेता पर एक महिला पुलिस कर्मी ने बलात्कार का आरोप लगा कर ऐसी ही वीडियो जारी की थी जिस के बाद से नेता जी हवालात की हवा खा रहे है | इस से पहले भी एक अकाली सांसद की विधान सभा चुनाव के नजदीक आपत्तिजनक वीडिओ जारी हुई थी और अब गुरदासपुर के लोकसभा के उप चुनाव से पहले भाजपा उम्मीदवार स्वर्ण सलारिया की फोटो सोशल मिडिया पर जारी हुई है। जिस के बाद स्वर्ण सलारिया की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

1982 से 2014 तक तक रहे संबंध
एक महिला ने गुरुवार को सलारिया पर सालों तक शारीरिक संबंध बनाने के बाद शादी से इंकार करने व रेप का कथित आरोप लगाते हुए इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता की याचिका स्वीकार कर ली है। वहीं पीड़िता महिला ने अंतरंग संबंधों की कुछ तस्वीरें भी सार्वजनिक की हैं जोकि सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं। पीडिता ने आरोप लगते हुए कहा है कि स्वर्ण सलारिया और उसके संबंध 1982 से 2014 तक रहे।

सीबीआई जांच की मांग
इस दौरान शादी का झांसा देकर सलारिया उससे बार-बार शारीरिक संबंध बनाता रहा लेकिन 2014 में सलारिया ने कहा कि वे उससे शादी नहीं करेगा। इसके बाद उसे मुंबई में पेइंग गेस्ट के तौर पर रखा गया और बाद में फ्लैट लेकर दिया गया। पीड़िता ने सलारिया पर रेप का आरोप लगाते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

नामांकन पत्र रद करने की मांग
जब स्वर्ण सलारिया का पक्ष जानने के लिए उनसे संपर्क किया गया तो संपर्क नहीं हो पाया। उधर, रेप व धोखाधड़ी के आरोप का मामला चुनाव आयोग तक भी पहुंच गया है। इसी बीच वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने सलारिया का नामांकन पत्र रद करने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा उम्मीदवार ने अपने नामांकन पत्र में आपराधिक मामलों के चल रहे केस की जानकारी छुपाई है। इस संबंधी शिकायत वह लोक सभा हलका गुरदासपुर के चुनाव अधिकारी और चुनाव कमीशन को करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि महिला ने 15 दिसम्बर 2014 को उस पर धारा 376, 420, 306 और एससी एक्ट के अंतर्गत पर्चा दर्ज करवाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here