मुख्यमंत्री घोषणाएं पूरी करवाकर जनता को सुविधाएं देना सर्वोच्च प्राथमिकता : यशपाल यादव

0
44

Faridabad News, 08 Jan 2020 : उपायुक्त यशपाल यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा आमजन की मांग पर उनकी सुविधाओं के लिए जो घोषणाएं की जाती हैं, उन्हें समय पर पूरा करवाना मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता है। सभी अधिकारी अपने विभाग से संबंधित मुख्यमंत्री घोषणा की पल-पल की प्रगति पर कड़ी नजर रखें और यदि कहीं अड़चन आती है तो मुझसे मिलकर अथवा चंडीगढ़ मुख्यालय से संपर्क कर उसे दूर करवाएं।

उपायुक्त यशपाल यादव बुधवार को कॉन्फ्रेंस कक्ष में सभी विभागों के अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री घोषणाओं की प्रगति की समीक्षा कर रही थीं। उपायुक्त ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा जिला के लिए की गई घोषणाओं में से जो घोषणाएं पेंडिंग दिख रही हैं। उन्होंने एक-एक विभाग की उन घोषणाओं पर अधिकारियों से जवाब मांगा जो अब तक या तो शुरू ही नहीं हुई अथवा अभी तक अपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि सभी कार्यालयाध्यक्षों को अपने विभाग से जुड़ी प्रत्येक मुख्यमंत्री घोषणा की नवीनतम जानकारी होनी चाहिए। मुख्यमंत्री घोषणा के टेंडर खुलने से लेकर उस पर चल रहे कार्य की प्रत्येक जानकारी विभागाध्यक्ष व्यक्तिगत रूप से रखें और परियोजना पर जो कार्य हो रहा है उसे ऑनलाइन अपडेट करवाएं।

बैठक में कुछ अधिकारियों ने बताया कि उनके विभाग से जुड़ी मुख्यमंत्री घोषणा की पेंडेंसी उतनी नहीं है जितनी यह ऑनलाइन दिखाई जा रही है। इस पर उपायुक्त ने उन्हें निर्देश दिए कि वे ऑनलाइन विवरण को निरंतर अपडेट करवाएं और जो योजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं उसे पेंडिंग की श्रेणी से बाहर निकलवाएं। उन्होंने कहा कि जिन योजनाओं की प्रगति में चंडीगढ़ मुख्यालय स्तर पर कोई अड़चन है उनके संंबंध में मुख्यालय बात करें और यदि कहीं आवश्यकता हो तो मुझे बताएं। चंडीगढ़ फोन करके अथवा पत्र लिखकर उस अड़चन को दूर करवाया जाए और विकास परियोजनाओं में तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि अपने विभाग से जुड़ी योजनाओं की फाइल के पीछे ऐसे लग जाओ जैसे आप अपनी छुट्टियाँ या किसी अन्य व्यक्तिगत कार्य की फाइल के पीछे लगते हो।

बैठक सरल केंद्र पर दी जााने वााली सुुुसुविधाओंं को बेेेह तरीके से पूरी करने पर कृृषि एवं किसान कल्याण विभाग, उद्य्यान विभाग,रोजगार तथा कृृषि विपनन बोर्ड के अधिकाारियों को सम््मानित किया और कुछ विभागों के अधिकारी उपस्थित नहीं पाए गए जिस पर कड़ा संज्ञान लेते हुए उपायुक्त ने निर्देश दिए कि ऐसे सभी विभागों के अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा जाए। उन्होंने कहा कि यदि किसी अधिकारी को कोई समस्या है तो बताए लेकिन बिना जानकारी बैठक से अनुपस्थित रहने की कार्यशैली को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त रामकुमार सिंह, एसडीएम बल्लभगढ़ त्रिलोक चंद, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार तथा अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here